Sunday , November 29 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / अकबर-बीरबल की कहानी : कुंए के पानी का मालिक कौन?

अकबर-बीरबल की कहानी : कुंए के पानी का मालिक कौन?

एक बार राजा अकबर की अदालत में शिकायत हुई थी। दो पड़ोसियों ने अपने बगीचे को साझा किया था। उस बगीचे में, इकबाल खान के पास एक कुंवा था जिसमे पानी की अच्छी खपत थी। उनके पड़ोसी, जो किसान थे, सिंचाई के उद्देश्य के लिए कुंवा खरीदना चाहते थे। इसलिए उन्होंने उन दोनों के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर किए, जिसके बाद किसान ने कुंवा खरीद लिया।

किसान को कुंवा बेचने के बाद भी, इक्बाल ने कुंवे से पानी लाने के लिए जारी रखा। इससे नाराज, किसान राजा अकबर से न्याय पाने के लिए आया था। राजा अकबर ने इक्बाल को किसान को कुंवा बेचने के बाद भी पानी लाने का कारण पूछा।

इकबाल ने उत्तर दिया कि उसने केवल किसान को कुवा बेचा था, लेकिन उसका पानी नहीं। बीरबल जो अदालत में मौजूद थे, उन्होंने विवाद को सुलझाने की समस्या को सुनते हुए कहा कहा, “इक्बाल, आप कहते हैं कि आपने केवल किसान को कुंवा ही बेचा है और आप का दावा है कि पानी तुम्हारा है। तो फिर कैसे आप अपने पानी को किसी अन्य व्यक्ति के कुंवे में किराए के बिना रख सकते हैं?”

तो इस तरह इक्बाल की चाल कामयाब नहीं हुई। किसान को न्याय मिला और बीरबल को काफी पुरस्कृत किया गया।

loading...
loading...

Check Also

जब पीने से सेहत होती है खराब, तो सैनिकों को क्यों मिलती है शराब ?

सेना के जवानों का जीवन अत्‍यंत कठिन और अनुशासनपूर्ण होता है। देश की रक्षा के ...