Wednesday , November 25 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / ‘अखंड भारत’ में यकीन रखने वाले फडणवीस बोले- कराची भी एक दिन हिंदुस्ताiन में होगा

‘अखंड भारत’ में यकीन रखने वाले फडणवीस बोले- कराची भी एक दिन हिंदुस्ताiन में होगा

नई दिल्‍ली/मुंबई
महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि उनका ‘अखंड भारत’ में पूरा विश्‍वास है। उन्‍होंने कहा कि ‘हमें लगता है कि एक दिन कराची भी भारत का हिस्‍सा होगा।’ फडणवीस ने यह बात मुंबई की एक घटना को लेकर कही जिसमें एक शिवसेना कार्यकर्ता ने मिठाई की एक दुकान के नाम से ‘कराची’ हटाने को कहा है क्‍योंकि वह पाकिस्‍तानी शहर है। उसने बांद्रा में ‘कराची स्‍वीट्स’ के मालिक से कहा कि वह कोई ऐसा नाम रखे जो भारतीय या मराठी हो।

कार्यकर्ता की हरकत से घिरी शिवसेना ने खुद को अलग कर लिया है। पार्टी के प्रवक्‍ता संजय राउत ने कहा, “कराची स्‍वीट्स और कराची बेकरी मुंबई में 60 साल से हैं। उनका पाकिस्‍तान से कोई लेना-देना नहीं है। अब उनसे नाम बदलने को कहने का कोई मतलब नहीं है… यह शिवसेना का आधिकारिक स्‍टैंड नहीं है।”

RSS और BJP के कई नेता दे चुके हैं ‘अखंड भारत’ पर बयान
राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ और भाजपा के कई नेता पहले भी ‘अखंड भारत’ को लेकर बात करते रहे हैं। अल जजीरा से एक इंटरव्‍यू में राम माधव ने कहा था कि ‘आरएसएस मानता है कि एक दिन भारत, पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश जो महज कुछ दशक पहले अलग हुए हैं, वे फिर से साथ आएंगे और अखंड भारत बनेगा।’ मार्च 2019 में संघ के इंद्रेश कुमार ने दावा किया था कि भारत और पाकिस्‍तान 2025 तक एक हो जाएंगे और भारतीय फिर लाहौर में बसेंगे। पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्‍ण आडवाणी भी यूरोपियन यूनियन की तर्ज पर भारत और पाकिस्‍तान के एक साझा संगठन की वकालत कर चुके हैं। शिवसेना भी ‘अखंड भारत’ पर मुखर रही है। खासतौर से अनुच्‍छेद 370 हटने के बाद पार्टी ने पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर को भारत में मिलाने की वकालत की थी।

लव जिहाद’ पर कानून के पक्ष में फडणवीस
फणनवीस ने शुक्रवार को देश में कथित रूप से ‘लव जिहाद’ के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई थी। उन्‍होंने कहा, “लव जिहाद देश में हो रहा है और यह केरल में भी सामने आया है जहां भाजपा की सरकार नहीं है। यह सरकार की जिम्‍मेदारी है कि जब ऐसे मामले आएं तो वह कानून बनाए।”

loading...
loading...

Check Also

बच्चों के नाम पर जरूर खोलें ₹150 से ये सरकारी खाता, पढ़ाई के लिए 19 लाख रुपए मिलेंगे

बच्चों की पढ़ाई अच्छे से हो और भविष्य में वो एक काबिल इंसान बन सके ...