Sunday , January 24 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / अन्नदाता का आंदोलन : अब मोर्चे पर आईं आत्महत्या करने वाले 14 किसानों की पत्नियां, अनशन किया

अन्नदाता का आंदोलन : अब मोर्चे पर आईं आत्महत्या करने वाले 14 किसानों की पत्नियां, अनशन किया

केंद्र सरकार के साथ एक और वार्ता विफल होने के बाद एनएच-48 के शाहजहांपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन में सक्रियता बढ़ रही है। शनिवार को सामाजिक कार्यकर्ता मेघा पाटकर महाराष्ट्र में आत्महत्या करने 14 किसानों की पत्नियों के साथ पड़ाव में पहुंची। इन महिलाओं ने किसान बिल के विरोध में अनशन किया।

इनमें अनुराधा प्रहलाद देसाई, ज्योति गजानन कोरडे, तुकाराम गल्ढाणे पदमीन, सविता परमेश्वर जाधव, ज्योति रामेश्वर शिंदे, निता राजेभाऊ निर्मल, गिरजा ज्ञानेश्वर अंडागले, विजया प्रकाश चव्हाण, मीरा प्रकाश गायकवाड, निर्मला शिवाजी गिराम, शारदा अशोक अवचार, सुवर्णा भगवान सादाम, लक्ष्मी श्रीनिवास नखाते व जयश्री यशवंता वारे शामिल रहीं।

इस दौरान पड़ाव स्थल पर हुई सभा में किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्ता में चूर एक तानाशाह बताया। मेघा पाटकर ने मोदी सरकार को देश को तोड़ने वाली बताया। पूर्व विधायक अमराराम चौधरी ने कृषि बिलों को किसानों के लिए आत्महत्या का फंदा करार दिया।

जाट महासभा के प्रदेशाध्यक्ष राजाराम मील ने कहा इन कानूनों से कृषि प्रधान में किसान खत्म हो जाएगा। सभा को किसान यूनियन प्रदेशाध्यक्ष बलबीर छिल्लर, कांग्रेस प्रदेश सचिव ललित यादव, यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष दीनबंधु शर्मा, पूर्व विधायक पवन दुग्गल, घडसाना प्रधान रीना दुग्गल ने भी सं‍बोधित किया।

पड़ाव में संयुक्त मोर्चा नेताओं ने केंद्र सरकार से मिले 15 तारीख की बातचीत के न्यौते पर सहयोगी संगठनों से चर्चा की। इस दौरान राधेश्याम शुक्लावास, राष्ट्रीय किसान महासंघ के बनवारी लाल कूडी, युवा महापंचायत के महासचिव एडवोकेट पिन्टू यादव, महेंद्र यादव सहित विभिन्न किसान संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।
सम्भागीय आयुक्त के आदेशों की पालना
इधर, संभागीय आयुक्त के दौरे के बाद शनिवार को पड़ाव स्थल पर हालात सुधरे नजर आए। नीमराणा एसडीएम योगेश देवल, नप भिवाडी आयुक्त मुकेश शर्मा सहित नप अलवर के कमिश्नर सोहन सिंह नरुका मौके पर कैम्प किए हुए थे। कल तक मौके पर 9 शौचालय थे। शनिवार को 20 शौचालय लगा दिए गए।

एसडीएम योगेश देवल ने बताया की गड्ढों मे ग्रेवल करा दिया है। जेसीबी की सहायता से सडक पर जमा कीचड़ हटाया जा रहा है। जमा बारिश का पानी निकलवाया गया। दमकल वाहनों ने जलापूर्ति की। किसानों की सुरक्षा के लिए राजस्थान पुलिस के आला अधिकारी व आर‌ए‌सी के जवान तैनात हैं।

भिवाडी एसपी राममूर्ति जोशी भी आंदोलन स्थल पहुंचे। उन्होंने किसानों से बात करते हुए कुशलक्षेम पूछी। इस दौरान ए‌एसपी नीमराणा राजेन्द्र शीशौदिया, डीएसपी महावीर सिंह शेखावत, थाना प्रभारी सुनील जांगिड़ आदि उपस्थित रहे।

आर‌एलपी ने किया बिल निरस्त होने तक अनशन का ऐलान

आर‌एलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल देर शाम आंदोलन स्थल पहुंचे एवं कार्यकर्ताओं को सं‍बोधित करते हुए पार्टीवाद, जातिवाद, क्षेत्रवाद से दूर रहकर मात्र किसानवाद के नारे से जुड़े रहने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि बिल वापसी तक रालोपा कार्यकर्ताओं का अनशन जारी रहेगा। सभा को विधायक पुखराज गर्ग, पूर्व संसदीय सचिव रामस्वरूप कसाणा, महिला मोर्चा अध्यक्ष स्पर्धा चौधरी, विधायक नारायण बेनिवाल, प्रदीप चौधरी, योगेश चौधरी, सुधीर चौधरी ने भी सं‍बोधित किया।

loading...
loading...

Check Also

अमानवीय रिवाज : बिहार में जब जुल्म के दरवाज़े पर पहुंचती थी ‘डोली’ !

‘मेहंदी लगाके रखना, डोली सजाके रखना’, एक समय इस गाने ने पूरे देश को दीवाना ...