Saturday , January 23 2021
Breaking News
Home / ख़बर / अब ईडी के लपेटे में रिया चक्रवर्ती ! दर्ज हुआ केस, जल्द हो सकती है पूछताछ

अब ईडी के लपेटे में रिया चक्रवर्ती ! दर्ज हुआ केस, जल्द हो सकती है पूछताछ

सुशांत राजपूत सुसाइड केस में कथित प्रेमिका रिया चक्रवर्ती की मुश्किलें बढती जा रही है, प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को एक्ट्रेस और उनके परिवार के खिलाफ बिहार पुलिस की प्राथमिकी के आधार पर धनशोधन का एक मामला दर्ज किया है, अधिकारियों ने बताया कि ईडी ने अपनी शिकायत में धनशोधन रोकथाम कानून के तहत आपराधिक आरोप लगाने के लिये एक्ट्रेस और कुछ अन्य के खिलाफ बिहार पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी पर संज्ञान लिया है।

पूछताछ के लिये बुलाया जा सकता है
अधिकारियों ने बताया कि बिहार पुलिस की प्राथमिकी में दर्ज आरोपियों के खिलाफ प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट दर्ज की गई है, आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि रिया और कुछ अन्य लोगों को मामले में जल्द ही पूछताछ के लिये बुलाया जा सकता है, माना जा रहा है कि ईडी ने प्राथमिकी का अध्ययन करने और सुशांत की इनकम, बैंक डिटेल्स और कंपनियों के बारे में स्वतंत्र जानकारी जुटाने के बाद मामले को अपने हाथ में लिया है, ईडी राजपूत के पैसों तथा बैंक खातों की कथित हेराफेरी के आरोपों की जांच करेगी, अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी इस बात की जांच करेगी, कि क्या किसी ने सुशांत के पैसे का उपयोग अवैध संपत्ति बनाने के लिये किया है।

आत्महत्या के लिये उकसाने का आरोप
बिहार पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी में सुशांत के पिता केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ बेटे को आत्महत्या के लिये उकसाने का आरोप लगाया है, 28 वर्षीय रिया ने एफआईआर पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा था सत्यमेव जयते, उन्होने अपनी वकीलों के माध्यम से जारी वीडियो में अपनी बात रखी है, उन्होने कहा कि भगवान और कानून पर पूरा भरोसा है।1

अंकिता ने दर्ज कराया बयान
रिया और उनके परिजनों के खिलाफ पटना में एफआईआर दर्ज होने के बाद जांच के लिये मुंबई पहुंची पुलिस टीम को सुशांत की पूर्व प्रेमिका अंकिता लोखंडे ने अपना बयान दर्ज कराया है, उन्होने कहा कि सुशांत डिप्रेशन में नहीं थे, मुंबई पुलिस पहले से ही सुशांत के मौत की जांच कर रही है, सुशांत 14 जून को बांद्रा स्थित फ्लैट में फांसी के फंदे से झूलकर अपनी जान दे दी थी।

loading...
loading...

Check Also

अमानवीय रिवाज : बिहार में जब जुल्म के दरवाज़े पर पहुंचती थी ‘डोली’ !

‘मेहंदी लगाके रखना, डोली सजाके रखना’, एक समय इस गाने ने पूरे देश को दीवाना ...