Sunday , December 6 2020
Breaking News
Home / खेल / आईसीसी ने बदले नियम, टीम इंडिया को लगा बड़ा झटका, फाइनल खेलने की उम्मीदों पर खतरा

आईसीसी ने बदले नियम, टीम इंडिया को लगा बड़ा झटका, फाइनल खेलने की उम्मीदों पर खतरा

पिछले साल शुरु हुई वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल अगले साल जून में खेला जाना है। कोरोना वायरस के कारण कई देशों की टेस्ट चैंपियनशिप सीरीज का कार्यक्रम प्रभावित हुआ है और इसी कारण फाइनल में जाने वाली टीमों के निर्धारण के लिए नया नियम आया है। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने घोषणा की है कि टीमों द्वारा हासिल किए गए अंकों के प्रतिशत के आधार पर दोनों फाइनलिस्ट का नाम तय होगा।

ICC क्रिकेट कमेटी ने दिया था सुझाव
ICC ने अनिल कुंबले की अगुवाई वाली ICC क्रिकेट कमेटी द्वारा दिए गए सुझाव को अपनी स्वीकृति दे दी है। कमेटी ने अंक प्रतिशत का सुझाव इस कारण दिया था क्योंकि कई सीरीज पर कोरोना का प्रभाव पड़ा है। अब तक टेस्ट चैंपियनशिप के 50 प्रतिशत से कम मैच ही खेले जा सके हैं और ICC मार्च 2021 के विंडो में 85 प्रतिशत मैच कराने की ही उम्मीद में है।

कुछ इस तरह है नया अंक प्रतिशत नियम
टेस्ट चैंपियनशिप की एक सीरीज में कुल 120 अंक होते हैं। सीरीज में मैचों की सख्या के आधार पर अंक मिलते हैं, जैसे पांच मैचों की सीरीज में एक जीत पर 24 अंक और ड्रॉ पर आठ अंक मिलते हैं। नए नियम के हिसाब से टीम ने जितनी सीरीज खेली हैं और उसमें जितने अंक लिए हैं, उसी से उनका अंक प्रतिशत निकलेगा। भारत ने चार सीरीज (480 अंक) में 360 अंक हासिल किए तो उनका अंक प्रतिशत 75 हुआ।

नहीं खेले जा सके मैचों को समझा जाएगा ड्रॉ
टेस्ट चैंपियनशिप के वर्तमान नियमों के हिसाब से जो मैच नहीं खेले जा सके हैं उन्हें ड्रॉ माना जाएगा। ऐसे मैचों में दोनों टीमों में बराबर अंक बांट दिए जाएंगे।

नया नियम आते ही भारत ने गंवाया पहला स्थान
चार सीरीज खेलकर 360 अंक हासिल करने वाली भारतीय क्रिकेट टीम ने नया नियम आते ही अपना पहला स्थान गंवा दिया है। दरअसल, भारत ने 480 में से 360 अंक हासिल किए हैं और उनका अंक प्रतिशत 75 है। दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया ने 360 में से 296 अंक हासिल किए हैं और उनका अंक प्रतिशत 82.22 है। नए नियम के आते ही ऑस्ट्रेलियाई टीम पहले स्थान पर पहुंच गई है।

अंक प्रतिशत बन सकती है भारत के लिए समस्या
भारत को ऑस्ट्रेलिया में और फिर अपने घर में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलनी है। फिलहाल भारत ही ऐसा देश है जिसे अपने सभी छह सीरीज खेलने का मौका मिलेगा। टेस्ट चैंपियनशिप में भारत पूरे 720 अंकों के लिए खेलेगा और ऐसे में उनके लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं। न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया 600 अंकों के लिए खेलेंगे तो ऐसे में उनका अंक प्रतिशत ज्यादा रहने की उम्मीद है।

न्यूजीलैंड और भारत में होगी कड़ी टक्कर
फिलहाल 180 अंकों के साथ 50 प्रतिशत अंक हासिल कर चुकी न्यूजीलैंड के पास फाइनल में जाने का अच्छा मौका है। यदि वे अपने घर में वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के खिलाफ खेलकर पूरे 240 अंक हासिल कर लें तो उनका अंक प्रतिशत 70 हो जाएगा। भारत को ऑस्ट्रेलिया में जीत हासिल करनी होगी और साथ ही अपने घर में इंग्लैंड को भी ज्यादा मैच हराने होंगे वरना न्यूजीलैंड उनसे आगे निकल जाएगी।

loading...
loading...

Check Also

जडेजा के ‘सब्सिट्यूशन’ पर बोले संजय मांजरेकर- अहम प्रोटोकॉल का हुआ उल्लंघन!

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने शुक्रवार को कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ...