Sunday , September 20 2020
Breaking News
Home / क्राइम / आगरा में डॉक्टर का मर्डर, शहर से दूर मिली लाश, पुलिस बोली- मामला दीवानगी का

आगरा में डॉक्टर का मर्डर, शहर से दूर मिली लाश, पुलिस बोली- मामला दीवानगी का

आगरा
उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ हो रहे अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। एक दिन पहले भदोही में एक युवती की हत्या कर उसकी लाश को तेजाब से जला दिया गया और अब आगरा में एक महिला डॉक्टर की हत्या की गई है। महिला जूनियर डॉक्टर आगरा के एस एन मेडिकल कॉलेज से एमडी कर रही थी। महिला डॉक्टर की हत्या किसी भारी चीज से कूचकर की गई है। पुलिस को एक सीनियर डॉक्टर पर शक है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

डॉ. योगिता गौतम अचानक लापता हो गई थी। उनके भाई डॉ. मोहिंदर कुमार गौतम ने योगिता के अपहरण का केस एमएस गेट थाने में दर्ज कराया था। उन्होंने जालौन में तैनात मेडिकल ऑफिसर डॉ. विवेक तिवारी पर शक जताया था। बाद में एक युवती की कुचली हुई लाश पुलिस को बमरौली कटारा डौकी के पास पड़ी मिली थी। लोअर-टीशर्ट पहनी युवती के शव के पास ही स्पोर्ट्स शू पड़े थे। जांच में युवती के पास पुलिस को पहचान पत्र मिला था। जिससे उसकी पहचान डॉक्टर योगिता के तौर पर हुई थी।

पढ़ाई के दौरान योगिता की विवेक से हुई थी मुलाकात
डॉ. योगिता नूरी गेट में गोकुलचंद पेठे वालों के मकान में रहती थी। वह एसएन मेडिकल कॉलेज में पढ़ रही थी। यहीं पर डॉ. योगिता की पहचान एक साल सीनियर डॉक्टर विवेक तिवारी से हुई थी। विवेक तिवारी कानपुर का रहने वाला है। उसकी पढ़ाई पूरी हो गई थी और वह जालौन के उरई में मेडिकल अफसर के पद पर तैनात है।

डॉ. विवेक तिवारी पर आरोप
डॉ. मोहिंदर का आरोप है कि डॉ. विवेक योगिता को परेशान करता था। उसने योगिता की डिग्री निरस्त कराने की धमकी दी थी। उन्होंने आरोप लगाया कि योगिता डॉ. विवेक से बहुत डरी हुई थी। वह फोन करके रो रही थी तो वह उसके पास जाने के लिए निकले। जब वह उसके किराए के घर पहुंचे तो वह वहां नहीं थी। उसके बाद उन्होंने थाने में डॉ. विवेक के खिलाफ अपहरण की तहरीर दी।

सीसीटीवी में कैद हुई वारदात
पुलिस ने जब डॉ. योगिता के घर के पास सीसीटीवी फुटेज चेक किए तो उसमें एक कार में योगिता को खींचे जाने की वारदात कैद हुई है। फुटेज में दिख रहा है कि योगिता अपने घर के बाहर निकली है और बाहर खड़ी एक कार के अंदर उसे खींच लिया गया।

भदोही में किशोरी की रेप के बाद हत्या, तेजाब से जलाया शव
इससे पहले भदोही में 17 साल की किशोरी का कथित रूप से अपहरण कर उसके साथ बलात्कार किया गया और फिर हत्या कर उसकी पहचान छिपाने के मकसद से शव को तेजाब से जला दिया गया। बताया जा रहा है कि सोमवार को किशोरी पशु चराने गई थी, जहां से वह लापता हो गई। बताया जा रहा है कि शरीर बुरी तरह झुलस गया था। घरवालों ने किशोरी के जींस से उसकी पहचान की। शव मिलने के बाद स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए और उन्होंने भदोही-जौनपुर मार्ग पर शव रखकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।

Check Also

भारत के डील किए Al-Qaeda और ISIS, इस बार बांग्लादेश बना टेरर-पैसेज, पीछे है हमारा सबसे बड़ा दुश्मन

नई दिल्ली। विश्व मानचित्र में पहले से ज्यादा मजबूती के साथ उभरने के बावजूद भारत पर ...