Thursday , November 26 2020
Breaking News
Home / ख़बर / बड़ी खबर : कोरोना ने मचाया ऐसा कत्लेआम, आज रात से यहां कर्फ्यू का हुआ ऐलान

बड़ी खबर : कोरोना ने मचाया ऐसा कत्लेआम, आज रात से यहां कर्फ्यू का हुआ ऐलान

अहमदाबाद. अहमदाबाद. गुजरात में दीपावली के बाद कोरोना के मरीज एकाएक बढऩे लगे हैं। गुरुवार को पूरे हुए 24 घंटों में ही नए संक्रमित मरीजों की संख्या 1340 पर पहुंच गई और सात मरीजों की मौत भी हो गई। अहमदाबाद शहर में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Latest News in India) के प्रसार को रोकने के लिए शुक्रवार रात से सोमवार सुबह तक कम्प्लीट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है। एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शुक्रवार 20 नवंबर से रात 9 बजे से सुबह 6 तक कर्फ्यू लगाया जाएगा और अगले आदेश तक इसे जारी रखा जाएगा। अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव कुमार गुप्ता ने यह घोषणा की। उन्हें गुजरात सरकार ने विशेष कार्याधिकारी नियुक्त किया है और उनका काम अहमदाबाद नगर पालिका के कोरोना वायरस संक्रमण संबंधी कामकाज की निगरानी करना है। इसके बाद मंगलवार से रोजाना रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा।

अडिशनल चीफ सेक्रटरी डॉ. राजीव कुमार गुप्ता ने कहा, ‘कोरोना की स्थिति का देर रात निगरानी की गई और यह तय किया गया है कि अहमदाबाद में शुक्रवार रात 9 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक कम्प्लीट कर्फ्यू लगाया जाएगा। इस दौरान सिर्फ दूध और दवा की दुकानों को खोलने की इजाजत दी जाएगी।’

गुजरात में अभी नहीं खुलेंगे स्कूल
राजीव कुमार गुप्ता ने कहा कि यहां कुछ दिनों में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं, जिसके कारण निजी अस्पतालों में कोरोना वायरस संक्रमण के मरीजों के बेड तेजी से भर रहे हैं और शहर में अस्पतालों में केवल 400 बेड ही खाली बचे हैं। उन्होंने बताया कि शहर में सरकारी अस्पतालों में करीब 2,600 बेड खाली हैं। राज्य सरकार ने कोरोना महामारी के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए स्पष्ट किया है कि गुजरात में स्कूल, कॉलेजों को 23 नवंबर से फिर से नहीं खोला जाएगा।

केंद्र सरकार ने भेज दी हैं टीमें
हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और मणिपुर के कुछ जिलों में कोविड-19 के अधिक मामले सामने आने के बाद केंद्र सरकार ने उच्चस्तरीय टीमें रवाना की हैं। ये टीमें संक्रमण के मामलों की रोकथाम, निगरानी, जांच और कुशल नैदानिक प्रबंधन को मजबूत करने की दिशा में राज्यों के प्रयासों को गति प्रदान करेंगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि दिल्ली में प्रतिदिन सामने आने वाले नए कोविड-19 मामलों और मौतों की संख्या में वृद्धि का प्रभाव हरियाणा और राजस्थान में आने वाले एनसीआर क्षेत्रों में देखा जा रहा है, जहां कोविड-19 संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है।

कहां-कौन कर रहा है नेतृत्व?
नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया हरियाणा के लिए तीन सदस्यीय टीम का नेतृत्व कर रहे हैं जबकि डॉ. वी के पॉल, सदस्य (स्वास्थ्य), नीति आयोग राजस्थान के लिए टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि डॉ. एस के सिंह, निदेशक (एनसीडीसी) गुजरात के लिए टीम का नेतृत्व कर रहे हैं जबकि डॉ. एल. स्वास्तिचरण, अतिरिक्त डीडीजी, डीएचजीएस मणिपुर की टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। टीमें उन जिलों का दौरा करेंगी जहां कोविड-19 के अधिक मामले सामने आ रहे हैं और संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण उपायों, निगरानी, जांच और संक्रमित मामलों के कुशल नैदानिक प्रबंधन के राज्यों के प्रयासों को मजबूत करने की दिशा में सहयोग करेंगी।

loading...
loading...

Check Also

1 दिसंबर से करोड़ों किसानों के खातों में आएंगे हजारों रुपए, लिस्ट में अपना नाम ऐसे चेक करें!

मोदी सरकार पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के तहत देश के अन्नदाताओं के खातों ...