Friday , October 23 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / आज से अनलॉक 5.0 : 15 अक्टूबर के बाद स्कूल खोल सकेंगे राज्य, लेकिन लेनी होगी ‘उनसे’ इजाजत

आज से अनलॉक 5.0 : 15 अक्टूबर के बाद स्कूल खोल सकेंगे राज्य, लेकिन लेनी होगी ‘उनसे’ इजाजत

नई दिल्ली
केंद्र सरकार ने बुधवार को अनलॉक 5.0 की गाइडलाइन्स (school reopen guidelines in hindi) जारी कर दी। इसके तहत, स्कूलों, कोचिंग इंस्टीट्यूट खोलने का फैसला केंद्र ने राज्यों के ऊपर छोड़ दिया है। राज्य 15 अक्टूबर के बाद स्कूलों और कोचिंग इंस्टीट्यूट को खोलना है या नहीं, वे खुद से निर्णय कर सकेंगे। हालांकि, इसके लिए उन्हें बच्चों के माता-पिता की मंजूरी की आवश्यकता होगी।

अनलॉक-5 में स्कूल-कॉलेज के लिए गाइडलाइन
स्कूल, कॉलेज, शिक्षा संस्थान और कोचिंग संस्थान को चरणबद्ध तरीके से खोलने के लिए राज्य/केन्द्र शासित प्रदेश की सरकारों को निर्णय लेने की छूट दी गई है और वे स्थितियों को देखते हुए 15 अक्टूबर 2020 के बाद इन्‍हें फिर से खोलने के लिए निर्णय ले सकेंगे।

हालांकि इसके लिए राज्य सरकारें स्कूलों/संस्थान प्रबंधनों के साथ परामर्श करेंगी और दी गईं शर्तों का पालन करेंगी।

ऑनलाइन एजुकेशन/डिस्टेंस लर्निंग जारी रहेगा और इसे लगातार प्रोत्साहित किया जाएगा।
जो स्कूल ऑनलाइन क्‍लासेस चला रहे हैं और उनके कुछ छात्र शारीरिक रूप से स्‍कूल में उपस्थित होने के बजाय ऑनलाइन ही पढ़ना चाहते हैं तो उन्‍हें ऐसा करने की अनुमति दी जाएगी।

छात्रों की स्‍कूलों में उपस्थिति अभिभावकों की लिखित सहमति से ही लागू होगी। इनके लिए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी की जाने वाली SOP के आधार पर स्‍थानीय जरूरतों को ध्‍यान में रखते हुए राज्‍य/केन्‍द्र शासित प्रदेश अपनी-अपनी SOP तैयार करेंगे।
वहीं उच्‍च शिक्षा विभाग और शिक्षा मंत्रालय कॉलेज/उच्‍च शिक्षा संस्‍थान खोलने के लिए गृह मंत्रालय की सलाह से निर्णय ले सकते हैं। यहां भी ऑनलाइन क्‍लास और डिस्‍टेंस लर्निंग को जारी भी रखा जाएगा और प्रोत्‍साहित भी किया जाएगा।

इन सभी संस्‍थानों को फिर से खोलने के लिए संबंधित राज्‍य/केन्‍द्र शासित प्रदेश की सरकार के निर्णय अनिवार्य तौर पर मानने होंगे।

आंध्र प्रदेश में 2 नवंबर से खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी
केंद्र की गाइडलाइन जारी हुई है इधर आंध्र प्रदेश सरकार ने पहले ही कोरोना के कहर के चलते स्कूलों को 2 नवंबर को खोलने का ऐलान कर चुका है। आंध्र प्रदेश के शिक्षामंत्री आदिमलपु सुरेश ने मंगलवार को बताया कि अब 5 अक्टूबर की जगह 2 नवंबर से स्कूल खोलने का फैसला लिया गया है। आंध्र प्रदेश पहला राज्य था जिसने सबसे पहले 5 सितंबर को स्कूल खोलने का फैसला किया था, लेकिन कोरोना की रफ्तार को देखते हुए उसे अपने फैसले से पीछे हटना पड़ा था।

पैरंट्स में भी है कोरोना का डर
पैरंट्स का कहना है कि स्कूल उन्हें भरोसा दे रहे हैं कि छात्रों की सुरक्षा के लिए हर तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। भोपाल में एक छात्र के पिता उमेश मालवीय ने कहा, ‘यह सच है कि स्कूलों में छात्रों के लिए अच्छी तैयारी की गई है। लेकिन कोरोना वायरस का डर अभी भी है। कोविड-19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और यह हमें डरा रहा है।’ एक छात्रा की मां मीता शर्मा ने कहा, ‘मैं किसी भी हालत में अपनी बच्ची को स्कूल नहीं भेजूंगी।’

loading...
loading...

Check Also

इस बड़े शहर में आलूबंडा-चूना हुआ बैन, जानिए आखिर क्या है माजरा ?

क्या आपने कभी सुना है, कि शहर की शांति के लिए आलूबंडा और चूना को ...