Sunday , November 29 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / बच्चों का आधार कार्ड बनवाने के लिए चाहिए ये डॉक्यूमेंट्स, जानें पूरा प्रोसेस

बच्चों का आधार कार्ड बनवाने के लिए चाहिए ये डॉक्यूमेंट्स, जानें पूरा प्रोसेस

बैंक अकाउंट (Bank Account) खुलवाना हो या ड्राइविंग लाइसेंस या फिर पासपोर्ट बनावाना हो, आधार कार्ड जरूरी होता है. आधार कार्ड एक पुख्ता पहचान पत्र के रूप में इस्तेमाल हो रहा है. भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने (UIDAI) बड़ों के साथ बच्चों का आधार कार्ड बनवाने की भी सुविधा दी हुई है.

UIDAI ने नवजात शि​शु का भी आधार कार्ड बनवाने की सुविधा दी हुई है. बच्चों का आधार कार्ड नीले रंग का होता है. नीले रंग के आधार कार्ड को बाल आधार कार्ड (Baal Aadhaar Card) भी कहते हैं.

Baal Aadhaar Card बनवाने के लिए बच्चे की माता या पिता के आधार कार्ड का नंबर लिंक होता है. इसमें माता-पिता का मोबाइल नंबर भी रजिस्टर्ड होता है.

बच्चे का आधार कार्ड बनाने के लिए डॉक्यूमेंट (Bacchon ka aadhar card)
बच्चों का आधार कार्ड (aadhaar child card) बनवाने के लिए बच्चे के जन्म का प्रमाणपत्र, माता या पिता का आधार कार्ड और माता या पिता का मोबाइल नंबर जरूरी होता है.

5 साल से छोटे उम्र के बच्चों का बायोमेट्रिक जानकारी नहीं ली जाती है. लेकिन, जब बच्चे की उम्र 5 साल से अधिक हो जाती है तो बायोमेट्रिक रिकॉर्ड अपडेट कराना होता है.

5 साल से अधिक उम्र के बच्चे के लिए (aadhaar child card)
बच्चा अगर 5 साल से ज्यादा की उम्र का है और आप उसका आधार कार्ड बनवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बच्चे का डेट ऑफ बर्थ का प्रूफ, माता-पिता से संबंध का प्रूफ, माता या पिता का आधार कार्ड जैसे डॉक्यूमेंट जमा कराने होंगे.

5 साल से अधिक उम्र के बच्चों का आवेदन के दौरान बायोमेट्रिक रिकॉर्ड सबमिट किया जाता है, लेकिन 15 साल बाद इसे फिर से एक बार ​अपडेट कराना होगा.

आधार कार्ड के लिए कैसे करें अप्लाई (Aadhaar card appointment online)
– आधार रजिस्ट्रेशन के लिए पोस्ट ऑफिस, बैंक या आधार सेवा केंद्र पर अप्लाई किया जा सकता है.
– आधार एनरोलमेंट सेंटर या आधार सेवा केंद्र पर जाकर आपको एक एनरोलमेंट फॉर्म भरना होगा.
– अगर बच्चे का वैलिड प्रूफ नहीं है तो माता-पिता का आधार नंबर भरना होगा.
– सभी जरूरी डॉक्युमेंट्स के साथ आपको ये फॉर्म भी सबमिट करना होगा
– फॉर्म को जमा करने के बाद बच्चे का बायोमेट्रिक रिकॉर्ड लिया जाएगा.
– बायोमेट्रिक रिकॉर्ड  में हाथ की 10 अंगुलियों के निशान, आंखों को स्कैन किया जाता है.
– आधार एनरोलमेंट के 90 दिनों के अंदर आधार कार्ड को घर पर पोस्ट कर दिया जाता है.

loading...
loading...

Check Also

भारत ने एक महीने में ही नेपाल को चीन की गिरफ्त से निकाला, अब वो मोदी के हिसाब से ही चलेगा

तारीख- 4 सितंबर, 2020- नई दिल्ली में भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल नेपाल ...