Saturday , September 19 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / इंडिया घूमने आई अमेरिकी लड़की, पैसे खत्म होने पर 12वीं पास की बन गई बीवी, फिर बहुत बड़ी बात बोली

इंडिया घूमने आई अमेरिकी लड़की, पैसे खत्म होने पर 12वीं पास की बन गई बीवी, फिर बहुत बड़ी बात बोली

जिंदगी में प्यार के फूल खिले हों और रिश्तों में मिठास तथा विश्वास हो तो हर पल खुदबखुद खूबसूरत हो जाता है. वे लोग खुशनसीब होते हैं, जिन्हें सच्चा प्यार मिलता है|कई बार फिल्मों में हमें ऐसी लव स्टोरीज देखने को मिलती हैं, जिनमें प्यार करने वाले सारी हदें पार कर जाते हैं। वो अपने प्यार के खातिर घर, समाज, दुनिया सबसे लड़ जाते हैं। सात समुन्दर पार करके अपने लवर से मिलने आ जाते हैं। दौलत छोड़कर गरीबी में जीने लग जाते हैं। ऐसी लव स्टोरीज देखकर साधारण इंसान यही कहता है कि “अरे! ऐसा असल ज़िंदगी में थोड़ी होता है। ये सिर्फ फिल्मों में ही हो सकता है।”

लेकिन आज हम आपको ऐसी लव स्टोरी के बारे में बताने जा रहे हैं जो किसी फिल्म की स्टोरी से कम नहीं हैं। ये स्टोरी हैं देसी लड़के और विदेशी लड़की के प्यार की, जिनमें विदेशी लड़कियों ने अपना देश छोड़कर भारत को ही अपना देश बनाया। वो आज खुशी-खुशी यहाँ रह रही हैं| जी हां। पूरी बात जानने के लिए पढ़िए यह स्टोरी।अमेरिका के वाशिंगटन की रहने वाली कैनेडी मैरी वर्ष 2015 में भारत घूमने आई थी और इसी दौरान  मैरी ने देवभूमि हिमाचल प्रदेश घूमने का भी  फैसला किया और  वो  हिमाचल प्रदेश में डलहौजी नामक स्थान पर आई  लेकिन मैरी को डलहौजी टूरिस्ट प्लेस की कोई भी जानकारी नहीं थी जिस कारण मैरी को हिमाचल में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा |

मैरी को ना ही तो ठहरने के लिए कोई होटल मिला और ना ही कोई गाइड | ऐसे में जब मैरी निराश होकर सड़क के किनारे बैठ गयी |तभी वहां से साइकिल पर एक लड़का आया उसका नाम पृथ्वी सिंह था और वह मात्र 12वी पास था | एजुकेशन कम होने के कारण पृथ्वी की इंग्लिश भी कोई खास नहीं थी |जब उसने मैरी से उसकी परेशानी का कारण पूछा तो मैरी ने पूरी सच्चाई बताई | इसके बाद पृथ्वी ने मैरी को एक होटल में रहने के लिए रूम का इंतजाम किया और उसे डलहौजी में घुमाया | इस बीच उन के प्यार का रंग और भी गहरा हो चुका था. मैरी ने अपना प्यार दर्शाने के लिए अपनी गरदन के नीचे पृथ्वी के नाम का टैटू भी बनवा लिया था. पृथ्वी के घर वाले भी इस शादी के लिए तैयार थे. अपने बीच की दूरियां दोनों को अब दुश्मन लगने लगी थीं|

हालाँकि उन्हें एक दूसरे की भाषा समझने में काफी परेशानी हो रही थी, लेकिन कहते की प्यार की कोई भाषा, उम्र और नाम नहीं होता है | इसके बाद कैनेडी मैरी ने पृथ्वी सिंह को प्रोपोज़ कर दिया | उनके इस प्यार को पृथ्वी ने स्वीकार किया |2 जनवरी, 2017 को आखिर दोनों ने सलूणी के मजिस्ट्रैट अजय पाराशर के यहां विवाह अधिनियम के तहत कोर्टमैरिज कर ली.पृथ्वी सिंह का कहना है की कैनेडी काफी प्यारी लड़की है और वे काफी समझदार भी है | मैं उन्हें जीवन साथी के रूप में पाकर बेहद खुश हूँ |

कैनेडी ने भी पृथ्वी सिंह के लिए कहा की पृथ्वी एक अच्छे लड़के है | मैंने उसे पूरी तरह परखने के बाद ही शादी का फैसला किया है | इसके अतिरिक्त इंडियन लड़के काफी ईमानदार और अच्छे लाइफ पार्टनर भी होते है | यदि उन्हें अच्छा जीवन साथी मिले तो वे पूरी जिंदगी उसके साथ खुश रह सकते है जबकि अमेरिकन बॉय ज्यादा ईमानदार नहीं होते है | उनकी सिर्फ एक ही थ्योरी होती है की आज किसी और के साथ और काल किसी और के साथ | इसके साथ ही वह अधिक मेहनती भी नहीं होते है | मैं पृथ्वी को अपने जीव्वन साथी के रुप में पाकर बहुत ही कुछ हूँ |

सच्चा प्यार मिलने से ही कैनेडी मैरी का भी हर पल अब खुशियों भरा था. मैरी की गुलाबी आंखों, गुलाब की पंखुडि़यों की मानिंद नाजुक होंठों और आकर्षक गुलाबी चेहरे पर गजब की चमक थी. क्योंकि उसे सारे जहां की खुशियां जो मिल गई थीं.

Check Also

शादी से पहले ऐसी मांग किया दूल्हा, भरी महफिल में दुल्हन हो गई शर्मिंदा

शादी हर लड़की का सपना होता है, हर लड़की उस सपने के साथ अपनी जिंदगी ...