Monday , March 1 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / इंदौर नगर निगम की शर्मनाक करतूत, बेसहारा बुजुर्गों को कचरा गाड़ी में भरकर हाइवे पर छोड़ा

इंदौर नगर निगम की शर्मनाक करतूत, बेसहारा बुजुर्गों को कचरा गाड़ी में भरकर हाइवे पर छोड़ा

शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश को सफाई के मामले में नम्बर एक बनाना चाहते हैं। लेकिन उनके अफसर अधिकारियों ने मानवता को ही तार-तार कर दिया। शुक्रवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो घूम रहा था। जिसमें नगर निगम कर्मियों द्वारा कमजोर बुजुर्गों को कचरा गाड़ी में भरकर इंदौर-देवास हाईवे पर छोड़ रहे थे। यह वीडियो वायरल होने से हड़कंप मच गया।

वीडियो में नगर निगम के कुछ कर्मचारी एक बुजुर्ग कमजोर महिला सहित दो-एक पुरुष बुजुर्ग को गाड़ी से उतारते और फिर बिठाते हुए दिख रहे हैं। गाड़ी में कुछ और बुजुर्ग व उनका सामान नजर आ रहा है। वीडियो शिप्रा के आसपास का बताया जा रहा है। बुजुर्गों को चढ़ाने उतारने के दौरान कुछ ग्रामीणों ने देख लिया जिसके बाद निगम कर्मियों की उनसे तू-तू मैं-मैं भी हुई।

इंदौर में बुजुर्गों के साथ हुए दुर्व्यवहार पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने जिला प्रशासन को दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद नगर निगम के उपायुक्त प्रताप सोलंकी को निलंबित कर दिया गया है। वहीं, नगर निगम के दो कर्मियों को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है।

गौरतलब है कि इंदौर में कड़ाके की ठंड को देखते हुए भिक्षुकों और बुजुर्गों को रैन बसेरा में ले जाने के निर्देश दिए गए थे। इस दौरान उनसे दुर्व्यवहार की घटना सामने आई। इस कार्य की निगरानी की जिम्मेदारी नगर निगम के उपायुक्त प्रताप सोलंकी को दी गई थी। सोलंकी द्वारा कार्य में लापरवाही बरती गई। इस लापरवाही पर उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है और उन्हें इंदौर से बाहर पदस्थ करने के निर्देश दिए गए हैं। उधर, नगर निगम द्वारा स्पष्ट किया गया है कि प्रतिवर्ष की भांति भिक्षुकों को रैन बसेरा ले जाने को कहा गया था। भविष्य में ऐसी घटना न हो, इसके लिए व्यवस्था की जा रही है।

loading...
loading...

Check Also

राम मंदिर के लिए चंदा अभियान हुआ पूरा, जानिए कितने हजार करोड़ रुपये हुए जमा

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के देश के कोने-कोने से चंदा आया है. लोगों ने ...