Sunday , November 29 2020
Breaking News
Home / क्राइम / इंदौर : नर्स सबसे पूछी बच्चे का लिंग, लड़का जानकर जांच के बहाने ले गई

इंदौर : नर्स सबसे पूछी बच्चे का लिंग, लड़का जानकर जांच के बहाने ले गई

इंदौर. मध्य प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल महाराज यशवंत राव होलकर अस्पताल (MYH) में रविवार शाम एक दिन का बच्चा चोरी होने का मामला सामने आया। एक महिला नर्स बनकर आई और बच्चे की नानी के साथ वार्ड से बच्चे को बाहर ले आई। सोमवार को परिजन ने अस्पताल में हंगामा भी किया। परिजन ने कहा कि 10 साल की मिन्नतों के बाद बच्चा हुआ था। हालांकि यह दंपति का दूसरा बच्चा है, लेकिन पहले वाला बच्चा दिमाग से कमजोर है।

उन्होंने कहा कि अस्पताल प्रबंधन की गलती से बच्चा चोरी हुआ है। परिजन का कहना है कि जिम्मेदारों ने उनसे कहा है कि घटना अस्पताल के बाहर हुई है, जबकि वह संदिग्ध नर्स वार्ड में गई। वहां भर्ती चार- पांच मरीजों को दवा भी दी। वहां जितने भी बच्चे थे, सबके परिजन से बच्चों के बारे में पूछ रही थी कि बच्चा लड़का है या लड़की। हमारे यहां लड़का होने की बात पता चली, तो बोली कि बच्चे की धड़कन कम चल रही है। नर्स ने जांच करवाने के लिए चलने काे कहा, तो उसकी मां ने मना भी किया। इसके बाद वह चली गई। थोड़ी देर बाद लौटकर आकर बच्चे को ले गई। परिजन का कहना है कि अब तो एमवाय अस्पताल से डर लगने लगा है।

यह है मामला


नवजात की नानी राजू बाई ने बताया कि शनिवार रात 2 बजे बेटी रानी को डिलिवरी के लिए एमवाय अस्पताल लाए थे। रानी को पहली मंजिल पर वार्ड नंबर- 3 के बेड नंबर- 8 पर एडमिट किया गया। रविवार सुबह पांच बजे रानी ने बेटे को जन्म दिया। राजू बाई ने बताया कि शाम करीब 5 बजे मैं रानी और नवजात के पास बैठी थी। इस दौरान मास्क लगाए करीब 30 साल की अज्ञात महिला आई। उसने सलवार सूट पहन रखा था। उसने सिर को भी नर्स की तरह ढंक रखा था। वार्ड में सभी बच्चों को चेक करने के बाद वह हमारे पास आई और बच्चे को चेक किया।

उसने बताया कि बच्चे की धड़कन धीरे चल रही है। जांच करानी होगी। नानी ने बताया कि इसके बाद मैं और वह महिला बच्चे को नीचे लेकर आए। यहां उसने कहा कि तुम बच्चे को मुझे दे दो और जल्दी से पर्ची बनवाकर ले आओ। मैंने बच्चे को उसे दे दिया और पर्ची बनवाने चली गई। लौटी तो महिला और बच्चा दोनों वहां नहीं थे। इसके बाद मैंने उसे बहुत खोजा, लेकिन पता नहीं चला। इसके बाद समझ आया कि वह नाती को चुरा ले गई। इसी दौरान दामाद भी अस्पताल पहुंचे गए। उन्हें पूरी बात बताई और फिर पुलिस के पास पहुंची।

पिता ने लगाया लापरवाही का आरोप
बच्चे के पिता लोकेश ने बताया कि मां-बेटे स्वस्थ होने पर शाम 4 बजे अस्पताल से घर के लिए निकला था। शाम करीब 7 बजे मैंने कॉल कर कहा कि मैं कपड़े और अन्य सामान लेकर आ रहा हूं। यहां आया, तो मेरी सास बरामदे में भटकते मिली। मुझे देखकर वह दौड़कर आई और बच्चा गायब होने की बात कही। इसके बाद हम ऊपर से नीचे बच्चे को खोजते रहे। सीसीटीवी में दिख रहा है कि एक लड़की लेकर बच्चे को भाग रही है। पिता ने एमवाय प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि बिना रसीद बच्चा बाहर जा नहीं सकता। यह जानकारी तो गार्ड को पता होगा कि बच्चा आखिर बाहर कैसे गया।

CCTV में बच्चे की नानी के साथ दिखी महिला
CCTV में संदिग्ध महिला बच्चे के नानी के साथ जाते नजर आ रही है। संदिग्ध महिला ने सलवार सूट पहना है। बच्चा उसी की गोद में है, उसके कंधे पर बैग भी टंगा है। वह बच्चे के नानी से कुछ कहते नजर भी आ रही है।

2016 में भी चोरी हुआ था बच्चा
एमवाय अस्पताल से बच्चा चोरी का यह पहला मामला नहीं है। इसके पहले 2016 में भी एक बच्चा चोरी हुआ था। पड़ताल में खुलासा हुआ था कि चंदन नगर की रहने वाली एक महिला ने बच्चा चोरी किया था। मामले में पुलिस ने महिला और उसकी नाबालिग बेटी को पकड़ा था। इसके पहले भी एक संतानहीन दंपति ने एक लाख रुपए में चोरी के बच्चे का सौदा किया था।

loading...
loading...

Check Also

लद्दाख में MARCOS को देखते ही उड़ गई चीनियों की नींद, लेकिन क्यों?

लगता है चीनी PLA के सैनिक इस कहावत को चरितार्थ करके ही मानेंगे – लातों ...