Thursday , November 26 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / इस बड़े शहर में आलूबंडा-चूना हुआ बैन, जानिए आखिर क्या है माजरा ?

इस बड़े शहर में आलूबंडा-चूना हुआ बैन, जानिए आखिर क्या है माजरा ?

क्या आपने कभी सुना है, कि शहर की शांति के लिए आलूबंडा और चूना को बैन करना पड़े? अगर नहीं सुना तो ये खबर पढ़िए जिसके बाद थोड़ी देर के लिए सही मगर आप हैरान जरूर हो जाएंगे. इन दिनों जबलपुर शहर की शांति के लिए खतरा बने आलूबंडा-चूना और झांकड़ू पर कलेक्टर की कार्रवाई सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है. लोग इस बात से हैरान है कि आखिर शांति के लिए आलूबंडा और चूना का क्या संबंध हो सकता है?

पहले ये जान लीजिए की आलू बंडा और चूना होता क्या है. चूना तो आप जानते ही हैं. पान में लगाकर जिसे खाते हैं और आलूबंडा भी खाने वाली ही एक डिश है, जो आलू से बनी होती है. कई राज्यों में स्ट्रीट फूड के तौर पर फेमस है. अब आप सोच रहे होंगे कि खाने वाली ये चीज़ें शहर की शांति के लिए कैसे खतरा हो गई?

तो ज्यादा दिमाग मत लगाइए पहले मामले को समझ लीजिए. दरअसल, शहर के कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने स्टेट सेक्यूरिटी एक्ट के तहत कुछ अपराधियों पर कार्रवाई की. मगर चर्चा में आया उन अपराधियों का नाम. जबलपुर में अपराध करने वाले कुल पांच लोगों पर जिला बदर की कार्रवाई की गई. जिनमें से आलूबंडा-चूना और झांकड़ू अपराधियों के नाम हैं जो चर्चा का विषय बन गए हैं. जिसे पहली बार में सुनते ही हर कोई इस सोच में पड़ जाता है, कि आखिर आलूबंडा-चूना और झांकड़ू का क्या कसूर हो सकता है.

बता दें, कि इन पांचों के खिलाफ जान से मारने की धमकी देना, अवैध हथियार रखने, जुंआ-सट्टा खिलाने सहित कई अन्य अपराध अलग-अलग पुलिस थानों में दाखिल हैं. ये सभी शहर के लिए खतरा थे, क्योंकि आने वाले वक्त में त्योहारी सीज़न शुरू होने जा रहा है ऐसे में शहर में कोई अप्रीय घटना न हो इसलिए एहतियातन कलेक्टर ने ये कार्रवाई की. वैसे ऐसी कार्रवाईयां वक्त वक्त पर होती रहती है, लेकिन चूंकि अपराधियों के नाम रोचक हैं इसलिए ये खबर सुर्खी बनी और राष्ट्रीय स्तर इसकी चर्चा हो रही है.

loading...
loading...

Check Also

अनलॉक की नई गाइडलाइंस जारी कर दी सरकार, इस दिन से लागू होंगे ये नियम

कोरोना वायरस का संक्रमण देश में एक बार फिर रफ्तार पकड़ रहा है. राजधानी दिल्ली ...