Tuesday , January 19 2021
Breaking News
Home / क्राइम / एक-एक कर कपड़े उतारती जाती पाकिस्तानी महिला, देख-देख राज उगलता जाता पूर्व सरपंच

एक-एक कर कपड़े उतारती जाती पाकिस्तानी महिला, देख-देख राज उगलता जाता पूर्व सरपंच

जोधपुर ;  सीमावर्ती जैसलमेर जिले में पोकरण फायरिंग रेंज के पास सटे गांव से पकड़े गए जासूस से पूछताछ में कई रोचक खुलासे हुए हैं। पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के हनीट्रैप जाल में उलझा यह व्यक्ति महज कपड़े उतार कर बात करने वाली लड़कियों के मोह जाल में ऐसा फिसला कि देश की सुरक्षा से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां उन्हें देता चला गया। उसे किसी भी सूचना के बदले कभी पैसा नहीं मिला। आरोपी करीब सवा साल से सेना से जुड़ी जानकारियां उन्हें दे रहा था।

जैसलमेर के लाठी गांव के सत्यनारायण पालीवाल को खुफिया एजेंसियों ने पूछताछ के लिए उठाने के बाद रविवार को गिरफ्तार कर लिया। लाठी गांव पोकरण फायरिंग रेंज से सटा है। सत्यनारायण के भाई की पत्नी गांव की सरपंच रह चुकी है। सत्यनारायण सरपंच प्रतिनिधि की भूमिका निभाता। लाठी के निकट फायरिंग रेंज में चलने वाली प्रत्येक गतिविधि की सूचना सेना सरपंच को देती है। ताकि सरपंच ग्रामीणों को मना कर सकें कि वे उस क्षेत्र से दूर रहे। ऐसे में सत्यनारायण के पास सेना की प्रत्येक गतिविधि की सूचना आती रहती और लड़कियों के मोहपाश में बंधा सत्यनारायण ये आईएसआई की महिला एजेंट्स को भेजता रहता था।

संपादक बन बात करती थी आईएसआई की महिला एजेंट्स
सोशल मीडिया पर सत्यनारायण की लड़कियों से लाइव चैटिंग चलती। इस दौरान ये लड़कियां अपने कपड़े उतारती चली जाती और बात करती रहतीं। सत्यनारायण के साथ 5 लड़कियों का एक ग्रुप लगातार बात करता। इसमें सबसे अंत में खुद को सोनिता कुमारी बताने वाली लड़की बात करती। इस लड़की का दावा था कि वह एक प्रतिष्ठित हिन्दी दैनिक समाचार पत्र की संपादक है। जबकि अन्य लड़कियां उसके यहां काम करने वाली पत्रकार हैं।

स्लीपिंग सेल के जरिए फांसा
पश्चिमी राजस्थान में सैन्य गतिविधियां हमेशा चलती रहती है। ऐसे में पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई ने क्षेत्र में अपने कई स्लीपिंग सेल सक्रिय कर रखे हैं। इस सेल से जुड़े एजेंट कभी-कभार कुछ महत्वपूर्ण सूचनाएं देकर चुप बैठ जाते हैं। ऐसे ही किसी स्लीपर सेल एजेंट ने आईएसआई को सूचना दी कि सत्यनारायण पालीवाल के पास महत्वपूर्ण सूचनाएं रहती है। उन्होंने इसका मोबाइल नंबर भी पाकिस्तान भेजा। इसके बाद आईएसआई ने इन लड़कियों को उसे फांसने के लिए सक्रिय किया। कुछ दिन में ही लड़कियों ने अपनी चिकनी-चुपड़ी बातों से सत्यनाराण को साध लिया।

हनीट्रैप के लिए एक ही लड़कियों का ग्रुप
खुफिया एजेंसियों का कहना है कि पश्चिमी राजस्थान में हनी ट्रैप के लिए जितने भी मामले सामने आए हैं उनमें लड़कियां समान हैं। इनकी आवाज की गहनता के साथ जांच की गई। इस जांच में सामने आया कि गत वर्ष हनी ट्रैप में फंसे सेना के दो जवान भी इन्हीं लड़कियों के जाल में उलझे थे।

क्षेत्र में आरोपी का है रसूख
जाूससी में पकड़ा गया सत्यनारायण पालीवाल क्षेत्र में राजनीतिक हस्तक्षेप रखता था। नेताजी के नाम से मशहूर सत्यनारायण गांव व आसपास के क्षेत्रों में राजनीतिक प्रभुत्व रखता था, इसी का इस्तेमाल वह इन काले कार्यों के लिए करता था। स्थानीय राजनेताओं और पुलिस प्रशासन में उसकी अच्छी खासी पैठ थी जिस वजह से कोई उस पर शक नहीं करता था। अपने इसी आवरण की वजह से वह पाक की कुख्यात खुफिया एजेंसी आईएसआई की महिला एजेंट के सीधे संपर्क में था और उसको सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण सूचनाएं लगातार भेजता रहता था।

loading...
loading...

Check Also

BJP सांसद हेमा मालिनी के होटल का खर्च उठाना चाहते हैं आंदोलनकारी किसान, जानिए कारण

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों ( Farm Law ) को लेकर किसानों का प्रदर्शन लगातार जारी ...