Monday , March 1 2021
Breaking News
Home / अपराध / ऑनर किलिंग : मुस्लिम लड़के से हुआ प्यार, पिता ने बेटी को मारने के लिए दी सुपारी फिर…

ऑनर किलिंग : मुस्लिम लड़के से हुआ प्यार, पिता ने बेटी को मारने के लिए दी सुपारी फिर…

उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर में ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है। यहां 28 साल की लड़की की उसके ही परिवार वालों ने हत्या करा दी। इसके लिए उन्होंने डेढ़ लाख रुपए की सुपारी भी दी। इसके बाद लड़की को जिंदा जला दिया गया। उसका शव 4 फरवरी को धनघटा इलाके में अध जली हालत में मिला। पुलिस ने इस मामले में लड़की के पिता, भाई और जीजा समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। कोर्ट में पेश करने के बाद मंगलवार को सभी जेल भेज दिया।

यह है पूरा मामला
धनघटा इलाके में एक टीनशेड में 4 फरवरी को एक लड़की का अधजला शव बरामद हुआ था। पुलिस ने उसकी शिनाख्त जितवापुर गांव की रहने वाली रंजना यादव के रुप में की थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की पुष्टि दम घुटने से हुई। लेकिन, यह स्पष्ट नहीं था कि रंजना की मौत गला दबाने से हुई है या धुएं से उसका दम घुटा। पुलिस ने मामले की जांच की तो पता चला थी कि लड़की का एक मुस्लिम लड़के के अफेयर था। उसके परिजन इसके शख्त खिलाफ थे। इसके बाद पुलिस ने और जांच की तो एक सीसीटीवी में ​​​​​​​रंजना के परिजन दिखे। इसके बाद पुलिस ने रंजना के पिता कैलाश यादव, भाई अजीत यादव, बहनोई महुली थाना क्षेत्र के महोबरा गांव निवासी सत्य प्रकाश यादव और महुली के डोमडीह गांव निवासी सीताराम को गिरफ्तार किया। पुलिस ने जब इस मामले में शख्ती से पूछताछ की तो सभी अपना जुर्म कबूल कर लिया।

जैसा पिता ने बताया
पिता कैलाश यादव ने बताया कि बेटी रंजना का बेलघाट के शाहपुर गांव निवासी मुस्लिम समुदाय के एक बस मालिक से प्रेम संबंध था। दिसंबर 2019 में वह उस युवक के साथ भाग गई थी। इस पर आरोपी युवक के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज कराया था। पुलिस ने सख्ती की तो कुछ महीनों के बाद रंजना वापस आ गई थी। तब रंजना ने बयान दिया था कि वह बालिग है। वह अपनी मर्जी से प्रेमी के साथ गई थी। इसके बाद भी रंजना अक्सर अपने प्रेमी से मिलने जाया करती थी। यह बात उसके परिवार को नागवार गुजर रही थी।

कैलाश ने कहा कि इससे समाज में परिवार की बदनामी हो रही थी। इसलिए उसकी हत्या का प्लान बनाया। सबसे पहले दामाद सत्यप्रकाश से बात की। उसने सीताराम से संपर्क कराया। सीताराम ने वरुण तिवारी उर्फ पिंटू से मुलाकात कराई। वरुण ने हत्या करने के लिए डेढ़ लाख रुपए की डिमांड की। उसे 1 लाख 35 हजार रुपए दिए गए थे। 3 फरवरी की रात वरुण अपने ड्राइवर दोस्त के साथ टाटा मैजिक गाड़ी लेकर कैलाश के घर पहुंचा। रंजना को उसके भाई अजीत ने जबरन गाड़ी में बैठाया। जबकि कैलाश बाइक से वरुण के साथ घर से निकला।

इसके बाद रंजना को धनघटा थाना क्षेत्र के सिवान में कच्ची सड़क से सटे सूनसान स्थान पर बने टीनशेड के कमरे में ले जाया गया। जहां उसने शोर मचाने की कोशिश की तो अजीत ने उसका मुंह व नाक तब तक दबाए रखा, जब तक वह बेहोश नहीं हो गई। इसके बाद कमरे में बोरे का चट्टा बिछाकर उस पर रंजना को लिटाकर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। इसके बाद चारों से वहां से फरार हो गए।

IG और SP ने टीम को इनाम देने का किया ऐलान

पुलिस ने घटना में इस्तेमाल हुए पेट्रोल के डिब्बे व बाइक को बरामद कर लिया है। जबकि आरोपी वरुण तिवारी और टाटा मैजिक ड्राइवर की तलाश की जा रही है। इस संवेदनशील घटना का खुलासा करने वाली टीम को IG बस्ती ने 15 हजार रुपए और संतकबीरनगर के SP संतोष कुमार सिंह ने 10 हजार रुपए का इनाम देने का ऐलान किया है।

loading...
loading...

Check Also

राम मंदिर के लिए चंदा अभियान हुआ पूरा, जानिए कितने हजार करोड़ रुपये हुए जमा

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के देश के कोने-कोने से चंदा आया है. लोगों ने ...