Sunday , September 27 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / कनखजूरा काटे तो क्या करें, अगर नहीं पता तो सटीक इलाज यहां जानिए

कनखजूरा काटे तो क्या करें, अगर नहीं पता तो सटीक इलाज यहां जानिए

इंसान इंसान को मार रहा है और बड़े जानवर छोटे जानवर को इंसान को लेकर प्रकृति का ये नियम नहीं है। मगर बड़े जानवर हमेशा से ही छोटे जानवर का शिकार करते आ रहे है। शेर हमेशा हिरन का शिकार करता लेकिन हिरन सब जानवरो से ज्यादा फुर्तीला होता है मगर शेर तब भी उसका शिकार कर ही लेता है। और भी कई ऐसे जानवर है जो की मशाहारी है। और हमेशा अपने से छोटे जानवर का शिकार कटे हुए उन्हें आप देख सकते है। लेकिन इन सका कारण है भूख अगर बह भूखे हो तो किसी का भी शिकार कर सकते है फिर चाहे इंसान ही उस बक्त क्यों न उनके सामने हो।

जानवर हमेशा से तब ही अपने शिकार पर निकलता है जब उसे जोर से भूख लगती है। आम तौर पर देखा जाता है की काटने बाले जानवर भी यही तरीका अपनाते है , मगर तब जब उन्हें भूख हो या फिर उन्हें किसी से अपनी जान का खतरा हो। अगर किसी इंसान को कोई सांप काट लेता है तो उसका अगर समय पर उपचार न किया जाए तो बह तुरंत या थोड़ी देर बाद उस इंसान की मृत्यु हो जाती है। इसी प्रजाति में एक जानवर आता है जिसको आमतौर पर कनखजूरा भी कहते है। और यह इतना जहरीला होता है की अगर यह अपना शिकार किसी चूहे हो कर ले तो चूहा 30 मिनट के अंदर दम तोड़ देता है। और आप इसी बात से अंदाजा लगा सकते है की अगर कभी कनखजूरा किसी इंसान को काट ले तो उस इंसान का क्या होगा। आज हम आपको इस टॉपिक पर बताने बाले है कि आखिर क्या होता है जब एक कनखजूरा किसी इंसान को काटता है।

source

आपको बता दे पहले तो ज्यादा तर कनखजूरा इंसान के कान को ज्यादा तर अपना शिकार बनता है क्यूंकि यह उसके लिए सरल और पुरानी प्रक्रिया भी होती है। बह इंसान को उसके कान से अपना शिकार बनाता है। अगर बह किसी भी अंग पर काट ले तो सांप की तरह ही इंसान के अंदर काखजूरा का पूरा जहर रह जाता है। इसकी बजह से इंसान को धीरे धीरे साँस लेने में तकलीफ होने लगती है। और कनखजूरे के काटने की बजह से इंसान को तेज दर्द का अहसास होता है और दर्द के साथ साथ जहर की बजह से इंसान की मौत भी हो जाती है।

कनखजूरे के काटने मात्र से ही इंसान को साँस लेने के साथ साथ ही भारी मात्रा में अपने सरीर के अंदर थकाबत का अहसास होने लगता है। कनखजूरे के काटने पर तुरंत नजदीक के डॉक्टर से अच्छे इलाज के लिए संपर्क किया जाना चाइये बरना इंसान की मृत्यु भी हो सकती है।

source

अगर कनखुजरे के द्वारा काटे जाने बाले इंसान को डॉक्टर के पास ले जाना मुमकिन नहीं हो पाता है या फिर डॉक्टर बन्हा से काफी दूर रहता है। तो आपको जल्द से जल्द उस ब्यक्ति का घर पर प्राथमिक उपचार करना चाइये। अगर कानखजूरा ब्यक्ति के कान में घुश गया है। तो ब्यक्ति के कानो में नमक मिश्रित पानी डालना चाइये और उस पानी को पीड़ित इंसान के कानो में धीरे धीरे टपकाये जिससे उस कनखजूरे की मौके पर ही मृत्यु हो जाए। और उसके बाद इंसान के कान को उल्टा करना चाइये जिससे कनखजूरा कान से बाहर की तरफ सरकने लगे। और अगर कान की जगह की इंसान के किसी अन्य अंग पर कानखजूरा चिपक जाए तो तुरंत चीनी और बूरा लेकर उस कनखजूरे के मुंह की तरफ डालनी चाइये जिससे बह कानखजूरा बन्हा से हट जाए।

source

अब बात करते है कानखजूरे के द्वारा काटे जाने के बक्त की आम तौर पर कानखजूरा जल्दी से काटता नहे है बल्कि कान में घुश जाता है मगर कभी कभी बह किसी इंसान को काट भी लेता है तो उस समय जल्दी से दारू के साथ सेंधा नमक के साथ हल्दी को मिलकर उसे अच्छे तरह से कूटकर पीस लेना चाइये और फिर उसे अच्छी तरह से किसी साफ़ कपडे में एक मुट्ठी बना लेनी चाइये फिर उसके ऊपर देसी घी लगाकर उस जगह मथकर बड़ी ही तेजी के साथ लेप करना चाइये और ऐसा करने से कनखजूरे के जहर का असर धीरे धीरे खत्म होने लगता है।

Check Also

पीपीई किट में खुद को डॉक्टर बताए सफाईकर्मी, महिला मरीज बोली- डॉक्टर तो दूर रहने को कहते हैं, आप छू रहे हो

गाेड्डा जिले के सिकटिया काेविड सेंटर में महिला मरीजाें से छेड़छाड़ की घटना सामने आई ...