Thursday , October 1 2020
Breaking News
Home / ख़बर / कांग्रेस बैठक में राहुल ने बोली ऐसी बात कि हो गई महाभारत, जानें अबतक किसने क्या कुछ कहा ?

कांग्रेस बैठक में राहुल ने बोली ऐसी बात कि हो गई महाभारत, जानें अबतक किसने क्या कुछ कहा ?

वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए हो रही कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक बेहद तनावपूर्ण माहौल में हुई। 23 वरिष्‍ठ कांग्रेसियों की नेतृत्‍व में परिवर्तन को लेकर सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी के मामले ने तूल पकड़ लिया। सोनिया ने चिट्ठी को वजह बताते हुए इस्‍तीफे की पेशकश की। सोनिया गांधी ने अन्य नेताओं से नया पार्टी अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा। फिर मनमोहन सिंह और एके एंटनी ने हस्‍तक्षेप किया। राहुल गांधी की बारी आते-आते माहौल गर्मा चुका था। राहुल ने इन 23 नेताओं के बीजेपी संग मिलकर चिट्ठी लिखने का आरोप लगाया जिससे बात और बिगड़ गई। मीटिंग से इतर भी कांग्रेस के दो धड़े बन गए हैं। एक वो जो सोनिया गांधी के नेतृत्‍व में ही बने रहना चाहता है, दूसरा जो नेतृत्‍व परिवर्तन चाह रहा है। जानिए बैठक में क्या हुआ और किसने क्या कहा…

सोनिया गांधी ने कहा- मैं दे रही हूं इस्‍तीफा

सोनिया गांधी ने अपना पद छोड़ने की पेशकश की। उन्‍होंने पद छोड़ने के लिए गुलाम नबी आजाद और अन्य नेताओं के लेटर का हवाला दिया। गांधी ने अन्य नेताओं से नया पार्टी अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा और केसी वेणुगोपाल को एक पत्र सौंपकर असंतुष्ट नेताओं की तरफ से भेजे गए पत्रों का जवाब दिया।

मनमोहन-एंटनी ने कहा, पद पर बने रहिए

सोनिया की पेशकश पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने उनसे पद पर बने रहने का आग्रह किया। सिंह और एके एंटनी ने उन नेताओं की आलोचना की जिन्होंने नेतृत्व में बदलाव की मांग करते हुए पत्र लिखा था।

राहुल बोले- सोनिया को लिखी चिट्ठी बीजेपी की साजिश

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, ‘सोनिया गांधी के अस्पताल में भर्ती होने के समय ही पार्टी नेतृत्व को लेकर पत्र क्यों भेजा गया था?’ उन्‍होंने मीटिंग में कहा कि ‘पार्टी नेतृत्व के बारे में सोनिया गांधी को पत्र उस समय लिखा गया था जब राजस्थान में कांग्रेस सरकार संकट का सामना कर रही थी। पत्र में जो लिखा गया था उस पर चर्चा करने का सही स्थान सीडब्ल्यूसी की बैठक है, मीडिया नहीं।’ उन्‍होंने आरोप लगाया कि यह पत्र बीजेपी के साथ मिलीभगत में लिखा गया। पढ़ें पूरा वाकया।

प्रियंका ने दिया राहुल का साथ

प्रियंका गांधी ने राहुल की बात से पूरी तरह सहमति जताई। उन्‍होंने भाई के सुर में सुर मिलाते हुए चिट्ठी लिखने वाले कांग्रेसियों की आलोचना की। उन्होंने अप्रत्यक्ष तौर उन नेताओं को दोहरे चरित्र का बताया। हरियाणा कांग्रेस की नेता कुमारी शैलजा ने भी पत्र लिखने वालों पर हमला बोला और कहा कि वो भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं।

गुलाम नबी आजाद बोले- …तो दे दूंगा इस्‍तीफा

बीजेपी से मिलीभगत के आरोप पर गुलाम नबी आजाद चिढ़ गए। आजाद राज्‍यसभा में कांग्रेस के नेता हैं। उनकी अगुवाई में ही वरिष्‍ठ कांग्रेसियों ने सोनिया को चिट्ठी लिखी थी। आजाद ने कहा कि अगर ‘बीजेपी से सांठ-गांठ के आरोप सिद्ध होते हैं तो मैं त्‍यागपत्र दे दूंगा।’

कपिल सिब्‍बल ने ट्वीट डिलीट किया, बायो से कांग्रेस हटाया

राहुल गांधी के ‘बीजेपी संग मिलीभगत’ का आरोप लगाने के बाद सिब्‍बल ने ट्वीट किया, “राजस्‍थान हाई कोर्ट में कांग्रेस पार्टी को सफलतापूर्वक डिफेंड किया। मणिपुर में बीजेपी सरकार गिराने में पार्टी का बचाव किया। पिछले 30 साल में किसी मुद्दे पर बीजेपी के पक्ष में कोई बयान नहीं दिया। लेकिन फिर भी हम ‘बीजेपी के साथ मिलीभगत कर रहे हैं।'” बाद में उन्‍होंने ट्वीट डिलीट कर दिया और कहा कि राहुल ने उन्‍हें खुद फोन करके कहा कि उन्‍होंने ऐसा नहीं कहा था।

loading...
loading...

Check Also

हाथरस : मां रोती-बिलखती रही फिर भी पुलिस ने जबर्दस्ती बेटी का शव जलाया, पत्रकार बोलीं- यह तो आंतक है..

हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने बिना न्याय मिले ही दम तोड़ दिया था, और अब उसके ...