Wednesday , January 27 2021
Breaking News
Home / ख़बर / ‘हनीमून पॉलिटिक्स’ पर भड़के हुए हैं तेजप्रताप यादव, किसके बंद कमरों का राज खोलेंगे?

‘हनीमून पॉलिटिक्स’ पर भड़के हुए हैं तेजप्रताप यादव, किसके बंद कमरों का राज खोलेंगे?

पटना: बिहार में ‘हनीमून पॉलिटिक्स’ वाली सियासत हो रही है। हनीमून पर जमकर बयानबाजी भी हो रही है। मामला लालू परिवार से जुड़ा हो तो राजनीति होनी तय है। ऐसे में राजनीति भी खूब हो रही है। जमकर वार-पलटवार भी हो रहा है। पूरा मामला बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद के बेटे से जुड़ा है। लालू प्रसाद के बेटे तेजस्वी यादव से जब मांझी के ‘हनीमून’ वाले बयान पर पूछा गया तो उन्होंने टाल दिया था। मगर तेजस्वी यादव के बड़े भाई और आरजेडी विधायक तेजप्रताप यादव ने मांझी के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि मांझी अपने बुढ़ापे का ख्याल रखें और संभल जाएं। साथ ही साथ तेजप्रताप ने धमकी वाले अंदाज में कहा कि मांझी बगल वाले घर में ही रहते हैं। सब पता है कि कमरे में क्या-क्या करते हैं। हम भी पोल खोल देंगे।

वहीं तेजप्रताप यादव के बयान के HAM के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने भी पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि तेजप्रताप बताएं कि किन गंदी हरकतों की वजह से तेजप्रताप यादव अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय को घर से निकाला? दिल्ली के फार्महाउस पार्टी में किस कारण तेजप्रताप और तेजस्वी की पिटाई हुई थी? उन्होंने तेजप्रताप यादव को हद में रहने की चेतावनी दी। दानिश ने कहा कि हम पोल खोलेंगे तो लालू प्रसाद के चरित्रवान पुत्र सड़क पर आ जाएंगे।

बिहार में ‘हनीमून’ पर वार-पलटवार
हाल ही में जीतनराम मांझी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को लेकर ‘हनीमून’ वाला बयान दिया था। मांझी ने कहा था कि जब भी देश या बिहार में किसी प्रकार का संकट आता है तो ये तीनों नेता ‘हनीमून’ मनाने चले जाते हैं। मांझी के इसी बयान पर तेजप्रताप यादव ने पलटवार किया है। तेजप्रताप यादव ने कहा कि मांझी जी मेरे बगलवाले घर में रहते हैं। कमरे में क्या-क्या करते हैं, हम भी पोल खोल देंगे। मांझी जी अपने बुढ़ापे का ख्याल रखना चाहिए। उनके बेटे का महिला पुलिसकर्मी के साथ लफड़ा हो गया था। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या मांझी जी बाहर जाएंगे तो हनीमून मनाने जाएंगे?

2 दिन पहले मांझी ने क्या कहा था?
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष 2 दिन पहले राहुल गांधी, तेजस्वी यादव और चिराग पासवान को लेकर विवादित बयान दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि जब भी देश या बिहार में किसी प्रकार का संकट आता है तो ये तीनों नेता हनीमून मनाने बाहर चले जाते हैं। ये बात उन्होंने पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही थी। अहम मौके पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के गायब रहने को लेकर सवाल किया गया था। जवाब में उन्होंने कहा था कि 2019 लोकसभा चुनाव में हार के बाद तेजस्वी यादव करीब 1 महीने गायब रहे।

बिहार में जब भी कोई गंभीर समस्या आती है चाहे वो बाढ़ हो, चमकी बुखार हो या फिर किसान आंदोलन का मुद्दा हो, तेजस्वी हमेशा ऐसे मौकों पर राज्य से गायब रहते हैं। मांझी ने सवाल किया था कि तेजस्वी यादव दिल्ली में जाकर क्यों बैठ जाते हैं? नेता विरोधी दल के नाते तेजस्वी यादव दिल्ली में भी काम करें, लेकिन उन्हें पटना में भी रहना चाहिए। बिहार को नहीं छोड़ना चाहिए। बिहार को तेजस्वी छोड़ रहे हैं। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मांझी ने राहुल गांधी, तेजस्वी यादव और चिराग पासवान को युवराज बताया था और कहा था कि तीनों समय आने पर हनीमून मनाने चले जाते हैं।

loading...
loading...

Check Also

क्या सॉफ्ट हिंदुत्व की राजनीति के चलते आजम को नजरअंदाज कर रहे अखिलेश?

उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा चुनाव होना हैं। बीते दिनों भारतीय जनता पार्टी (BJP) ...