Thursday , January 28 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / बोर्ड परीक्षा में मिले 625 में से 624 अंक, कॉपी दोबारा चेक कराई तो आया होश उड़ाने वाला रिजल्ट

बोर्ड परीक्षा में मिले 625 में से 624 अंक, कॉपी दोबारा चेक कराई तो आया होश उड़ाने वाला रिजल्ट

करप्शन का बोलबाला आजकल इतना ज्यादा बढ़ गया है की इसकी चपेट में वैस एलोग भी आ जाते हैं जो इससे मीलों दूर रहते हैं. आज हम आपको एक ऐसे ही वाकये के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ शिक्षा के क्षेत्र में करप्सन के मामले में एक मासूम स्टूडेंट को जब फिर से पोरी जांच प्रक्रिया के दौरान गुजरना पड़ा तो उसपर क्या बीती और उसके बाद आये नतीजों ने ना केवल उस स्टूडेंट को बल्कि उसके परिवार सहित पूरे राज्य को चौंका कर रख दिया. आईये आपको बताते हैं की आखिर इस स्टूडेंट के दुबारा कॉपी जांच ने बाद ऐसा क्या हुआ जिसने सभी को चौंका कर रख दिया.

हुआ यूं कि पिछले साल कर्नाटका बोर्ड द्वारा जारी दसवीं के रिजल्ट में कैफ मुल्ला नाम के कर्नाटका बोर्ड के स्टूडेंट को कुल 625 में से 624 अंक मिले और इसके साथ इस उस एकार्नाटका बोर्ड का टापर घोषित कर दिया गया. लेकिन इसके बाद कुछ लोगों ने कैफ मुल्ला को मिले इतने ज्यादा नंबरों पर सवाल उठाना शुरू कर दिया और अंत में बोर्ड को एक बार फिर से कैफ मुल्ला के कापियों की जांच के निर्देश देने पड़े. हालाँकि बोर्ड के इस फैसले के बाद कैफ और उसके परिवार वालों का मनोबल काफी टूट गया लेकिन उनकी ख़ुशी का तब कोई ठिकाना नहीं रह गया जब उनको मालूम चला की कैफ के दुबारा कॉपी जांच करने के बाद उसे 625 में से 625 मार्क्स मिले. यानी की साफ़ तौर पर जो कैफ मुल्ला के एक अंक काटे गये थे वो भी उसे वापिस मिल गए और इसके बाद तो मानो परिवार सहित कैफ के भी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा.

आपको बता दें की कर्नाटका बोर्ड के स्टूडेंट कैफ मुल्ला को पहले 625 में से 624 अंक इसलिए मिले थे क्यूंकि उसके अंक साइंस के पेपर में कटे थे लेकिन जब उसकी दुबारा जांच की गयी तो कैफ को साइंस में भी पूरे अंक मिले. बता दें की कर्नाटका के संत जेवियर स्कूल के दसवीं के स्टूडेंट कैफ मुल्ला ने कर्नाटका बोर्ड टॉप करने के बाद मीडिया को बताया की वो आईएस ऑफिसर बनना चाहता है और इसलिए 11 वीं में उसने सब्जेक्ट भी साइंस लिया है. इसके अलावा जहाँ तक कैफ मुल्ला के परिवार की बात है तो बता दें की कैफ के पिता हारून अब्दुल्ला खुद एक हिंदी टीचर हैं और उनकी माँ परवीन मुल्ला एक कन्नड़ टीचर है.

बता दें की कैफ मुल्ला ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया की उसे पूरे अंक आने के पहले से ही उम्मीद था क्यूंकि उसने एग्जाम देने के बाद सभी आंसर को अपने मॉडल पेपर से मिलाया था. कैफ के पिता ने बताया की उसके बेटे ने बहुत मेहनत की थी दसवीं बोर्ड में पूरे के पूर नंबर लाने के लिए, उसने अपना अधिक से ज्यादा समय पढाई में ही बीताया था जिसका नतीजा ये हुआ की उसे पूरे के पूरे अंक मिले. कैफ के माता पिता भी चाहते हैं की उनका बेटा एक आईएस ऑफिसर बने और उन्हें उम्मीद को कैफ उनके सपनों को जरूर पूरा करेगा.

loading...
loading...

Check Also

क्या सॉफ्ट हिंदुत्व की राजनीति के चलते आजम को नजरअंदाज कर रहे अखिलेश?

उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा चुनाव होना हैं। बीते दिनों भारतीय जनता पार्टी (BJP) ...