Monday , October 19 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / कोबरा से भी जहरीला है ये भारतीय फल, जुबान पर रखते ही मौत पक्की

कोबरा से भी जहरीला है ये भारतीय फल, जुबान पर रखते ही मौत पक्की

यह बात हम सभी जानते है कि दुनिया में कई जहरीले पौधे और फल है, लेकिन सायनाइड को दुनिया का सबसे तेज जहर माना जाता है। इसको मुंह में रखने मात्र से इंसान की मौत हो जाती है, आइए दोस्तों आज हम आपको हम आपको एक ऐसे भारतीय फल के बारे में बता रहें हैं जो साइनाइड से भी जहरीला है। इस फल को अगर कोई व्यक्ति चख भी लेता है तो उसकी मौत तुरंत हो जाती है। बता दें कि इस खतरनाक फल का नाम “सरबेरा ओडालम” है और यह भारत के दक्षिण-पूर्व में पाया जाता है।

वास्तव में इस फल के बीज के अंदर सरबेरीन नामक एक खतरनाक तत्व पाया है। यह तत्व बहुत जहरीला होता है। इस तत्व की थोड़ी सी मात्रा भी अगर व्यक्ति के शरीर के अंदर पहुंच जाती है तो उसकी मौत हो सकती है। यही वजह है कि इस फल को बहुत खतरनाक तथा जानलेवा माना जाता है।

इस फल के पेड़ के बारे में शोधकर्ता भी यह मानते हैं कि दुनिया में जितने भी जहरीले पौधे पाए जाते हैं। सरबेरा उन सभी में से सबसे ज्यादा खतरनाक तथा जानलेवा पौधा है। अगर कभी गलती से भी इसके फल का सेवन कोई कर लेता है तो उसको उल्टी, चक्कर, डायरिया तथा अनियमित धडक़न जैसी समस्याएं आने लगती हैं। वैज्ञानिक तो यह भी मानते हैं कि इस पेड़ का फल इतना ज्यादा जहरीला होता है कि उसके सामने कोबरा सांप का जहर तथा सायनाइड भी फेल हो जाते हैं। इस पौधे के फल में जो एंजाइम पाया जाता है वह मानव शरीर की कार्य प्रणाली को प्रभावित करता है।

इस फल के अंदर का सरबेरीन तत्व मानव के ह्रदय की मांसपेशियों को सिकोड़ डालता है। इसी वजह से इंसानी दिल की धडक़न बंद हो जाती है। इस पौधे का जहरीला फल मानव के नर्वस सिस्टम को बंद कर देता है। इसी वजह से मानव शरीर के अंग काम करना बंद कर देते हैं और शरीर एक प्रकार से पैरालाइज्ड हो जाता है। सरबेरी के इस पौधे के फल को “सुसाइड फ्रूट” भी कहा जाता है। वास्तव में जो इंसान इसके फल को खा कर मरते हैं उनकी मौत की वजह जल्दी स्पष्ट नहीं हो पाती है।

loading...
loading...

Check Also

बिहार में बीजेपी खेल रही बहुत बड़ा डबल-गेम, प्रदेश प्रभारी फडणवीस बोले- पीएम तो सबके हैं!

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ( Chirag Paswan ) द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र ...