Friday , October 2 2020
Breaking News
Home / ख़बर / कोरोना की दवा : रूस को अपनी Sputnik-V वैक्सीन के लिए भारत की क्यों पड़ी जरूरत, पढ़िए

कोरोना की दवा : रूस को अपनी Sputnik-V वैक्सीन के लिए भारत की क्यों पड़ी जरूरत, पढ़िए

नई दिल्ली
कोविड-19 वैक्सीन को मंजूरी देने वाला दुनिया का पहला देश रूस भारत के साथ साझेदारी करने पर विचार कर रहा है। रूस ने विश्वास जताया है कि भारत में ‘स्पूतनिक 5’ का बड़े पैमाने पर उत्पादन करने की क्षमता है। रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी किरिल दमित्रिएव ने गुरुवार को कहा कि रूस कोविड-19 के टीके स्पूतनिक 5 के उत्पादन के लिए भारत के साथ साझेदारी पर विचार कर रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत उन देशों में है, जिसके पास प्रोडक्शन की जबरदस्त क्षमता है। हाल ही में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने घोषणा की थी कि उनके देश ने कोविड-19 का दुनिया का पहला टीका बना लिया है जो ‘काफी प्रभावी’ तरीके से काम करता है और इस बीमारी के खिलाफ स्थिर प्रतिरक्षा देता है। स्पूतनिक-5 का विकास गामालेया महामारी रोग और सूक्ष्मजीव विज्ञान शोध संस्थान और RDIF मिलकर कर रहे हैं। इस टीके के तीसरे चरण का परीक्षण या बड़े पैमाने पर क्लिनिकल ट्रायल नहीं हुआ है।

एक ऑनलाइन प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए दमित्रिएव ने कहा कि लैटिन अमेरिकी, एशिया और पश्चिम एशिया के कई देश टीके के उत्पादन के लिए इच्छुक हैं। उन्होंने कहा, ‘इस टीके का उत्पादन बेहद महत्वपूर्ण मुद्दा है और फिलहाल हम भारत के साथ साझेदारी की उम्मीद कर रहे हैं… यह कहना बेहद महत्वपूर्ण है कि टीके के उत्पादन के लिए होने वाली यह साझेदारियां हमें मांग को पूरा करने में सक्षम बनाएंगी।’ दमित्रिएव ने कहा कि रूस अंतरराष्ट्रीय सहयोग की उम्मीद कर रहा है।

उन्होंने दुनियाभर के पत्रकारों से कहा, ‘हमने व्यापक रिसर्च किया है और क्षमताओं का विश्लेषण किया है। भारत, ब्राजील, दक्षिण कोरिया और क्यूबा जैसे देशों के पास अत्यधिक उत्पादन की क्षमता है।’

loading...
loading...

Check Also

कैबिनेट मीटिंग के बीच में अचानक उठे योगी और चले गए बाहर, दिल जीत लेगा कारण !

सीएम योगी नियम और कानून की मर्यादा का पालने करने के साथ ही अनुशासन को ...