Sunday , July 12 2020
Breaking News
Home / ख़बर / कोरोना को अब न रोका तो महाराष्ट्र बन जाएगा श्मशान, मौत और मरीज के तोड़ डाले सारे रिकॉर्ड

कोरोना को अब न रोका तो महाराष्ट्र बन जाएगा श्मशान, मौत और मरीज के तोड़ डाले सारे रिकॉर्ड

महाराष्ट्र में 24 घंटे में 5493 संक्रमित मरीज मिले हैं। यह अब तक किसी भी राज्य में एक दिन में मिले मरीजों की सबसे बड़ी संख्या है। यह जानकारी रविवार देर शाम जारी रिपोर्ट में दी गई। बता दें कि शनिवार को भी राज्य में 5300 से ज्यादा मरीज मिले थे। राज्य में कुल मरीजों की संख्या 1,63,579 हो गई है। वहीं, रविवार को 156 मौतें हुईं। इसके साथ मौत का कुल आंकड़ा 7429 हो गया है। मुंबई में 24 घंटे में 1287 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, जबकि 87 मरीजों की मौत हुई। मुंबई में अब तक कुल केस 75,539 और कुल मौत 4371 हो गई हैं।

मुंबई में बीएमसी करेगी सीरो सर्वे 
मुंबई में बीएमसी कोरोना के फैलाव को जांचने के लिए सीरो-सर्वे करवाएगी, जिसमें 10,000 रैंडम ब्लड सैंपल लिए जाएंगे। यह सर्वे नीति आयोग और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च (TIFR) के साथ मिलकर मुंबई के एम- वेस्ट, एफ नॉर्थ और आर नॉर्थ वॉर्ड में किए जाएंगे।

इस स्टडी से कोरोना संक्रमण की दर, इसके फैलाव की प्रकृति और आबादी पर इसके असर की जानकारी मिलेगी। इसके आधार पर कोरोना से संबंधित जनस्वास्थ्य नीतियां बनाने में सहायता मिलेगी।

नवी मुंबई में एक सप्ताह का लॉकडाउन 
नवी मुंबई महानगरपालिका ने आदेश दिया है कि रोगियों की संख्या बढ़ने की वजह से 29 जून से 5 जुलाई तक पूरे शहर में लॉकडाउन लागू करने का आदेश जारी किया गया है। नवी मुंबई में कोरोना रोगियों का आंकड़ा 5 हजार के पार पहुंच चुका है और 194 लोगों की मौत हो चुकी है। जिले के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने इस बारे में बैठक ली है।

मुंबई में कोरोना नियंत्रित करने में असफल रही सरकार: फडणवीस
विपक्ष के नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आरोप लगाया है कि मुंबई मेट्रोपोलिटन रीजन में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। सरकार इस पर नियंत्रण करने में असफल हो गई है। इस संबंध में फडणवीस ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर पूरी जानकारी दी है।

फडणवीस ने पत्र में लिखा है कि कोरोना संक्रमण दर भिवंडी में 48 प्रतिशत, पनवेल में 45 प्रतिशत, मीरा-भाईंदर में 43 प्रतिशत, ठाणे में 29.94 प्रतिशत तक पहुंच गया है। यह आंकड़े तब हैं, जब कोरोना टेस्ट नियंत्रित किया जा रहा है। फडणवीस का कहना है कि 24 जून 2020 तक मुंबई में 2 लाख 99 हजार 369 टेस्ट किए गए थे जबकि उस वक्त मरीजों की संख्या 69 हजार 528 थी। मतलब टेस्ट किए गए 23.22 प्रतिशत लोग कोरोना पीड़ित पाए गए।

Check Also

दुनिया के लिए तो ‘जब जागो तब सवेरा’, लेकिन नेपाल में ओली की ‘इश्किया’ पर सिर्फ अँधेरा !

नेपाल की कम्युनिस्ट सरकार ने भारत से 2020 में इस तरह से संबंध बिगाड़े हैं, ...