Wednesday , September 23 2020
Breaking News
Home / ख़बर / कोरोना ने ली JDU महासचिव की जान, क्या अब भी चुनाव पर अड़े रहेंगे नीतीश कुमार ?

कोरोना ने ली JDU महासचिव की जान, क्या अब भी चुनाव पर अड़े रहेंगे नीतीश कुमार ?

देश में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही चला जा रहा है। केंद्र और राज्य सरकारों की तमाम कोशिशों के बावजूद रोजाना नए मरीजों और मृतकों की संख्या में भारी उछाल दर्ज हो रहा है। बिहार में भी रोजाना कोरोना-विस्फोट हो रहा है, फिर भी राज्य के मुखिया नीतीश कुमार इसी साल अक्टूबर में विधानसभा चुनाव कराने पर अड़े हैं। लेकिन अब एक ऐसी खबर आई है, जिसके बाद शायद नीतीश अपने चुनावी फैसले को बदल दें।

जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश महासचिव रविन्द्र तांती की शुक्रवार को कोरोना से मौत हो गई। वे पटना के एम्स में 10 दिनों से भर्ती थे, जहां बीते नौ दिनों से वे वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे। एक जमाने में रविन्‍द्र तांती राष्‍ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के करीबी थे। लालू ने ही उन्‍हें 1996 में पहली बार एमएलसी बनाया था और 1997 में राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए उन्‍होंने अपनी सीट से त्यागपत्र दे दिया था।

रविन्‍द्र तांती वर्तमान में वे जेडीयू के प्रदेश महासचिव थे। वे बिहार राज्य अति पिछड़ा वर्ग राज्य आयोग के अध्यक्ष भी रहे थे। वे पटना के फतुहा स्थित मकसुदपुर के निवासी थे। उनके निधन से जेडीयू में शोक व्‍याप्‍त है।

रविन्‍द्र तांती के निधन पर बिहार विधान परिषद् के कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह ने शोक व्यक्त किया है। उन्‍होंने कहा कि वे एक सफल और विलक्षण प्रतिभा के राजनेता थे। वे समाज के निचले तबके के लिए अंत तक कार्य करते रहे।

Check Also

कोरोना को हराने की ओर बढ़ा हरियाणा, बहुत सुकून देगा ये ताजा आंकड़ा

हरियाणा में कोरोना को मात देने वाले मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा ...