Saturday , October 24 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल पर बोला चीन- हमको तो WHO ने दी इजाजत !

कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल पर बोला चीन- हमको तो WHO ने दी इजाजत !

पेइचिंग
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक्सपेरिमेंटल कोरोना वायरस वैक्सीन को क्लिनिकल ट्रायल के दौरान ही लोगों को देने के लिए चीन को अपना सपॉर्ट दिया था। चीन के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने शुक्रवार को यह दावा किया है। चीन ने अपने इमर्जेंसी प्रोग्राम को जुलाई में लॉन्च किया था। देश के नैशनल हेल्थ कमिशन अधिकारी झेंग झॉन्गवेई का कहना है कि इस बारे में WHO को जून के आखिर में बता दिया गया था।

बिना तीसरे चरण के ट्रायल मिली मंजूरी
ऐसे हजारों को वर्कर्स और दूसरे सीमित समूहों को वैक्सीन दी गई थी, जिन्हें इन्फेक्शन का खतरा ज्यादा था। हालांकि, तब तक बिना तीसरे चरण के ट्रायल के वैक्सीन के असर और सुरक्षा के बारे में पुख्ता जानकारी नहीं थी। झेंग ने एक कॉन्फ्रेंस में बताया है कि चीन के स्टेट काउंसिल ने इमर्जेंसी प्रोग्राम के तहत वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी थी।

‘WHO ने किया सपॉर्ट’
झेंग ने दावा किया, ‘मंजूरी के बाद 29 जून को चीन में WHO के ऑफिस के संबंधित प्रतिनिधियों को इसकी जानकारी दी गई थी। उन्होंने इसे समझा और सपॉर्ट किया।’ पेइचिंग ने अभी तक इस प्रोग्राम की पूरी डीटेल शेयर नहीं की हैं। WHO पर अब तक आरोप लगते रहे हैं कि उसने कोरोना वायरस की महामारी फैलने की जानकारी दुनिया से छिपाने में चीन की मदद की। इस पर WHO के बनाए स्वतंत्र पैनल का पहला अपडेट अगले महीने आएगा।

‘ये वैक्सीनें रहीं शामिल’
जानकारी के मुताबिक चीन नैशनल बायोटेक ग्रुप और साइनोवैक बायोटेक की कम से कम तीन वैक्सीन कैंडिडेट को इसमें शामिल किया गया है। तीनों का दूसरे देशों में तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है। वहीं, CanSino Biologics की बनाई चौथी वैक्सीन को चीनी मिलिट्री में इस्तेमाल के लिए जून में मंजूरी मिल गई थी।

loading...
loading...

Check Also

इस बड़े शहर में आलूबंडा-चूना हुआ बैन, जानिए आखिर क्या है माजरा ?

क्या आपने कभी सुना है, कि शहर की शांति के लिए आलूबंडा और चूना को ...