Wednesday , October 21 2020
Breaking News
Home / क्राइम / कोरोना वैक्सीन बना लिया 7वीं पास, बेचने को मांगा लाइसेंस तो हुआ गिरफ्तार

कोरोना वैक्सीन बना लिया 7वीं पास, बेचने को मांगा लाइसेंस तो हुआ गिरफ्तार

नई दिल्ली।
भारत समेत दुनियाभर में कोरोना वायरस ( coronavirus ) का कहर जारी है। तमाम कोशिशों के बावजूद संक्रमण ( Covid-19 Cases ) थमने का नाम नहीं ले रहा। दुनिया के बड़े से बड़े वैज्ञानिक और डॉक्टर्स कोरोना की दवा खोजने में जुटे हुए हैं, लेकिन अब तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी है। इसी बीच ओडिशा ( Odisha ) के बरगढ़ जिले से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक 7वीं पास युवक ने कोविड-19 की वैक्सीन ( Fake Covid-19 Vaccine ) बनाने का दावा करते हुए प्रशासन को दवा के लाइसेंस के लिए मेल भेज दिया। पुलिस ने युवक को नकली कोरोना दवा बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

फर्जी कोरोना वैक्सीन का भंडाफोड़
रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने कोरोना वैक्सीन बना रही एक फर्जी यूनिट का भंडाफोड़ किया है। गिरफ्तार युवक ने कोरोना वैक्सीन बनाने का दावा किया था। आरोपी की पहचान 32 वर्षीय प्रह्लाद बीसी के रूप में हुई है, जो 7वीं तक की पढ़ा है। उसे अपनी दवा पर इतना विश्वास था कि उसने लाइसेंस के लिए प्रशासन को मेल भी कर दिया।

कई शीशियां जब्त
ड्रग इंस्पेक्टर ने बताया कि उन्हें ईमेल के जरिए इस फर्जी कोरोना वैक्सीन के बारे में पता चला। इस पर आरोपी के ठिकाने पर छापेमारी की तो वहां पर पाउडर, केमिकल और ‘कोविड -19 वैक्सीन’ शीशियां मिलीं। देखने में सभी कोरोना वैक्सीन के स्टीकर से मिलता-जुलता है। इसके अलावा छापेमारी में बाजपन ठीक करने की दवाइयां भी टीम को बरामद हुई हैं।

‘टॉप सीक्रेट’ फॉर्मूले से बनाई कोरोना वैक्सीन?
पुलिस और ड्रग अधिकारियों ( Drug Inspector ) ने बताया कि युवक ने अभी इन नकली दवाइयों को बेचा नहीं था। लेकिन, जब उससे वैक्सीन के कंपोजिशन यानि कि फॉर्मूले के बारे में पूछा गया तो उसने इसे ‘टॉप सीक्रेट’ कहते हुए बताने से इनकार कर दिया। वो लगातार इस बात का दावा करता रहा कि उसकी वैक्सीन से कोरोना पूरी तरह से ठीक हो जाएगा।

loading...
loading...

Check Also

गाय के गोबर लैंप ने गुल कर दी चीन की बत्ती, बिलबिलाहट में बक रहा ऊलजलूल

इस बार की दीवाली में चीन का लाइटिंग कारोबार ठप हो जाएगा. भारत ने इसके ...