Tuesday , October 20 2020
Breaking News
Home / ख़बर / कोरोना संक्रमण से भी नहीं सुधरे डोनाल्ड ट्रंप, अस्पताल से वाइट हाउस पहुंचते ही की ये हरकत !

कोरोना संक्रमण से भी नहीं सुधरे डोनाल्ड ट्रंप, अस्पताल से वाइट हाउस पहुंचते ही की ये हरकत !

WASHINGTON, DC – OCTOBER 05: U.S. President Donald Trump removes his mask upon return to the White House from Walter Reed National Military Medical Center on October 05, 2020 in Washington, DC. Trump spent three days hospitalized for coronavirus. (Photo by Win McNamee/Getty Images)

वॉशिंगटन :  अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कोरोना वायरस इन्फेक्शन के इलाज के लिए वॉल्टर रीड मिलिट्री अस्पताल गए थे। अचानक सोमवार को वह वापस वाइट हाउस आ गए। दावा किया गया कि ट्रंप पूरी तरह से ठीक नहीं हैं लेकिन पहले से बेहतर हैं, इसलिए उन्होंने वाइट हाउस का आने का फैसला किया। हालांकि, वापस आने पर उन्होंने फिर से दोहराया कि दुनिया को कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है। इससे एक्सपर्ट्स चिंतित हैं कि ट्रंप खुद बीमार होने के बावजूद महामारी की गंभीरता नहीं समझ सके हैं और अभी भी ढीला रवैया अपना रहे हैं।

वाइट हाउस आकर मास्क हटाया
वाइट हाउस लौटने के बाद राष्ट्रपति दक्षिण पोर्टिको की सीढ़ियां चढ़कर गए और मास्क भी हटा दिया। इसके बाद उन्होंने कहा कि वह ठीक हैं। उन्होंने वापस जाने वाले हेलिकॉप्टर को अलविदा भी कहा। इसके बाद वह बिना मास्क पहने ही वाइट हाउस में दाखिल हुए। ट्रंप ने अस्पताल से निकलने से पहले ट्वीट भी किया था कि वह जल्द ही प्रचार भी शुरू कर देंगे।

वाइट हाउस लौटने के बाद उन्होंने एक और वीडियो जारी कर लोगों से कोरोना से नहीं डरने के लिए कहा। हालांकि, इस दौरान उन्हें सांस लेने में पहले से ज्यादा मशक्कत करनी पड़ रही थी।

वाइट हाउस में मिले और केस
वॉल्टर रीड नैशनल मिलिट्री मेडिकल सेंटर में ट्रंप के डॉक्टर नेवी कमांडर शॉन कॉनली ने बताया था कि ट्रंप अभी भी इन्फेक्शन से ठीक नहीं हुए है। हालांकि, बावजूद इसके ट्रंप ने वाइट हाउस लौटने का फैसला किया जहां अभी भी इन्फेक्शन के नए केस सामने आ रहे हैं। वहीं, सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेन्शन के मुताबिक ऐसे लोग जिनमें कोविड-19 के कम लक्षण होते हैं, उन्हें खुद को 10 दिन तक आइसोलेट करना चाहिए।

और फैल सकती है महामारी
ट्रंप के वापस आने से यह सवाल खड़ा हो गया है कि बाकी अधिकारियों को इन्फेक्शन से कैसे बचाया जाएगा। यही नहीं, बीमारी का ट्रंप पर क्या असर पड़ेगा, इसकी चर्चा भी हो रही है। डॉ. कॉनली ने ट्रंप के फेफड़ों की हालत के बारे में कुछ नहीं बताया है। कोविड ज्यादातर मरीजों के फेफड़ों पर सबसे ज्यादा असर करता है। ट्रंप के रवैये को देखकर यह भी कहा गया है कि इससे लोगों को भी ऐसे बर्ताव करने की वजह मिल सकती है जिससे महामारी और ज्यादा फैल सकती है।

आम लोग नहीं हैं ट्रंप से लकी
ट्रंप के कॉमेंट के बाद यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग मेडिकल सेंटर के डॉ. डेविड नेस ने कहा कि इसके बारे में यथार्थ देखना चाहिए। कोविड अमेरिका की आबादी के लिए पूरी तरह से खतरनाक है। ज्यादातर लोग राष्ट्रपति की तरह लकी नहीं हैं। ट्रंप को अभी तक ऐंटीवायरल ड्रग रेमडेसिविर की सारी खुराकें भी नहीं दी गई हैं। उन्हें पांचवी और आखिरी खुराक मंगलवार को दी जानी है।

loading...
loading...

Check Also

बिहार में बीजेपी खेल रही बहुत बड़ा डबल-गेम, प्रदेश प्रभारी फडणवीस बोले- पीएम तो सबके हैं!

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ( Chirag Paswan ) द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र ...