Thursday , October 1 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / घर बैठे किराएदारों का वेरिफिकेशन कराएं, कैरेक्टर सर्टिफिकेट भी ऑनलाइन बनवाएं, ये है तरीका

घर बैठे किराएदारों का वेरिफिकेशन कराएं, कैरेक्टर सर्टिफिकेट भी ऑनलाइन बनवाएं, ये है तरीका

लखनऊ. किसी कंपनी, नौकरी के आवेदन या फिर अन्य किसी काम के लिये चरित्र प्रमाण पत्र बनवाना हो या फिर किराएदारों का सत्यापन कराना हो। इसके लिये अब दफ्तरों का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं। ये काम अब घर बैठे चुटकियों में हो जाएगा। लोगों की सहूलियत के लिये यह सुविधाएं ऑनलाइन कर दी गई हैं। इसके लिये शुल्क भी ऑनलाइन ही जमा होगा। इतना ही नहीं आवेदन के बाद प्रमाण पत्र के लिये दो-तीन महीने का इंतजार भी नहीं करना होगा। बिना दफ्तरों का चक्कर लगाए महज 15 दिन में ही चरित्र सत्यापन प्रमाण पत्र बनकर आपको आनलाइन उपलब्ध करा दिया जाएगा। किराएदारों का सत्यापन कराने के लिये किसी तरह की फीस नहीं देनी होगी।

पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय ने इस प्लान का खाका खींचा तो प्रक्रिया को ऑनलाइन करने में एडीसीपी अमित कुमार और एसीपी अवनीश्वर चन्द्र श्रीवास्तव की भूमिका मुख्य रही। इस सुविधा स पुलिस और पब्लिक दोनों को सहूलियत होगी। कम समय में ज्यादा प्रमाण पत्र बनाए जा सकेंगे तो वहीं लोगों को इसके लिये भागदौड़ से मुक्ति मिल जाएगी।

ये है आवेदन की प्रक्रिया

अब तक प्रमाण पत्र लेने के लिये लाइन में लगना पड़ता था, लेकिन यह सब अब बीते जमाने की बातें होंगी। लखनऊ पुलिस की वेबसाइट http://lucknowpolice.up.gov.in/ पर जाकर वहां नागरिक सुविधाएं कॉलम में चरित्र प्रमाण पत्र बनवाने के लिये डाउनलोड, प्रिंट और प्रमाण पुष्टि का ऑप्शन दिया गया हैँ। आवेदन करते ही यह थाना, डीसआरबी और एआइयू के पास पहुंच जाएगा। पुलिस जांच कर रिपोर्ट देगी, जिसके बाद आवेदक को सर्टिफिकेट जारी कर दिया जाएगा। इस प्रक्रिया में एक सप्ताह लगेगा। इसी तरह किराएदारों के सत्यापन के लिये किराएदार का नाम, फोन नंबर, मूल पता, मूल जिला/मूल पुलिस थाना/किराएदार का दस्तावेज- आधार कार्ड/पासपोर्ट/सरकारी आईडी कार्ड/अन्य, अपने संपत्ति के प्रकार (गृह,होटल,धर्मशाला,पीजी ),संपत्ति का नाम,प्रबंधक / स्वामी का नाम,अपने मोबाइल नंबर सम्मिट करना होगा।

ऑनलाइन चेक करें प्रमाण पत्र

चरित्र प्रमाण पत्र बनवाना तो आसान हुआ ही है, पहले से बने हुए प्रमाण पत्रों की जांच भी बेहद आसान कर दी गई हैं। पहले से बने चरित्र प्रमण पत्र भी उसी वेबसाइट पर चेक किये जा सकेंगे। यदि किसी कंपनी या संस्थान को लगता है कि उनके यहां दिया गया प्रमाण पत्र फर्जी है तो वह उपर दी हुई वेबसाइट पर विजिट कर प्रमाण पत्र की पुष्टि ऑनलाइन ही कर सकता है।

loading...
loading...

Check Also

हाथरस कांड पर बोले सपा नेता- रात में अंतिम संस्कार करते हो, आप हिंदू नहीं हो योगी जी..

हाथरस की बेटी का गैंगरेप और कत्ल किया जाता है। योगी की पुलिस और हाथरस ...