Sunday , March 7 2021
Breaking News
Home / क्रिकेट / चिदंबरम स्टेडियम भारतीय स्पिनरों की बोलती है तूती, धांसू है रेकॉर्ड, क्या टिक पाएगे गोरे ?

चिदंबरम स्टेडियम भारतीय स्पिनरों की बोलती है तूती, धांसू है रेकॉर्ड, क्या टिक पाएगे गोरे ?

भारतीय क्रिकेट टीम ने क्वॉरंटीन की अवधि खत्म करने और कोरोना टेस्ट में नेगेटिव आने के बाद चेन्नै के एमए चिदंबरम स्टेडियम का रुख किया। जब टीम अपने पहले आउटडोर सेशन के लिए ग्राउंड पहुंची तो कई खिलाड़ी सबसे पहले पिच की ओर गए। इनमें रविचंद्रन अश्विन और वॉशिंगटन सुंदर आगे रहे। इन दोनों खिलाड़ियों का यह होमग्राउंड है।

अश्विन का अनुभव और रेकॉर्ड

टीम इंडिया को चोटिल रविंद्र जाडेजा की सेवाएं उपलब्ध नहीं होंगी लेकिन उसके पास 74 टेस्ट मैचों के अनुभवी अश्विन के अलावा कुलदीप यादव, वॉशिंगटन सुंदर और अक्षर पटेल का ऑप्शन है। देखना होगा कि अश्विन के साथ किसकी जोड़ी बनाई जाती है। कुलदीप के पास तो केवल 6 टेस्ट का अनुभव है लेकिन वह अश्विन की पार्टनरशिप में विपक्षी बल्लेबाजों के लिए सिरदर्द साबित हो सकते हैं। 377 टेस्ट विकेट ले चुके अश्विन होमग्राउंड पर दो टेस्ट मैचों में 13 विकेट हासिल कर चुके हैं।

आंकड़े भारत के पक्ष में

हालांकि, लंबे अर्से के बाद वह यहां कि पिच के दीदार कर रहे होंगे और इनकी दिलचस्पी इस बात को लेकर भी होगी कि क्या परंपरा के मुताबिक इस बार भी यहां उनकी तरह के बोलर्स यानी फिरकी गेंदबाजों को मदद मिलेगी या नहीं। अश्विन और सुंदर की जोड़ी इस मैच में बनेगी या नहीं, स्पिनर्स की मददगार पिच होगी या नहीं, इसके लिए थोड़ा और इंतजार करना होगा लेकिन आंकड़े पूरी तरह भारत के पक्ष में हैं और फिरकी के खेल में भारत मेहमान टीम इंग्लैंड पर बहुत भारी नजर आ रहा है।

याद होगा आखिरी टेस्ट मैच

भारतीय टीम दिसंबर, 2016 के बाद पहली बार चेन्नै में टेस्ट मैच खेलेगी। तब भारत के सामने इंग्लैंड की टीम ही थी। मेहमान टीम को वह मैच अब भी याद होगा जब भारत ने करुण नायर के 303* और केएल राहुल के 199 रन के बूते अपना रेकॉर्ड टेस्ट स्कोर (759/7) बना डाला था और फिर दूसरी इनिंग्स में रविंद्र जाडेजा की घातक गेंदबाजी (7/48) के बूते वह मैच इनिंग्स और 75 रन से जीत लिया था। इंग्लिश खेमा उस मैच को ध्यान में जरूर रखेगा।

​रेकॉर्ड स्पिनर्स के पक्ष में

टीम इंडिया ने पिछले 35 साल में चेन्नै में केवल एक टेस्ट मैच गंवाया है। यहां मिली सफलताओं में स्पिनर्स का बड़ा रोल रहा है। चिदंबरम स्टेडियम की पिच पर सबसे सफल 10 बोलर्स में नौ स्पिनर्स हैं। टॉप पर अनिल कुंबले हैं जिनके नाम 8 टेस्ट मैचों से 48 विकेट हैं जबकि हरभजन सिंह ने 7 टेस्ट मैचों में यहां 42 विकेट हासिल किए हैं। नरेंद्र हिरवानी ने तो यहां अपने डेब्यू टेस्ट मैच में ही 16 विकेट ले लिए थे।

loading...
loading...

Check Also

पीएम मोदी की ब्रिगेड परेड से हुंकार, कहा-जो भी बंगाल से छीना गया है, उसे वापस लौटाएंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को चुनाव प्रचार के लिए पश्चिम बंगाल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने ...