Thursday , July 16 2020
Breaking News
Home / क्राइम / चीन से विवाद के बीच बड़ी चोट देने की फिराक में पाक, लेकिन भारत ने चाल पहले ही ली भांप

चीन से विवाद के बीच बड़ी चोट देने की फिराक में पाक, लेकिन भारत ने चाल पहले ही ली भांप

पिछले कुछ महीनों से पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर फायरिंग (LOC Firing) बढ़ा दी है। जम्मू में भी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सीजफायर का उल्लंघन (Ceasefire violation) करके पाकिस्तान की ओर से आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिशें जारी हैं। इसी के मद्देनजर बॉर्डर सिक्यॉरिटी फोर्स (बीएसएफ) ने जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गश्त बढ़ा दी है। एक तरफ चीन से तनाव के बीच पाकिस्तान फायदा उठाने की फिराक में है। इसके बावजूद कश्मीर में आर्मी और अन्य सुरक्षाबलों के जवान पाकिस्तान को लगातार करारा जवाब दे रहे हैं।

पाकिस्तान की ओर से लगातार फायरिंग की जा रही है। साथ ही साथ ड्रोन की मदद से हथियार और गोला बारूद भेजने की कोशिशें हो रही हैं। हाल ही में सेना ने शोपियां में आतंकियों के तीन ठिकाने भी ध्वस्त किए, जहां आतंकियों ने पूरी गृहस्थी बना रखी थी। कठिन परिस्थितियों के बावजूद सुरक्षाबलों के जवान सीमा पर डटे हुए हैं और किसी भी प्रकार के हमले की आशंकाओं को खत्म कर रहे हैं।

देश के लिए हर चुनौती से निपटने को तैयार हैं जवान
सीमा पर चौकसी कर रहे बीएसएफ के एक जवान ने बताया, ‘हम पूरे जोश के साथ अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। हम 24 घंटे सीमा से लगे इलाकों में पट्रोलिंग कर रहे हैं। हम सुरंगों की भी तलाश कर रहे हैं और पाकिस्तान की ओर से आने वाले किसी भी प्रकार के ड्रोन का मार गिराने के लिए तैनात हैं।’

जम्मू में सीमा पर तैनात एक और जवान ने कहा, ‘हम पाकिस्तान की ओर से होने वाली घुसपैठ को रोकने के लिए सीमा की सुरक्षा कर रहे हैं। हम अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं और देश के लिए हर चुनौती से निपटने को तैयार हैं।’

ड्रोन से हथियार भेजने की कोशिश कर रहा पाकिस्तान
आपको बता दें कि बीते शनिवार को पाकिस्तान की ओर से आए एक ड्रोन को कठुआ जिले में मार गिराया गया था। इस ड्रोन पर कई सारे ग्रैनेड, राइफल्स और अन्य हथियार मौजूद थे। पाकिस्तान इन दिनों लगातार फायरिंग की आड़ में आतंकियों को भारत की सीमा में दाखिल कराने की कोशिश कर रहा है।

पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में नशीले पदार्थों की भी तस्करी कर रहा है, साथ ही आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने में लगा हुआ है। बीएसएफ के आंकड़ों के मुताबिक, इस साल पाकिस्तान की ओर से आने वाले अवैध हेरोइन, गांजा और चरस की तस्करी पिछले साल की तुलना में 47 पर्सेंट बढ़ गई है।

Check Also

कोरोना: हॉस्पिटल ने मरीज़ का माफ किया ₹1.52 करोड़ का बिल, वजह भी जान लीजिये

कोरोना वायरस की वजह से बहुत से लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। सरकारी अस्पताल में ...