Sunday , September 27 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / छत्तीसगढ़ में कोरोना का महा-विस्फोट, संक्रमित होने की आशंका पर जांच जरूरी, मना किया तो FIR

छत्तीसगढ़ में कोरोना का महा-विस्फोट, संक्रमित होने की आशंका पर जांच जरूरी, मना किया तो FIR

रायपुर. छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। उतनी ही तेजी से मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है और रिकवरी रेट नीचे गिरने लगा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों की बात करें तो 7 दिन में 4607 केस मिले हैं। जबकि 55 लोगों की मौत हो चुकी है। इसे देखते हुए रायपुर जिला प्रशासन ने 8 प्वाइंट पर दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

केस 5 से ज्यादा मिले तो इलाका बनेगा कंटेनमेंट जोन
जिला प्रशासन की ओर से जारी किए गए निर्देशों में कहा गया है कि आशंका होने पर व्यक्ति का कोरोना टेस्ट कराया जाना अनिवार्य है। संबंधित व्यक्ति इससे इनकार नहीं कर सकता है। ऐसा करने पर उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। वहीं अगर किसी इलाके में 5 से ज्यादा मरीज मिलते हैं तो उसे कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा।

हर जोन में डिप्टी कलेक्टर रेंज के अधिकारी बनाए गए हैं इंसीडेंट कमांडर
रायपुर में 13 जोन बनाए गए हैं। हर जोन में डिप्टी कलेक्टर रेंज के अधिकारियों को इंसीडेंट कमांडर बनाया गया है। अधिकारियों के कार्य में लापरवाही बरतने पर कलेक्टर ने नाराजगी जताई है। अधिकारी खुद कार्य नहीं कर बल्कि अपने अधीनस्थ कर्मचारियों पर छोड़ दे रहे हैं। अब सभी अधिकारियों की हर सप्ताह शुक्रवार को बैठक ली जाएगी।

पिछले सात दिनों में प्रदेश की स्थिति

दिनांक पॉजिटिव मिले कुल पॉजिटिव एक्टिव केस मौत कुल मौत
20 अगस्त 1052 18637 6726 8 172
19 अगस्त 752 17858 6236 6 164
18 अगस्त 808 16833 5828 8 158
17 अगस्त 404 16025 5277 8 150
16 अगस्त 576 15621 5244 8 142
15 अगस्त 486 15045 4865 4 134
14 अगस्त 529 14559 4572 13 130

टेस्ट कराने वालों के पते और मोबाइल नंबर क्रॉस चेक होंगे

  • अगर एक्टिव सर्विलांस या किसी अन्य माध्यम से किसी व्यक्ति के संक्रमित होने की आशंका होने पर संबंधित व्यक्ति का टेस्ट कराया जाना अनिवार्य है। इनकार करने पर एफआईआर दर्ज कराई जाए।
  • अगर किसी कोरोना संक्रमित मरीज की मृत्यु होती है तो उसके परिवार के सभी सदस्यों का टेस्ट किया गया है या नहीं। परिवार के एक्टिव सर्विलांस के लिए रिपोर्टिंग नहीं होने पर जिम्मेदार पर कार्यवाही होगी।
  • लगातार इस बात की शिकायत मिल रही थी कि कांटेक्ट सूची में कई मरीजों के नाम और पते गलत मिले। जिसके कारण उन्हें ट्रेस करने में देर हुई। इसके लिए अब स्वास्थ्य कर्मचारी सभी मरीजों को क्रॉस चेक करेंगे।
  • अगर किसी कार्यालय या दुकान में कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिले या संक्रमित मिला कोई मरीज 14 दिनों में वहां आया और गया हो तो 48 घंटे तक प्रतिष्ठान बंद कर सैनिटाइज कराना होगा। ऐसा नहीं करने पर एफआईआर दर्ज होगी।

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण
एक्टिव केस 6726 :
 दुर्ग से 1023, राजनांदगांव 298, बालोद 138, बेमेतरा 24, कबीरधाम 39, रायपुर 2726, धमतरी 33, बलौदाबाजार 122, महासमुंद 88, गरियाबंद 52, बिलासपुर 324, रायगढ़ 466, कोरबा 115, जांजगीर-चांपा 84, मुंगेली 17, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही 0, सरगुजा 118, कोरिया 90, सूरजपुर 49, बलरामपुर 12, जशपुर 71, बस्तर 194, कोंडागांव 116, दंतेवाड़ा 71, सुकमा 191, कांकेर 140, नारायणपुर 48, बीजापुर 60

कुल केस 18637 : दुर्ग से 1937, राजनांदगांव 1359, बालोद 249, बेमेतरा 208, कबीरधाम 275, रायपुर 6554, धमतरी 97, बलौदाबाजार 582, महासमुंद 292, गरियाबंद 175, बिलासपुर 1172, रायगढ़ 793, कोरबा 547, जांजगीर-चांपा 641, मुंगेली 198, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही 33, सरगुजा 382, कोरिया 242, सूरजपुर 152, बलरामपुर 257, जशपुर 361, बस्तर 455, कोंडागांव 230, दंतेवाड़ा 222, सुकमा 292, कांकेर 423, नारायणपुर 325, बीजापुर 151

मौत 172 : दुर्ग 23, राजनांदगांव 8, बेमेतरा 1, रायपुर 93, धमतरी 1, बलौदाबाजार 3, महासमुंद 5, गरियाबंद 1, बिलासपुर 8, रायगढ़ 7, कोरबा 1, जांजगीर चांपा 6, सरगुजा 2, सूरजपुर 1, कोरिया 2, बस्तर 2, दंतेवाड़ा 2, बीजापुर 1, अन्य 5

Check Also

अच्छी खबर : इस वैक्सीन ने बढ़ाई दुनिया की उम्मीद, एक डोज में ही ठीक हो सकता है मरीज

कोरोनावायरस वैक्सीन की रेस में एक और नाम शामिल हो गया है। जॉनसन एंड जॉनसन ...