Sunday , January 24 2021
Breaking News
Home / ख़बर / जयपुर में भी बर्ड फ्लू : जलमहल की पाल पर मिले मरे हुए कौवे, प्रशासन हुआ अलर्ट

जयपुर में भी बर्ड फ्लू : जलमहल की पाल पर मिले मरे हुए कौवे, प्रशासन हुआ अलर्ट

राजस्थान के झालावाड़ में कौओं की मौत के बाद जयपुर में भी बर्ड फ्लू की दस्तक हो गई है। रविवार को शहर के प्रमुख पर्यटन स्थल जयपुर-आमेर रोड पर स्थित जल महल की पाल पर आठ कौवों की मौत की खबर आई। इसके बाद रक्षा संस्थान की एंबुलेंस मौके पर पहुंची। यहां जल महल की पाल पर मृत कौवों के लिए सैंपल लिए जा रहे है। यहां कौओं की मौत की खबर सामने आने के बाद पक्षी विशेषज्ञ जयपुर में भी बर्ड फ्लू की आशंका जता रहे है।

अब तक प्रदेश में जयपुर सहित कई जिलों में 245 कौओं की मौत

वहीं, प्रदेश के कई जिलों में कौओं की मौत की खबर आने के बाद रविवार को पशुपालन विभाग के अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई गई। इसमें प्रमुख सचिव कुंजीलाल मीणा और सचिव आरुषि मलिक मौजूद रहे। जिसमें उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि अब तक प्रदेश में 245 कौवों की मौत की खबर प्रदेशभर से आई है। इनमें राजधानी जयपुर सहित, कोटा, झालावाड़, बारां, पाली में मामले सामने आए है। अब तक बर्ड फ्लू के चलते झालावाड़ में 100, बारां में 72, कोटा में 47, पाली में 19 कौवों की मौत हुई है।

राज्य स्तरीय कंट्रोल रुम का गठन किया

प्रमुख शासन सचिव कृषि एवं पशुपालन कुंजीलाल मीणा, सचिव पशुपालन आरुषि मलिक ने कहा कि 26 दिसंबर को झालावाड़ में कौवों की मौत की जानकारी मिली थी। इसके बाद 27 दिसंबर को उनके सैंपल भोपाल भेजे गए थे। 29 दिसंबर को बर्ड फ्लू की रिपोर्ट सामने आई।। इसके बाद मामले में निगरानी रखने और जांच पड़ताल के लिए पशुपालन निदेशालय ने राज्य स्तरीय कंट्रोल रुम का गठन किया। यहां बर्ड फ्लू को कंट्रोल करने का प्रयास किया जा रहा है।

रेस्पांस टीमें गठित की गई, सांभर और केवलादेव उद्यान सहित अन्य जगहों पर भेजा जाएगा

प्रमुख सचिव कुंजीलाल ने कहा कि कौओं की मौत को लेकर रेस्पांस टीमें गठित की गई है, जो कि प्रदेश में जहां भी कौओं की मौत की खबर आ रही है। वहां पहुंचकर सैंपल ले रही है। वे आसपास के इलाकों में सर्विलांस कर रही है। इन दोनों अफसरों ने फिलहाल मोरों की मौत का बर्ड फ्लू से संबंध होने से इंकार किया है।

आमजन को सतर्क करने के लिए पंपलेट व पोस्टर बनवाए गए

कुंजीलाल मीणा ने कहा कि लोगों को सतर्क करने के लिए पंपलेट, पोस्टर बनवाए गए है। सभी संभागों में अलर्ट किया गया है। सभी संभागों में टीमें भेजी जा रही है। इनमें एक टीम सांभर और केवलादेव भी भेजी जा रही है। पहली बार राजस्थान में बर्ड फ्लू से कौओं की मौत का मामला सामने आया है। लेकिन अभी यह खतरा ज्यादा बड़ा नहीं है। हम भारत सरकार के साथ भी सूचनाएं साझा कर रहे है, ताकि राजस्थान समन्वय बनाकर काम कर सकें।

loading...
loading...

Check Also

छिपकली-चूहे हों या मच्छर-कॉकरोच, ये है सबको भगाने के आसान तरीके

मौसम बदलने के साथ ही इन सभी कीट, कीड़े मकोड़ों का आतंक सभी घरों में ...