Tuesday , November 24 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / 31 दिसंबर तक मुंबई में स्कूल रहेंगे बंद, जानिए क्या है आपकी सरकार का फैसला?

31 दिसंबर तक मुंबई में स्कूल रहेंगे बंद, जानिए क्या है आपकी सरकार का फैसला?

मुंबई/चंडीगढ़
अनलॉक की प्रक्रिया के तहत छूट मिली तो कई राज्यों ने कोरोना गाइडलाइन के पालन और सतर्कता के दावे के साथ दोबारा स्कूल खोले। हालांकि अब बच्चों और टीचर तक कोरोना संक्रमण पहुंचने से सरकार और प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए हैं। इस वजह से कई राज्यों में स्कूलों को दोबारा बंद करने का फैसला लिया जा रहा है। वहीं मुंबई ने फिलहाल इस साल स्कूल न खोलने का फैसला किया है।

हरियाणा के तीन जिलों में 150 से अधिक स्कूल छात्र कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। यहां अब कुछ दिन स्कूल बंद रहेंगे। दूसरी ओर गुजरात में महामारी के नए केस में इजाफा होने के बाद स्कूल खोलने के फैसले को टाल दिया गया है। इससे पहले हिमाचल, मिजोरम और उत्तराखंड में भी कोरोना संक्रमण के कारण स्कूलों को बंद कर दिया गया।

मुंबई में इस साल नहीं खुलेंगे स्कूल
मुंबई में पहले 23 नवंबर से 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू होने वाली थीं लेकिन फिलहाल कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बीएमसी ने 31 दिसंबर तक स्कूल बंद रखने का फैसला लिया है। मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा, बीएमसी के क्षेत्राधिकार में आने वाली सभी स्कूल 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे। मुंबई में कोरोना के मामले फिर से बढ़ने की वजह से यह फैसला लिया है। अब 23 नवंबर से स्कूल नहीं खुलेंगे।

हरियाणा में 150 से अधिक छात्रों को कोरोना, बंद हुए स्कूल
हरियाणा के तीन जिलों में 150 से अधिक स्कूली छात्रों के कोरोना पॉजिटिव निकलने की वजह से शैक्षिक संस्थानों को कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया गया है।अधिकारियों ने बताया कि 9 वीं से 12वीं के कोरोना संक्रमित सभी छात्रों की सेहत स्थिर है और उनमें से अधिकतर होम आइसोलेशन में हैं। रेवाड़ी जिले के 13 स्कूलों में 91 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए जबकि जींद के कई स्कूलों में कुल 30 छात्र और 10 टीचरों को संक्रमण हुआ।

इसी तरह झज्जर जिले के 34 छात्र और दो अध्यापक कोविड-19 की चपेट में आ गए। बता दें कि हरियाणा में 9 से 12 कक्षा तक के छात्रों के लिए 2 नवंबर से स्कूल खोले गए थे। हालांकि छात्रों को पैरंट्स की अनुमति के साथ ही स्कूल आने की इजाजत थी।

गुजरात में अब 23 नवंबर से नहीं खुलेंगे स्कूल
गुजरात में बढ़ते कोरोना मामलों की वजह से स्कूल खोलने की डेट को आगे बढ़ा दिया गया है। फिलहाल अगले आदेश तक गुजरात में सभी सरकारी और प्राइवेट शैक्षिक संस्थान बंद रहेंगे। बता दें कि गुजरात में पहले 23 नवंबर से स्कूल खोलने की तैयारी थी लेकिन यहां एक बार फिर कोरोना के नए मामलों में वृद्धि देखी जा रही है। ऐसे में सरकार और शिक्षा विभाग स्कूल खोलने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करते हुए इसे अगले आदेश तक टाल दिया है।

हिमाचल में 25 नवंबर तक सभी स्कूल-कॉलेज बंद

इससे पहले हिमाचल प्रदेश में भी छात्रों और अध्यापकों तक कोरोना संक्रमण पहुंचने की वजह से एक हफ्ते बाद ही स्कूलों को दोबारा बंद कर दिया गया था। 10 नवंबर को हिमाचल प्रदेश कैबिनेट ने स्कूल, कॉलेज, पॉलिटेक्नीक कॉलेज, आईटीआई और कोचिंग सेंटर समेत सभी शैक्षणिक संस्थानों को 11 नवंबर से 25 नवंबर तक बंद रखने का फैसला किया था।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के गृहजनपद मंडी में एक बोर्डिंग स्कूल में 70 छात्र और 25 टीचर और स्टाफ सदस्य संक्रमित पाए गए थे। इसके अलावा दूसरे स्कूलों में भी बच्चों तक संक्रमण फैलने की रिपोर्ट सामने आई थी। खतरे की घंटी भांपते हुए सरकार ने स्कूल बंद रखने का फैसला किया। हिमाचल प्रदेश में 9 से 12 कक्षा के छात्रों के लिए 2 नवंबर से स्कूल खोले गए थे।

मिजोरम में 15 छात्र कोरोना पॉजिटिव, बंद हुए स्कूल
मिजोरम में भी दो प्राइवेट स्कूलों में 15 स्कूली छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। संक्रमण के खतरे को देखते हुए मिजोरम सरकार ने सभी स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया गया। यहां 16 अक्टूबर को 10वीं और 12 के छात्रों के लिए स्कूल खोले गए थे। लेकिन राज्य में बढ़ते कोरोना मामलों की वजह से स्कूल फिर से बंद करने के आदेश दिए गए।

उत्तराखंड में खुलने के 5 दिन बाद ही स्कूल बंद
उत्तराखंड में भी स्कूल खुलने के 5 दिन बाद ही 6 नवंबर को 84 स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया था। यहां पौड़ी गढ़वाल जिले के 23 स्कूलों के 80 शिक्षकों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। हालांकि यहां पांच दिनों के लिए स्कूल बंद किए गए थे ताकि उन्हें साफ करके फिर से खोला जा सके।


आंध्र प्रदेश में 879 शिक्षकों और 575 छात्रों को हुआ था कोरोना

इससे पहले आंध्र प्रदेश में 879 शिक्षकों और 575 छात्रों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इससे पूरे राज्य में हड़कंप मच गया था। हालांकि अधिकारियों का कहना था कि स्कूल खोलने से पहले बच्चों और टीचर्स का कोरोना टेस्ट किया गया था इसी वजह से केस सामने लगे हैं।

ओडिशा में इस साल नहीं खुलेंगे स्कूल, तमिलनाडु ने भी टाला फैसला
आंध्र प्रदेश में तो स्कूल बंद नहीं हुए लेकिन पड़ोसी राज्य ओडिशा ने 16 नवंबर से स्कूल खोलने की अपनी योजना को टाल दिया। यहां अब 31 दिसंबर तक स्कूल बंद रहेंगे। इसी तरह तमिलनाडु और कर्नाटक में भी भी फिलहाल स्कूल नहीं खोले गए हैं। तमिलनाडु में पहले कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों के लिए 16 नवंबर से स्कूल खोलने का फैसला लिया गया था लेकिन पैरंट्स ने स्कूल खोलने पर चिंता जताई थी। ऐसे में फिलहाल स्कूल बंद रखने का फैसला लिया। राज्य में यूनिवर्सिटी और कॉलेज 2 दिसंबर से खोले जाएंगे।

कर्नाटक में कॉलेज खुले, स्कूल पर फैसला बाद में
इसी तरह कर्नाटक में बढ़ते कोरोना मामलों की वजह फिलहाल स्कूल खोलने के फैसले को टाल दिया गया है। यहां 17 नवंबर से डिग्री और पोस्टग्रैजुएट कॉलेज खोले गए हैं। उपमुख्यमंत्री सीएन अश्वनाथ नारायण का कहना है कि कॉलेज में छात्रों की उपस्थिति की संख्या के आधार पर ही स्कूल खोलने का फैसला लिया जाएगा।

स्कूल खोलने का अंतिम फैसला राज्यों का
बता दें कि अनलॉक 4 के तहत केंद्र सरकार ने 21 सितंबर से आंशिक रूप से 9वीं से 12वीं कक्षा तक के लिए कक्षाएं शुरू करने की छूट दी थी। कुछ राज्यों ने गाइडलाइन का पालन करते हुए स्कूल खोले, वहीं कुछ राज्यों ने बढ़ते संक्रमण और बच्चों के स्वास्थ्य को देखते हुए स्कूलों को बंद रखने का फैसला लिया था। गृह मंत्रालय और शिक्षा मंत्रालय ने दिशानिर्देश भी जारी किए हैं, हालांकि स्कूल खोलने पर अंतिम फैसला राज्यों को खुद ही लेना है।

loading...
loading...

Check Also

सरेआम धुलाई : पाकिस्तानी मंत्री ने शेयर की फेक न्यूज, पोल खोलकर बोला फ्रांस- ‘झूठी..’

इस्लामाबाद फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मैन्युअल मैक्रों पिछले काफी वक्त से मुस्लिम देशों के निशाने पर ...