Sunday , September 27 2020
Breaking News
Home / क्राइम / जीजा ने साले को कुएं में धकेला, पत्थर के सहारे दो दिन टिका रहा, फिर हुआ कुछ ऐसा

जीजा ने साले को कुएं में धकेला, पत्थर के सहारे दो दिन टिका रहा, फिर हुआ कुछ ऐसा

चित्तौड़गढ़. जाको राखे साइयां मार सके ना कोई वाली कहावत शनिवार उस समय चरितार्थ हुई जब कुंए में किसी अपने के ही द्वारा धकेले गए 17 साल के लड़के को दो दिन बाद ग्रामीणों ने सुरक्षित निकाल लिया। कुंए में एक बकरे के गिर जाने पर उसे बचाने पहुंचे ग्रामीणों ने लड़के को भी बाहर निकाला। लड़के को उसका ही जीजा कुंए में धकेल कर चला गया था।

कुंए से बकरे को निकालने गए थे, लड़के को वहां पाकर ग्रामीण चकित रह गए
गांव हथियाना और कीरखेडा के बीच रास्ते के पास शनिवार को एक चरवाहे का बकरा कुंए में गिर गया। जब ग्रामीण बकरे को निकालने कुंए के पास गए तो अंदर से बचाओ-बचाओ की आवाज आई। ग्रामीणों ने कुंए में झांका तो यह देखकर चकित रह गए कि एक लड़का पानी में पत्थर के सहारे टिका हुआ था। ग्रामीणों ने बकरे के साथ उसे भी बाहर निकाला।

मध्यप्रदेश का रहने वाला है
लड़के ने अपना नाम-पता मध्यप्रदेश के नयागांव निवासी देवीलाल कुम्हार पिता रोडी लाल बताया। उसने बताया कि गुरुवार को उसका जीजा उसे बाइक पर सांवलियाजी और शनि महाराज मंदिर लेकर आया था। यहां मार्ग पर बाइक बंद होने पर उसके जीजा ने पेड़ से डाली तोड़ कर लाने एंव टंकी में पेट्रोल चेक करने को कहा।

मदद के लिए आवाजें लगाता रहा लेकिन कोई नहीं आया
जब डाली तोड़ रहा था वहां झाड़ियों से घिरा कुंआ था। तभी उसके जीजा ने उसे कुंए में धकेल दिया और वहां से चला गया। लड़के ने बताया कि उसके बाद से वह लगातार मदद के लिए आवाजें लगाता रहा लेकिन किसी ने नहीं सुना। वह कुंए में पत्थर के सहारे टिका रहा। सूचना पर पुलिस मौके पर पंहुची और उसके परिजनों को बुलाया गया। परिजन उसे अपने साथ ले गए। परिजनों ने अपने ही क्षेत्र के थाने में इसका मामला दर्ज करवाने की बात कही है।

Check Also

चीन को लाइन पर लाने के लिए सुगा का बड़ा फैसला, सेना पर खर्चेंगे सबसे ज्यादा पैसा !

चीन की वैश्विक गुंडई मानो थमने का नाम नहीं ले रही है, और ऐसे में ...