Thursday , March 4 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / ‘जो JNU और दिल्ली दंगों में हुआ, वही लाल किला हिंसा में भी होगा, आरोपी को छोड़ सब पकड़े जाएंगे’

‘जो JNU और दिल्ली दंगों में हुआ, वही लाल किला हिंसा में भी होगा, आरोपी को छोड़ सब पकड़े जाएंगे’

अभिनेता और भाजपा सांसद सनी देओल उसे छोटा भाई बता चुके हैं। वह सनी देओल के करीब रहकर चुनाव प्रचार कर चुका है। सनी देओल के साथ उसकी कई तस्वीरें सार्वजनिक रूप से मौजूद हैं।

वह दिल्ली में हिंसा भड़काने वालों की अगली कतार में है। सनी देओल कह रहे हैं मैं उसे जानता तक नहीं।

उसकी नरेन्द्र मोदी के साथ तस्वीरें हैं। उसके बीजेपी से जुड़े होने संबंधी मीडिया रिपोर्ट हैं। लेकिन इसे झुठलाया जाएगा।

2019 के लोकसभा चुनाव में सनी देओल के पूरे प्रचार में वह उनके साथ था। सनी के साथ दीप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की थी।

दीप खुद को बीजेपी सांसद सनी देओल का कज़िन बताता है। पीएम और सनी देओल के साथ दीप के कई फ़ोटो वायरल हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा दीप सिद्धू से पहले से ही किनारा करता रहा है. ये शख्स बार बार किसान आंदोलन में नेता बनने की कोशिश कर रहा था जिसे बार बार भगाया गया।

द ट्रिब्यून ने लिखा है, ‘लाल किले पर दीप सिद्धू ने ही उस युवक को केसरी झंडा लगाने के लिए दिया था।’ ये वही आदमी है जिसे एक महीने पहले किसान नेताओ ने इस “आंदोलन का दुश्मन” बताया था।

अखबार के मुताबिक, इसी व्यक्ति ने परेड से एक दिन पहले तय रुट से न जाने के लिए किसानों को भड़काया।

दीप सिदधू के साथ एक लाखा सिधाना है जो गैंगस्टर है। उस पर दो दर्जन मुकदमे हैं। ये दोनों आंदोलन को सांप्रदायिक बनाने की पूरी कोशिश में लगे थे।

पहले ये एक्टर था, फिर किसान बन गया। आंदोलन को कम्युनिस्टों का आंदोलन बता रहा था और इसके संगठन को कुछ खालिस्तानी तत्वों का समर्थन मिल रहा था।

लेकिन जैसा कि शाहीनबाग और जेएनयू मामलों में हुआ, जैसा दिल्ली दंगों के मामले में हुआ, आरोपी को छोड़कर सभी पकड़े जाएंगे। बाकी आप समझदार हैं।

(यह लेख पत्रकार कृष्णकांत की फेसबुक वॉल से साभार लिया गया है. यह लेखक के निजी विचार हैं.)

loading...
loading...

Check Also

INDvsENG : मैदान पर उलझे विराट और बेन स्टोक्स, अंपायर को कराना पड़ा बीच-बचाव, देखें वीडियो

Ind Vs Eng 4th Test: भारत और इंग्लैंड (India Vs England) के बीच चौथा टेस्ट ...