Thursday , November 26 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / ट्रंप ने 4 साल में बोले 20,000 से ज्यादा झूठ, भीम आर्मी चीफ बोले- हमारे मोदी जी कम हैं क्या?

ट्रंप ने 4 साल में बोले 20,000 से ज्यादा झूठ, भीम आर्मी चीफ बोले- हमारे मोदी जी कम हैं क्या?

नई दिल्ली। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने चार साल के कार्यकाल में बीस हजार से ज्यादा झूठ बोले हैं। इसका खुलासा एक फैक्ट चेक करने वाली वेबसाइट पोलिटीफैक्ट ने किया है। रिपोर्ट के मुताबिक 2016 से लेकर अबतक ट्रंप के आधे से अधिक बयान झूठे थे। वॉशिंगटन डेटाबेस के मुताबिक उन्होंने अपना कार्यभार संभालने के बाद दिनोंदिन अधिक संख्या में झूठी बयानबाजी की थी। बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप ने हाल ही में मतगणना के दौरान भी झूठ बोलना नहीं छोड़ा था जिसके चलते अमेरिका के टीवी नेटवर्क ने उनका प्रसारण रोक दिया था।

डोनाल्ड ट्रंप ने अपने कार्यकाल के दौरान सबसे ज्यादा झूठ मजबूत अर्थव्यवस्था के निर्माण को लेकर कहा। उन्होंने यह दावा 407 बार किया कि उन्होंने सबसे मजबूत अमेरिकी अर्थव्यवस्था का निर्माण किया है। जबकि हकीकत यह है कि ट्रंप के कार्यकाल से अधिक मजबूत अर्थव्यवस्था आइजनहावर, लिंडन बी जॉनसन और बिल क्लिंटन के दौर में थी।

इसी तरह उन्होंने मैक्सिको बॉर्डर पर अवैध प्रवासियों को रोकने को लेकर दीवार बनाने का 262 बार ऐलान किया। बीते चार सालों में वह बार-बार कहते रहे कि जल्द ही इस दीवार को बनाने का काम पूरा होने वाला है। जबकि हकीकत यह है कि एक कंक्रीट की दीवार बनाने का काम शुरू हुआ है, जबकि पहले से मौजूद बाड़ के कुछ हिस्सों को बढ़ाया है। इसी तरह वह कई तरह के दावे बीते चार सालों में करते रहे।

इसके बाद भारतीय राजनीति में भी यह झूठ बोलने का मुद्दा चर्चाओं में है। विपक्षी राजनीतिक दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाते रहे हैं। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद वह अब पीएम मोदी को भी झूठा बता रहे हैं। भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने अपने ट्वीट में पूछा- अमेरिका में 4 साल से कम समय में डोनाल्ड ट्रंप ने 20 हजार से भी ज्यादा झूठ बोले। हर साल 2 करोड़ रोजगार, काला धन वापस, 15 लाख, सीमा सुरक्षा, महंगाई खत्म, भ्रष्टाचार मुक्त भारत, 5 ट्रिलियन इकनॉमी, गिनती करके देख लीजिए। झूठ बोलने के मामले में हमारे मोदी जी ट्रंप से कम हैं क्या?

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता आईपी सिंह ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा- ‘सुनिए नोटबन्दी पर कैसे झूठ पर झूठ बोले थे मोदी ने और देशवासियों को 2019 में भूल सुधार का मौका मिला लेकिन हम चूक गए,ठगों के मायाजाल में फंस गये जिसका परिणाम देश भुगत रहा है दूसरी तरफ अमेरिकियों ने फटाफट 4 साल बाद भूल सुधार कर लिया…..।’

विनोद कुमार दीक्षित नाम के ट्विटर हैंडल ने लिखा, ‘अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने माना मोदी जी के कारण चुनाव हार गया क्योंकि अमेरिका की जनता भारत की जनता की तरह झूठ नहीं पसंद करती मेरी सबसे बड़ी गलती थी मोदी जी से झूठ सीखना।’

सत्य प्रतीक ने अपने ट्वीट में लिखा- ‘मोदी झूठ का नतीजा जो आपके मित्र ट्रम्प के लिये आया है वैसे का वैसा 2024 में आपका।’

बेरोजगार युवा क्रांतिकारी नाम के ट्विटर हैंडल ने लिखा, ‘जब लोकतंत्र का धुरंधर आ रहा हो तो अच्छे-2 जुमले बाजों के छक्के झूठ जाते हैं चाहे वह डोनाल्ड ट्रंप हो या मोदी जी अमित शाह! चलो एक लोकतंत्र हत्या के आरोपी का अंत हुआ है दूसरा और बाकी है भारत में एक जूमले बाज!!’

loading...
loading...

Check Also

बच्चों के नाम पर जरूर खोलें ₹150 से ये सरकारी खाता, पढ़ाई के लिए 19 लाख रुपए मिलेंगे

बच्चों की पढ़ाई अच्छे से हो और भविष्य में वो एक काबिल इंसान बन सके ...