Friday , February 26 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / हाल-ए-मौसम : 15 साल का रिकॉर्ड तोड़ी ठंड, डरावना है आगे का अलर्ट

हाल-ए-मौसम : 15 साल का रिकॉर्ड तोड़ी ठंड, डरावना है आगे का अलर्ट

जयपुर। राजस्थान में मौसम ने एक बार फिर सर्दी की ओर करवट ले ली है। पश्चिम विक्षोभ के कारण प्रदेश के ज्यादातर जिलों में न्यूनतम तापमान में एक साथ सात से दस डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई। माउंट आबू में सोमवार को पारा माइनस चार डिग्री पर पहुंच गया। यहां तापमान ने 15 साल का रेकॉर्ड तोड़े। कड़ाके की ठंड ने जनजीवन को प्रभावित हुआ। सवेरे दांत किटकिटा देने वाली सर्दी के चलते लोगों को भारी भरकम ऊनी लबादों का सहारा लेना पड़ा।

कड़ाके की ठंड से बचाव को लेकर लोग दिन चढऩे तक रजाइयों में ही दुबके रहे। अधिकतम तापमान में भी 0.6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने से तापमापी का पारा 20.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, प्रदेश में शहरी क्षेत्र के मुकाबले ग्रामीण इलाकों में ज्यादा रहा। जिससे दृश्यता भी प्रभावित रही। ओस से फसलें भी नम रही।

जिसका असर जन जीवन पर भी देखने को मिला। दोपहर में तेज धूप भी नम हवाओं पर भारी रही। शाम होते-होते सर्दी का असर बढ़ता गया। फतेहपुर में न्यूनतम तापमान 1.2 डिग्री और अधिकतम तापमान 19.2 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं चुरू, पिलानी और भीलवाड़ा में न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस से कम रहा।

माउंट आबू में जनवरी के अंतिम सप्ताह में 15 साल के 25 जनवरी के आंकड़े
2006 में 25 जनवरी को 2 डिग्री, 2007 में 5 डिग्री, 2008 में 1, 2009 में 5, 2010 में 3, 2011 में 4.4, 2012 में 3.4, 2013 में 3, 2014 में 1, 2015 में 4, 2016 में 3, 2017 में 10.4, 2018 में 1.4, 2019 में 3.2, 2020 में 4 और 2021 में 25 जनवरी को (-4) डिग्री तापमान रहा। न्यूनतम तापमान के (-4) डिग्री पर चले जाने से गत पंद्रह वर्षों का रिकार्ड टूट गया।

गिरेगा तापमान, बढ़ेगी सर्दी
इधर, स्काईमेट वेदर रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में सर्दी का असर और बढ़ेगा। रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश के अधिकांश भागों में न्यूनतम तापमान में गिरावट देखी जा सकती है। जिससे सर्दी एक बार फिर अपना रूप दिखाएगी। लेकिन दिन में धूप तथा वातावरण हल्का गर्म बना रहेगा। वहीं प्रदेश में यह सप्ताह पूरी तरह से शुष्क बना रहेगा। बरसात की कोई भी संभावना नहीं है।

loading...
loading...

Check Also

ये चीजें करती हैं हड्डियों को खोखला, पांचवी तो लड़कियों के लिए है ज़हर जैसी

हड्ड‍ियां शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो शरीर और मांसपेशि‍यों का आधार हैं। बेहतर स्वास्थ्य ...