Wednesday , October 21 2020
Breaking News
Home / देश / तीन मौतों के बाद DM ने CS से पूछा- मर रहे हैं लोग, क्या की है तैयारी?

तीन मौतों के बाद DM ने CS से पूछा- मर रहे हैं लोग, क्या की है तैयारी?

Image result for डेंगू

गोपालगंज। गोपालगंज जिले में डेंगू का ताडंव जारी है। हथुआ अनुमंडल क्षेत्र में डेंगू के मरीज लगातार मिल रहे हैं। मीरगंज में डेंगू से छात्रा समेत दो लोगों की मौत के बाद जिला प्रशासन ने इसे गंभीरता से लेते हुए इसके बचाव के उपाय के लिए सिविल सर्जन को अभियान चलाने का निर्देश दिया। डीएम ने सिविल सर्जन को पत्र भेजकर पूछा है कि डेंगू से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग ने क्या किया। डीएम ने पूछा कि लगातार डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस पर काबू पाने के लिए ठोस उपाय करने को आदेश दिया है। जिले में अभी तक डेंगू की बीमारी से तीन लोगों की मौत हो गई है।

आधा दर्जन लोग इसके पीड़ित हैं जो गोरखपुर और पटना में इलाज करा रहे हैं। सिविल सर्जन ने कहा कि डीएम के पत्र के आलोक में जांच और इलाज के लिए डॉक्टरों को आदेश दिया गया है। सिविल सर्जन ने बताया कि सदर अस्पताल में महज 10 डेंगू जांच कीट्स है जिसको हथुआ अनुमंडलीय अस्पताल को दिया जा रहा है। डीएम ने सिविल सर्जन को निर्देश दिया था कि उन्होंने रोगी कल्याण समिति या जिला स्वास्थ्य समिति से 100 डेंगू जांच कीट्स खरीदने का आदेश दिया था लेकिन समाचार लिखे जाने तक सीएस ने डेंगू जांच कीट्स खरीदने की दिशा में पहल नहीं की। सोमवार की शाम उचकागांव प्रखंड के सांखे खास गांव में एक युवक की डेंगू का इलाज कराने गोरखपुर जाने के क्रम में रास्ते में ही मौत हो गई। मीरगंज वार्ड 3 की 17 वर्षीय छात्रा पूजा कुमारी और 65 वर्षीय शेषनाथ मांझी की डेंगू से मौत हो गई। बताया जाता है कि पूजा के पिता मदन पटवा ने बताया कि 10 दिन पूर्व पूजा को बुखार हो रहा था।

स्थानीय स्तर पर जांच कराने पर डेंगू निकला और उसके बाद उसका इलाज एक स्थानीय निजी क्लीनिक में चलने लगा। इलाज के दौरान ही उसने दम तोड़ दिया। मृतक शेषनाथ मांझी के परिजनों ने बताया कि 1 सप्ताह पूर्व से उन्हें बुखार आ रहा था। जब जांच कराई गई तो डेंगू निकला इसके बाद उनका इलाज स्थानीय स्तर पर चलने लगा पर इस बीच उसने भी दम तोड़ दिया।ये दोनों मौत पिछले एक सप्ताह में हुई। जिले में 100 से ज्यादा डेंगू के मामले सामने आने की खबर है जिनका इलाज पटना ,गोरखपुर समेत कई जगहों पर चल रहा है। इस बीच हथुआ क्षेत्र में 5 नए रोगियों की पहचान की गई है।

नगर के वार्ड 10 के प्रभु दास तथा इशरत खातून को जांच में डेंगू होने की खबर मिली है। परिजन उन्हें लेकर गोरखपुर गए हैं। मुन्ना मियां और फरजाना में भी जांच के बाद प्लेटलेट्स कम होने के बाद डेंगू की पुष्टि होने की जांच की गई है। सीएस नंदकिशोर सिंह ने कहा कि जिला पदाधिकारी के पत्र के आलोक में सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रभारियों को जांच और इलाज करने का आदेश दिया गया है।

loading...
loading...

Check Also

Good News : कल से चलेगी दुर्ग-जम्मूतवी एक्सप्रेस, छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली 13 नई ट्रेनों का देखें टाइमटेबल

दुर्ग. कोरोना काल में रेलवे ने यात्रियों के लिए 13 नई पूजा स्पेशल ट्रेन चलाने का ...