Wednesday , September 23 2020
Breaking News
Home / ख़बर / दिल्ली में अब कोरोना केस हुए डेढ़ लाख, सिर्फ इतनों को मिला प्लाज्मा थेरेपी का लाभ

दिल्ली में अब कोरोना केस हुए डेढ़ लाख, सिर्फ इतनों को मिला प्लाज्मा थेरेपी का लाभ

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली मे कोरोना संक्रमितों की ( Coronavirus in Delhi ) संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। राजधानी में कोरोना वायरस ( Coronavirus case in india ) के मरीजों का यह आंकड़ा गुरुवार को डेढ़ लाख पर पहुंच गया। इनमें से अब तक 4100 लोग कोरोना वायरस ( Corona Death ) की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं दिल्ली में 90 फीसदी कोरोना पॉजिटिव ( Corona positive) स्वस्थ भी हुए हैं। दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ( Arvind Kejriwal Government ) ने कोरोना बुलेटिन ( Corona bulletin ) जारी करते हुए बताया कि पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस 956 नए मामले रिकॉर्ड किए गए हैं। इसी दौरान 913 कोरोना वायरस ( Corona Recovery Rate ) का हराकर फिर से सेहतमंद जीवन की शुरुआत भी की है।

दिल्ली सरकार के अनुसार बीते 24 घंटे के दौरान राजधानी दिल्ली में 14 लोग कोरोना वायरस की भेंट चढ़ गए हैं। कोरोना की तबाही का आलम यह है कि दिल्ली में अब तक 4,167 लोग कोरोना के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में कुल वायरस के 1,49,460 केस देखे गए हैं। इनमें से 1,34,318 लोग बिल्कुल ठीक हो चुके हैं। वहीं, दिल्ली में फिलहाल कोरोना के सक्रिय केसों का आंकड़ा 10,975 बना हुआ है। ये वो मरीज है, जिनका इलाज अलग—अलग अस्पतालों में चल रहा है। हालांकि 5762 कोरोना रोगियों का उपचार उनके घरों पर ही चल रहा है।

दिल्ली के हॉस्पिटलों में 14,016 बेड कोरोना मरीजों के लिए रिज

वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली में फिलहाल कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति काफी नियंत्रण में है। दिल्ली में सभी पैरामीटर्स अच्छे हैं। जबकि कोरोना से होनें वाली औसतन मौतों में भी कमी देखने को मिली है। दिल्ली के हॉस्पिटलों में 14,016 बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व रखे गए हैं। इनमें से 3322 बेड इस्तेमाल में है। कई हॉस्पिटलों में 10,694 बेड रिक्त पड़े हुए हैं। इस बीच अच्छी जानकारी यह है कि राजधानी में कोरोना के गंभीर रूप से बीमार 710 मरीजों को प्लाज्मा थैरेपी का लाभ मिला है।

एलएनजेपी हॉस्पिटल में प्लाज्मा बैंक शुरू किया गया

आपको बता दें कि दिल्ली में देश का पहला प्लाज्मा बैंक शुरू हुआ था। यह 2 जुलाई को आईएलबीएस हॉस्पिटल में शुरू किया गया था। इसका मुख्य उद्देश्य कोरोना वायरस के गंभीर रोगियों को नि:शुल्क हाई क्वालिटी का प्लाज्मा प्रदान करना था। इस शुरुआत के बाद दिल्ली के एलएनजेपी हॉस्पिटल में प्लाज्मा बैंक शुरू किया गया।

Check Also

कोरोना को हराने की ओर बढ़ा हरियाणा, बहुत सुकून देगा ये ताजा आंकड़ा

हरियाणा में कोरोना को मात देने वाले मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा ...