Friday , April 23 2021
Breaking News
Home / ऑफबीट / दिल्ली से मेरठ अब 45 मिनट में: जो सपना पीएम मोदी ने देखा था, उसे नितिन गडकरी ने पूरा कर दिया है

दिल्ली से मेरठ अब 45 मिनट में: जो सपना पीएम मोदी ने देखा था, उसे नितिन गडकरी ने पूरा कर दिया है

अब देश की राजधानी से मेरठ जाने में एक घंटा भी नहीं लगेगा। जो सपना पीएम मोदी ने कभी देखा था, उसे अब केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने साकार किया है। हाल ही में दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे का उद्घाटन किया गया। यूं तो ये उद्घाटन 31 मार्च को ही हो जाना चाहिए था, परंतु तकनीकी अड़चनों के कारण ये उद्घाटन 1 अप्रैल तक स्थगित करना पड़ा।

इस एक्सप्रेस वे से फायदा क्या होगा? दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे के खुलने से अब दिल्ली से मेरठ और गाजियाबाद जैसे शहरों की दूरी काफी हद तक घट जाएगी। पहले दिल्ली से मेरठ जाने के लिए National Expressway 3 का उपयोग करना पड़ता था, जिससे यात्रियों को करीब 2 घंटे से भी अधिक लगते थे। इसी भांति यदि किसी को दिल्ली से गाजियाबाद जाना होता था, तो भी National Expressway 3 का ही उपयोग करना पड़ता था, जिसके कारण दिल्ली से गाजियाबाद पहुँचने में लगभग डेढ़ घंटे लगते थे।

लेकिन दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे के खुलने से कई बातें अब आसान हो चुकी हैं। सर्वप्रथम तो अब दिल्ली से मेरठ पहुँचने में केवल 45 मिनट लगेंगे। वहीं अब दिल्ली से गाजियाबाद पहुँचने में डेढ़ घंटा नहीं, बल्कि मात्र आधा घंटा लगेगा, क्योंकि इस एक्सप्रेस वे के निर्माण से काफी सारी समस्याओं का हल निकला है, जिससे समय की बचत तो होनी ही होनी है।

इस एक्सप्रेस वे की कुल लंबाई 82 किलोमीटर से भी अधिक है, और इसकी कुल लागत 8346 करोड़ रुपये है। ये प्रोजेक्ट 2008 में प्रस्तावित किया गया था, लेकिन इसकी नींव 2015 में रखी गई थी। ये प्रोजेक्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रिय प्रोजेक्ट्स में से एक है, जिसे 2020 तक पूरा हो जाना चाहिए था, परंतु वुहान वायरस के कारण इस प्रोजेक्ट को पूरा होने में अप्रैल 2021 तक का समय लग गया।

ये प्रोजेक्ट चार चरणों में पूरा हुआ है:

– प्रथम चरण-निजामुद्दीन से यूपी गेट (डीएमई), अप्रैल 2019 में पूरा हुआ

-दूसरा चरण-यूपी गेट से डासना (डीएमई और एनएच-09), मार्च 2021 में पूरा हुआ

– तीसरा चरण-डासना से हापुड़ (एनएच-09), सितम्बर 2019 में पूरा हुआ

– चौथा चरण-डासना से मेरठ(डीएमई), मार्च 2021 में पूरा हुआ

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट कर कहा, “दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के रिकॉर्ड टाइम में पूरा होने में मेरठ के सांसद श्री @MP_Meerut जी ने अपनी ओर से हर संभव सहयोग किया है। मेरठ के लोग, सांसद, विधायक, व अन्य जनप्रतिनिधियों का हार्दिक अभिनंदन जिनके असंख्य सहयोग और प्रयासों से यह संभव हो पाया”।

लेकिन इस प्रोजेक्ट से एक और बात भी सिद्ध हो गई – इस समय यदि कोई मोदी सरकार में सर्वोच्च प्रदर्शन कर रहा है, तो वे निस्संदेह केन्द्रीय परिवहन एवं जहाज मंत्री नितिन गडकरी हैं। देश में मीलों दूर तक सड़कों से लोगों को जोड़ने में जुटे नितिन गडकरी ने न केवल वर्षों तक लंबित प्रोजेक्ट्स को हरी झंडी दिखाई, बल्कि देश को नई सड़कों और अन्य परियोजनाओं का उपहार भी दिया। जब गलवान घाटी पर चीन ने हमला किया, तो भारत के बहिष्कार अभियान में अग्रणी भूमिका निभाते हुए नितिन गडकरी के परिवहन मंत्रालय ने सड़क निर्माण से जुड़े सभी अहम परियोजनाओं में चीनी निवेश पर पूर्णतया प्रतिबंध लगा दिया।

loading...
loading...

Check Also

IIT के वैज्ञानिकों ने बताया, कोरोना की दूसरी लहर का पीक कब तक आएगा ?

नई दिल्ली भारत में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है। रेकॉर्ड संख्या में ...