Thursday , July 16 2020
Breaking News
Home / ख़बर / दुनिया में 1 करोड़ हुआ कोरोना, 15 दिनों में भारत का किया वो हाल, सब बोले- बेहद बुरा

दुनिया में 1 करोड़ हुआ कोरोना, 15 दिनों में भारत का किया वो हाल, सब बोले- बेहद बुरा

नई दिल्ली :  दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या एक करोड़ को पार कर गई है। दक्षिण एशिया इस महामारी का नया एपिसेंटर बनकर उभरा है और खासकर भारत में कोरोना के आंकड़े रोज नया रेकॉर्ड बना रहे हैं। दक्षिण एशिया की बात करें तो यहां भारत 3.1 फीसदी के केस फैटलिटी रेट के साथ पहले स्थान पर है। पिछले 15 दिनों में भारत में कोरोना से होने वाली मौतों को आंकड़ा अन्य देशों की तुलना में बहुत तेजी से बढ़ा है।

कोरोना संक्रमितों और इससे होने वाली मौतों के मामले में शीर्ष 20 देशों में भारत दूसरे स्थान पर है। पिछले 15 दिनों में देश में रोजाना होने वाली मौतों की वृद्धि दर 4.2 फीसदी और संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी की दर 3.6 फीसदी रही है। कोरोना से रोजाना होने वाली मौतों की वृद्धि दर केवल चिली (4.4 फीसदी) में ही भारत से अधिक है।इसी तरह संक्रमितों की संख्या में रोजाना बढ़ोतरी के मामले में दक्षिण अफ्रीका पहले स्थान पर है। वहां कोरोना संक्रमितों की संख्या में रोजाना 5.2 फीसदी की बढ़ोतरी हो रही है।

15 दिन में 85 फीसदी मौतें
दक्षिण एशिया की बात करें तो यहां भारत 3.1 फीसदी की केस फैटलिटी रेट के साथ पहले स्थान पर है। पिछले 15 दिनों में भारत में कोरोना से होने वाली मौतों को आंकड़ा अन्य देशों की तुलना में बहुत तेजी से बढ़ा है। कभी कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित रहे यूरोप में अब इस महामारी का प्रकोप कम हो रहा है। वहां 12 जून से रोजाना मामलों में बढ़ोतरी 1 फीसदी से कम है। इसमें स्वीडन अपवाद है जहां इस दौरान कोरोना के मामले रोजाना 2 फीसदी की दर से बढ़े हैं। इटली जैसे दैशों में तो अब इसकी रफ्तार 0.1 फीसदी ही रह गई है।

कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित अमेरिका में भी पिछले 15 दिनों में मृत्यु दर में रोजाना बढ़ोतरी 0.6 फीसदी रह गई है जबकि संक्रमण के नए मामले भी रोजाना 1.3 फीसदी बढ़ रहे हैं। भारत में 71 फीसदी मामले पिछले 15 दिनों में आए हैं। कोरोना से हुई कुल मौतों में 85 फीसदी मरीजों की मौत इसी दौरान हुई है।

अन्य देशों का जानिए हाल
पिछले 15 दिनों में कोरोना से होने वाली मौतों में रोजाना बढ़ोतरी की बात करें तो दक्षिण एशिया में भारत के बाद नेपाल, पाकिस्तान और अफगानिस्तान हैं। प्रतिशत के हिसाब से देखा जाए तो नेपाल में रोज सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। इसके बाद भारत, बांग्लादेश और पाकिस्तान हैं। कोरोना से प्रति दस लाख की आबादी पर मौत के हिसाब से देखें तो भारत दक्षिण एशिया में चार्ट के मध्य में है लेकिन भारत में केस फैटलिटी रेट (3.1 फीसदी) सबसे अधिक है। इस मामले में अफगानिस्तान (2.2 फीसदी) दूसरे और पाकिस्तान (2 फीसदी) तीसरे स्थान पर है।

श्रीलंका, म्यांमार और भूटान कोरोना से सबसे कम प्रभावित हुए हैं। मालदीव में कोरोना के 2000 से भी कम मामले हैं लेकिन वहां की कम जनसंख्या के हिसाब से प्रति दस लाख की आबादी पर वहां सबसे अधिक मामले हैं। इसी तरह वहां कोरोना से केवल 8 लोगों की मौत हुई है लेकिन प्रति 10 लाख की आबादी के हिसाब से यह 15 बैठती है। दक्षिण एशिया में प्रति 10 लाख की आबादी पर कोरोना से औसतन 12 लोगों की मौत हुई है।

Check Also

कोरोना: हॉस्पिटल ने मरीज़ का माफ किया ₹1.52 करोड़ का बिल, वजह भी जान लीजिये

कोरोना वायरस की वजह से बहुत से लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। सरकारी अस्पताल में ...