Monday , January 25 2021
Breaking News
Home / ख़बर / डरा रही हैं अलग-अलग राज्यों से आती ये खबरें, देश में अचानक क्यों मरने लगे परिंदे?

डरा रही हैं अलग-अलग राज्यों से आती ये खबरें, देश में अचानक क्यों मरने लगे परिंदे?

Birds Deaths Updates : देश के कई राज्यों से अचानक बड़ी संख्या में पक्षियों के मरने की खबरें आ रही हैं। हर साल सर्दियों के मौसम में पशु-पक्षियों की मुसीबत तो बढ़ ही जाती है, लेकिन उनकी लगातार हो रही मौतों से अलग तरह की चिंता पैदा हो रही है। यही कारण है कि संबंधित राज्य सरकारें अपने-अपने स्तर से उचित कदम उठा रही हैं और शासन-प्रशासन को अलर्ट कर दिया गया है। आइए जानते हैं किस राज्य में पक्षियों को लेकर किस तरह की चिंता सामने आ रही है…

पोंग डैम में पक्षियों की रहस्यमयी मौत

हिमाचल प्रदेश स्थित पोंग डैम इलाके में 1,400 से अधिक प्रवासी पक्षियों की रहस्यमयी मौत हो गई। एहतियातन कांगड़ा जिला प्रशासन ने बांध के जलाशय में सभी तरह की गतिविधियों में अगले आदेश तक रोक लगा दी है। मौत के कारण का पता लगाने के लिए भोपाल स्थित हाई सिक्यॉरिटी एनिमल डिजीज लैब में सैंपल भेजे जा चुके हैं।

दो मृत कौओं में मिला वायरस

वहीं, मध्य प्रदेश में इंदौर के एक निजी कॉलेज परिसर में मृत पाए गए 100 से ज्यादा कौओं में से 2 की जांच में ‘एच-5 एन-8’ वायरस पाए गए। इसके बाद राज्य के लोकस्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधीन कार्यरत पशु चिकित्सा विभाग और अन्य संबंधित विभाग सक्रिय हो गए हैं। इसी क्रम में एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) के अतिरिक्त संचालक डॉ. शैलेष साकल्ले ने शनिवार को इंदौर पहुंचकर मामले की समीक्षा की और आवश्यक निर्देश जारी किए हैं।

गुजरात के जूनागढ़ में पक्षियों की मौत

वहीं, गुजरात में भी 53 पक्षियों के मरने की खबर से राज्य का शासन-प्रशासन चौकन्ना हो गया है। वहां पक्षियों की मौत के पीछे बर्ड फ्लू की आशंका जताई जा रही है। प्रदेश के जूनागढ़ स्थित बांटला गांव में 2 जनवरी को 53 पक्षी मृत मिले थे।

राजस्थान में भी चिंताजनक स्थिति

उधर, राजस्थान के जयपुर समेत 7 जिलों में 24 घंटों में 135 और कौओं की मौत होने की सूचना मिली है। राज्य की अशोक गहलोत सरकार ने हालात की निगरानी के लिए कंट्रोल रूम स्थापित कर दिए हैं। साथ ही, चार संभागों में विशेषज्ञ दल भी भेजे गए हैं। सांभर झील में बड़े पैमाने पर पक्षियों की अचानक मृत्यु की घटना के बाद यह दूसरी सबसे बड़ी मुसीबत सामने आई है।

loading...
loading...

Check Also

छिपकली-चूहे हों या मच्छर-कॉकरोच, ये है सबको भगाने के आसान तरीके

मौसम बदलने के साथ ही इन सभी कीट, कीड़े मकोड़ों का आतंक सभी घरों में ...