Tuesday , March 9 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / नफरत फैलाने वालों पर नहीं की कार्रवाई, तो ट्विटर को सरकार ने दे दी आखिरी चेतावनी !

नफरत फैलाने वालों पर नहीं की कार्रवाई, तो ट्विटर को सरकार ने दे दी आखिरी चेतावनी !

सोशल नेटवर्किंग साइट ट्वीटर पर कई तरह के गंभीर आरोप लगते आएं हैं. कहा जाता है कि ट्वीटर दक्षिणपंथी विचार धारा वाले लोगों के खिलाफ हरकतें करता रहता हैं. उनके अकाउंटों से लेकर उनकी पोस्ट के खिलाफ लगातार एक्शन लेता रहता है. जबकि इसके उलट देशविरोधी और वामपंथी विचारधारा रखने वाले लोग जमकर समाज में गलत संदेश देने वाले कटेंट डालते रहते हैं मगर ट्वीटर उनपर कोई भी कार्रवाई नहीं करता. इसके अलावा ट्वीटर पर गलत तरीके से ब्लू टिक चेकमार्क बैज देने के आरोप लगते रहें हैं. इसके अलावा कई बार ट्वीटर देशविरोधी हरकतें करते हुए पकड़ा गया है. पिछले साल ही ट्वीटर ने लद्दाख की एक लोकेशन को चीन के हिस्‍से के रूप में दिखा दिया था.

जिसके बाद भारत सरकार ने ट्विटर से जवाब भी माँगा तो ट्विटर ने लिखित तौर पर माफी माँग ली. लेकिन अब फिर से ट्वीटर ने किसान आंदोलन के बीच ऐसी हरकत की है जिसे लेकर मोदी सरकार ने ट्वीटर को नोटिस थमाते हुए साफ कह दिया है या तो सुधर जाओ नहीं सुधार दिए जाओगे.

दरअसल किसान आंदोलन के बीच पीएम मोदी के खिलाफ विवादित हैशटैग के साथ ट्वीट करने पर सरकार ने ट्विटर को 250 अकाउंट सस्पेंड करने के निर्देश दिए थे लेकिन ये अकाउंट फिर से ऐक्टिव हो गए. अब सरकार ने ट्विटर को इस संबंध में नोटिस जारी किया और कहा है कि किसान नरसंहार से जुड़े ट्वीट करने वाले अकाउंट को बंद करने के उसके आदेश का पालन करे. अगर ऐसा नहीं हुआ तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सकती है.

सरकार के नोटिस में कहा गया है, ‘#Modi Planning Farmer Genocide हैशटैग का इस्तेमाल लोगों को उकसाने, नफरत फैलाने के लिए किया गया था और ये तथ्य के हिसाब से गलत भी था. ये समाज में तनाव पैदा करने के लिए चलाया गया अभियान था. नरसंहार के लिए उकसाना अभिव्यक्ति की आजादी नहीं है. ये कानून व्यवस्था के लिए खतरा है.’ नोटिस में आगे लिखा गया है, ‘दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दिन हिंसा हुई. सरकार की ओर से विवादित ट्वीट करने वाले अकाउंट्स को ब्लॉक किए जाने के आदेश देने के बावजूद ट्विटर ने अपनी मर्जी से इन अकाउंट्स को दोबारा ऐक्टिवेट कर दिया.’

नोटिस में ये भी साफ कहा गया है कि ट्विटर सरकार के निर्देशों को मानने के लिए बाध्य है. अगर वो ऐसा नहीं करता तो वो अपने खिलाफ कानूनी कार्रवाई को न्योता देगा.

बता दें कि पिछले हफ्ते इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने ट्विटर को लगभग 250 ट्वीट्स या ट्विटर अकाउंट्स को ब्लॉक करने का निर्देश दिया था. मंत्रालय का कहना था कि ये अकाउंट्स 30 जनवरी को #Modi Planning Farmer Genocide हैशटैग का इस्तेमाल कर रहे थे. इसके साथ ही ये फेक, डराने वाले और उत्तेजक ट्वीट्स भी कर रहे थे. लेकिन ट्विटर ने ऐसे अकाउंटों बहाल कर दिया. ट्वीटर की इस हरकत को देखते हुए अब सरकार ने उसे  नोटिस थमा दिया. और एक्शन के लिए आगाह भी कर दिया है.

loading...
loading...

Check Also

इस विभाग में निकली जूनियर इंजीनियर के पदों पर सीधी भर्ती, यहाँ पढ़े पूरी डिटेल

PPSC Recruitment 2021 Notification: पंजाब लोक सेवा आयोग ने जल संसाधन विभाग एवं जल संसाधन प्रबंधन ...