Sunday , November 29 2020
Breaking News
Home / क्राइम / नशेड़ी सुहैब दिया ‘तीन तलाक’ तो नुसरत ने की प्रेमी राहुल से शादी, अब वो नेहा बन गई

नशेड़ी सुहैब दिया ‘तीन तलाक’ तो नुसरत ने की प्रेमी राहुल से शादी, अब वो नेहा बन गई

उत्तर प्रदेश के बागपत से एक शादीशुदा महिला द्वारा धर्म परिवर्तन कर के दूसरी शादी रचाने का मामला सामने आया है। शादीशुदा महिला नुसरत ने नेहा बन कर अपने प्रेमी राहुल से शादी कर ली। उसके परिजनों ने उसके लापता होने का मामला दर्ज कराया था। राहुल शर्मा मेरठ का निवासी है। नुसरत (अब नेहा) ने एसडीएम कोर्ट में बताया कि वो राहुल के साथ जाना चाहती है, जिसके बाद पुलिस ने उसे पूरी सुरक्षा में राहुल के पास भेजा।

निवाड़ा गौरीपुर निवासी नुसरत के परिजनों का कहना है कि वो अक्टूबर 19, 2020 को जिला संयुक्त अस्पताल में दवा लेने गई थी लेकिन उसके बाद से ही नहीं लौटी। देर शाम तक उसके घर वापस नहीं आने के बाद परिवार वालों ने अगले दिन बागपत कोतवाली में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। रविवार (नवंबर 8, 2020) को नुसरत ने अपने अधिवक्ता विजय शर्मा के माध्यम से कोतवाली में प्रार्थना-पत्र दिया। उसने खुद की जान को परिजनों से खतरा बताया है।

उसने पुलिस को बताया है कि परिवार वालों ने जून 2, 2020 को निवाड़ा गौरीपुर के युवक सुहैब के साथ जबरदस्ती उसका निकाह करा दिया था। निकाह के बाद पता चला कि सुहैब एक नंबर का नशेड़ी है और उसका व्यवहार ठीक नहीं है। इसके बाद वो दवा लेने निकली और रोहटा थाना क्षेत्र अंतर्गत कल्याणपुर गाँव के रहने वाले अपने प्रेमी राहुल शर्मा के पास चली गई। उसने बताया कि अब वो राहुल के साथ ही रहना चाहती है।

दोनों ने गाजियाबाद स्थित आर्य समाज मंदिर में पूरे विधि-विधान के साथ शादी भी कर ली है। रविवार को ही एसआई सुरेंद्र सिंह द्वारा एसडीएम कोर्ट में नुसरत उर्फ नेहा के बयान दर्ज कराए गए। कोर्ट से नुसरत उर्फ़ नेहा को राहुल के पास जाने की अनुमति मिल गई। अधिवक्ता विजय शर्मा ने बताया कि मूल रूप से गाजियाबाद के ही लोनी की रहने वाली नुसरत ने धर्म-परिवर्तन भी करा लिया है और अब उसका नाम नेहा है।

हालाँकि, नुसरत (अब नेहा) के परिवार वालों ने तहसील पहुँच कर उसे मनाने की खूब कोशिशें की, लेकिन वो नहीं मानी। उसने बताया कि उसका प्रेम-विवाह हुआ है और वो राहुल के साथ ही रहेगी। दोनों ने कोर्ट में भी रजिस्टर्ड मैरिज कर लिया है। उसने बताया कि उसके पूर्व-पति सुहैल उसके साथ मारपीट करता था और एक बार तो उसे ‘तीन तलाक’ भी बोल दिया था। दिल्ली में एक कम्पनी में नौकरी के दौरान उसकी राहुल से मुलाकात हुई थी।

केंद्र सरकार द्वारा ‘तीन तलाक’ की मान्यता रद्द कर के मुस्लिम महिलाओं को न्याय देने के बावजूद इसके मामले सामने आते रहते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने तो ट्रिपल तलाक पीड़िताओं को 2020 की शुरुआत में ही नए साल पर बड़ी राहत देने का ऐलान करते हुए उन्हें सालाना 6000 रुपए पेंशन देने का फैसला लिया था। दस हजार महिलाओं को पहले तीन महीने में ही पेंशन की राशि दी गई थी। यूपी में केवल एक साल में ही 270 से ज्यादा तीन तलाक मामले दर्ज हुए थे।

loading...
loading...

Check Also

पक्की खबर : फरवरी में हो सकते हैं यूपी पंचायत चुनाव, औपचारिक ऐलान का इंतजार!

नोएडा. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव अगले साल फरवरी में हो सकते है। प्रशासनिक सूत्रों से इसके ...