Friday , November 27 2020
Breaking News
Home / क्राइम / नेपाल बॉर्डर पर गैंग समेत पकड़े गये भाजपा उपाध्यक्ष, ‘नोटबंदी’ वाली करेंसी लेकर जा रहे थे सरहद पार

नेपाल बॉर्डर पर गैंग समेत पकड़े गये भाजपा उपाध्यक्ष, ‘नोटबंदी’ वाली करेंसी लेकर जा रहे थे सरहद पार

भाजपा उत्तर जिला के उपाध्यक्ष शशि यादव को नेपाल बॉर्डर पर उत्तरप्रदेश के उधमसिंह नगर जिले की खटीमा थाना पुलिस ने बंद हो चुके 1 हजार रुपए के 22 नोटों के साथ गिरफ्तार किया है। इन नोटों को रद्दी कागज की 37 गडि्डयों पर ऊपर-नीचे लगाया हुआ था। शशि यादव चार व्यक्तियों के साथ दो कारों में सवार होकर नेपाल बॉर्डर जाने की फिराक में था। इसी दौरान इन्हें पकड़ा गया।

कार्रवाई 29 अक्टूबर को हुई। पुलिस के मुताबिक आरोपी आरबीआई में संपर्क बता 40 प्रतिशत में पुराने नोट बदलने का काम करते थे। इधर, मामला सामने आने के बाद भाजपा ने शशि यादव को जिला उपाध्यक्ष सहित सभी दायित्वों से हटा दिया है।

उधमसिंह नगर जिले के पुलिस उपाधीक्षक मनोज ठाकुर ने बताया कि पीलीभीत की ओर से दो कारों में कुछ संदिग्धों के नेपाल की ओर जाने की सूचना मिली थी। पुलिस ने चेकिंग के दौरान सत्रहमील पुलिस चौकी के समीप दो कारों को रोककर जांच की। इनमें पुराने भारतीय नोटों के 37 बंडल मिले।

इनमें 22 नोट पुरानी भारतीय करेंसी और शेष नोट के आकार वाले कागज के टुकडे थे। अवैध घोषित पुराने नोटों को कागज की कुछ गड्‌डी पर ऊपर व नीचे लगाया गया था। ताकि पूरी गड्‌डी एक हजार के नोटों की लगे। ये लोग नेपाल जाने की फिराक में थे।

गिरफ्तार आरोपियों ने अपने नाम अलवर के खुश्खेड़ा थाने के ततारपुर गांव निवासी शशि यादव, बरेली के शाहबाद मोहल्ला निवासी प्रफुल्ल प्रधान एवं बारामदी बरेली के पुराना शहर निवासी मुकेश कुमार, गाजियाबाद के बुध विहार-विजय नगर निवासी दीपक कुमार एवं हरियाणा के भुजावश निवासी कर्मवीर को बताया। सभी आरोपियों को अदालत में पेश किया गया। वहां से इन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

^मुझे इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। ना ही उत्तरप्रदेश पुलिस ने हमसे संपर्क किया है। अगर वह संपर्क करते हैं दिखवाते है।
-राममूर्ति जोशी, एसपी, भिवाड़ी

^भाजपा खुद ही कालेधन के खिलाफ होने की बात करती है। अब उनके पदाधिकारी ही इस काम में लिप्त हैं। इस मामले की सही-सही जांच होनी चाहिए। अगर शशि दोषी है तो उसे सजा मिलनी चाहिए।
-योगेश मिश्रा, कार्यकारी जिलाध्यक्ष, कांग्रेस

^शशिकुमार यादव को उनके खिलाफ प्राप्त शिकायत को ध्यान में रखते हुए भाजपा जिला उपाध्यक्ष के दायित्व से हटाया गया है। उन्हें सभी दायित्वों से अविलम्ब मुक्त किया जाता है।
-बलवान सिंह यादव, भाजपा जिलाध्यक्ष अलवर उत्तर

दिल्ली की पार्टी से किया था सौदा, उसकी तलाश जारी
पुलिस ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में पता लगा है कि आरोपी चलन से बाहर हो चुकी भारतीय मुद्रा को खपाने के लिए 40 प्रतिशत रकम में सौदा करते थे। इस धंधे का केंद्र नेपाल और उससे सटे उत्तराखंड के चंपावत और खटीमा थे। आरोपियों ने इन्हें खपाने के लिए दिल्ली की पार्टी से सौदा किया था। अभी उस दिल्ली की पार्टी का कोई पता नहीं लगा है। पुलिस यह भी पता लगाने में जुटी है कि चलन से बाहर हो चुके नोटों से ये लोग क्या करते थे।

भारत में नोटबंदी के 3 माह बाद तक नेपाल में चले थे नोट
केंद्र सरकार ने आठ नवंबर 2016 को भारतीय मुद्रा के 1000 और 500 रुपए के पुराने नोट बदलने की घोषणा की थी। इसके बावजूद नेपाल में यह नोट चलते रहे। नेपाल में मार्च 2017 में इन भारतीय नोटों को बंद किया गया। फिलहाल नेपाल में भारतीय मुद्रा के 100 रुपए से अधिक का कोई नोट नहीं चल रहा है।

राष्ट्रीय जनता दल से विधायक का चुनाव लड़ चुका
शशि यादव अलवर में कला महाविद्यालय से छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुका है। वह वर्ष 2003 में तिजारा विधानसभा से राष्ट्रीय जनता दल के टिकट पर चुनाव लड़ा था। वर्ष 2015 में उसकी पत्नी भाजपा के टिकट पर जिला पार्षद का चुनाव लड़ी। शशि फिलहाल भाजपा (उत्तर) का जिला उपाध्यक्ष है।

loading...
loading...

Check Also

सर्दी में राजस्थान का खून जमा दिया कोरोना, एक दिन में मौत का रिकॉर्ड बन गया

राजस्थान में कोरोना के आंकड़े 3 हजार की संख्या से कम होने का नाम नहीं ...