Saturday , February 27 2021
Breaking News
Home / अपराध / नेहा चौधरी हत्‍याकांड: गैंगरेप केस के आरोपी ने रची साजिश, इस वजह से सगी बहन का किया कत्‍ल

नेहा चौधरी हत्‍याकांड: गैंगरेप केस के आरोपी ने रची साजिश, इस वजह से सगी बहन का किया कत्‍ल

देश में आपराधिक मामलों की गिनती लगातार बढ़ती जा रही है. हर रोज़कोइ न कोई ऐसा मामला सामने आ जाता है जिसे देख देश की सुरक्षा व्यवस्था पर तो सवाल उठते ही हैं. लेकिन इसके साथ साथ इन्सानियत पर से भरोसा उठने लगता है. इस बीच एक ऐसा ही मामला सामने आया है. जिसके बारे में जानकर आपके भी होश फ़ाख़्त हो जायेंगे. बता दें गैंगरेप के एक आरोपी ने खुद को कानूनी शिकंहजे से बचाने के लिए अपनी ही सगी बहन का कत्‍ल कर उसे बली का बकरा बना दिया. इस मामले में खुद को बचाने के लिए उसने पीड़िता के परिवारवालों को फंसाने की साजिश रची थी लेकिन वो कहते है न जब बोये हो बबूल का पेड़ तो आम कहा से मिलेगा. तो ठीक उसी तरह मुजरिम अपने ही बने जाल में खुद उलझ गया. हालाँकि अब पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा कर दिया है.

अमरोहा की एसपी सुनीति ने घटना के सारे तथ्‍य मीडिया के सामने रखे तो उन्हें जा कर हर किसी के तोते उड़ गए. पुलिस ने बताया कि नेहा चौधरी की हत्या उसके सगे भाई अंकित चौधरी ने ही कर डाली. सिर्फ इसलिए ताकि वो गैंगरेप के एक मामले से खुद को बचा सके. पीड़िता के परिवार को झूठे मामले में फंसाने के लिए उसने अपनी बहन को शिकार बनाया. उसकी कोशिश थी कि एक बार पीड़िता का परिवार हत्‍या के मामले में फंस गया तो फिर समझौता बरी होना आसान हो जाएगा.

अब गौर करने वाली बात ये है कि बीते आठ फरवरी को अमरोहा देहात इलाके के बाईपास मार्ग पर मौजूद हिल्टन कान्वेंट स्कूल के पास खाली प्लॉट में बीते दिन एक अज्ञात युवती का शव मिला था. उसकी हत्‍या ईंट से पहूंचकर बड़ी बेरहमी से की गई थी. राहगीरों ने इसकी सुचना पुलिस को दी. जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुँच मृतका की पहचान अमरोहा के ही मोहल्ला पीर गढ़ की रहने वाली नेहा चौधरी के रूप में हुई. मृतका के चाचा की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया था.

तो वहीँ एफआईआर के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की. इसके बाद मृतका से सम्‍बन्धित लोगों के फोन काल की जांच की गई. फोरेंसिक टीम से लेकर सीडीआर टीम तक ने तेजी से जांच पड़ताल शुरू की. पुलिस को मृतक युवती नेहा चौधरी के मोबाइल की कॉल डिटेल्स से महत्‍वपूर्ण जानकारी मिली. इसके बाद सीसीटीवी फुटेज के आधार पर देहात थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने नेहा के भाई को गिरफ्तार कर लिया.

जिसके बाद मामले की जानकारी देते हुए एसपी अमरोहा ने बताया कि आरोपी अंकित चौधरी की सोच थी कि वह अपनी बहन की हत्‍या कर गैंगरेप केस से बरी हो जाएगा. उसके खिलाफ 29 जनवरी को थाना डिडौली क्षेत्र इलाके की दलित नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप के मामले में एफआईआर दर्ज हुई थी. वह फरार चल रहा था. खुद को बचाने के लिए उसने अपनी बहन की हत्या की साजिश रच डाली.

वारदात के बारे में खुलासा करते हुए बताया की नेहा नोएडा की एक प्राइवेट फर्म में जॉब करती थी. उसे बुलाने के लिए अंकित ने अमरोहा से किराये की गाड़ी ली थी. वह सात फरवरी की दोपहर नोएडा पहुंचा. वहां उसने नेहा से कहा कि उसके ऊपर जो रेप का आरोप लगा है उसमें समझौते के लिए उसको भी बुलाया गया है. वह अपनी बहन को लेकर अमरोहा बाईपास के पास गाड़ी से उतर गया. उसने बहन को गिरफ़्तारी का डर दिखाकर अपने साथ पैदल ही चलने को कहा. एक सुनसान इलाके में एक स्कुल के पास खाली पड़े प्लाट में उसने पहले तो अपनी बहन का गला दबाकर उसे मार डाला. फिर गिर जाने पर ईंट से कूचकर उसकी हत्‍या कर दी.

पुलिस ने अंकित की तलाश कर उसे गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद जब कड़ाई से उससे पूछताछ की गई तो उसने सारा राज उगल दिया. उसने बताया कि गैंगरेप का केस दर्ज होने के बाद वह परेशान था. वह इस मामले से किसी तरह छुटकारा पाना चाहता था. इसी वजह से उसने अपनी बहन की हत्‍या की साजिश रची और उसे मौत के घाट उतार दिया. उसका इरादा गैंगरेप के मुकदमे के वादी पक्ष के लोगों को फंसाकर अपने ऊपर लगे मुकदमे में समझौता करने का दबाव बनाने का था. एसपी ने मामले का खुलासा करने वाली टीम के लिए इनाम की घोषणा की है.

तो देखा आपने की केसा ज़माना आ गया जो बेहेन बचपन से अपने भाई की कलाई में राखी बांधती आई थी और उसके बदले में अपने भाई से सुरक्षा का वादा लिया था. उसका वही रक्षक भाई अपनी जान बचाने के लिए भक्षक बन गया और अपनी मासूम बहन को इतनी बेरहमी से मौत  के घात उतार दिया.

loading...
loading...

Check Also

मुकेश अंबानी विस्फोटक केस में मिला स्कॉर्पियो लाने वाले का सुराग, जानकारी जुटा रही क्राइम ब्रांच !

मुंबई उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के यहां स्थित घर के पास विस्फोटकों के साथ ...