Sunday , February 28 2021
Breaking News
Home / अपराध / पंजाब में किसान ने बेटे के साथ दी जान, सुसाइड नोट में कैप्टन और मोदी को बताया जिम्मेदार

पंजाब में किसान ने बेटे के साथ दी जान, सुसाइड नोट में कैप्टन और मोदी को बताया जिम्मेदार

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को 87 दिन हो गए हैं। इस बीच किसानों के आत्महत्या करने का सिलसिला रुक नहीं रहा। पंजाब के एक किसान परिवार में पिता-पुत्र ने शुक्रवार को सुसाइड कर लिया। शनिवार को सामने आया यह मामला होशियारपुर जिले के मुहद्दीपुर गांव का है। जो सुसाइड नोट मिला है, उसमें मोदी सरकार के साथ-साथ पंजाब की अमरिंदर सरकार को भी जिम्मेदार ठहराया गया है।

पिता-पुत्र ने आत्महत्या करने से पहले पंजाबी में सुसाइड नोट लिखा था।

मृतकों की पहचान नंबरदार जगतार सिंह और उनके बेटे कृपाल सिंह के रूप में हुई है। इनके परिजन की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और सुसाइड नोट बरामद किया। इसमें लिखा है, ‘मोदी सरकार किसानों के साथ धोखा कर रही है। कृषि कानूनों ने किसानों को बर्बाद कर दिया है। मोदी सरकार उनकी एक बात नहीं सुन रही। कैप्टन सरकार ने भी हमारा कर्ज माफ नहीं किया है। हम तंग आ गए हैं, अब जीना नहीं चाहते। इसलिए हम खुदकुशी कर रहे हैं।’

किसान आंदोलन में अब तक 200 से ज्यादा मौतें
किसान 26 नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं। इसके साथ ही अलग-अलग राज्यों में भी प्रदर्शन चल रहे हैं। किसान आंदोलन में शामिल हुए 200 से ज्यादा लोगों की अब तक अलग-अलग वजहों से मौत हो चुकी है। इनमें से कुछ ने आत्महत्या कर ली तो कई किसानों की मौत हार्ट अटैक, ठंड लगने और हादसों की वजह से हो गई।

loading...
loading...

Check Also

Corona Vaccination : 1 मार्च से किसको, कैसे और कितने में लगेगा कोरोना टीका, जानें हर सवाल का जवाब

नई दिल्ली कोरोना के खिलाफ देश में 1 मार्च से दूसरे चरण का टीकाकरण अभियान ...