Friday , April 23 2021
Breaking News
Home / ऑफबीट / पटना में बढ़ रहा कोरोना का खतरा बढ़ा: AIIMS में बेड फुल, NMCH और PMCH में भी बढ़ रहे केस

पटना में बढ़ रहा कोरोना का खतरा बढ़ा: AIIMS में बेड फुल, NMCH और PMCH में भी बढ़ रहे केस

पटना में कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है। हर दिन तेजी से नए मामले सामने आ रहे हैं। पटना AIIMS में जहां बेड फुल हो गए हैं, वहीं PMCH और NMCH में भी बेड बढ़ाने को लेकर तैयारी चल रही है। नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (NMCH) में बेड कई दिनों से खाली थे लेकिन अब मरीजाें की संख्या बढ़ने लगी है। पटना मेडिकल कॉलेज का भी यही हाल है। बढ़ते संक्रमण को लेकर कोविड हॉस्पिटल के साथ सरकारी अस्पतालों के बेड बढ़ाने की तैयारी की जा रही है। संक्रमण का ग्राफ बढ़ते देख प्राइवेट अस्पताल भी इलाज की तैयारी में हैं।

संक्रमण की रफ्तार को लेकर पटना में तैयारी

संक्रमण की रफ्तार ने प्रशासन को डरा दिया है। अब इससे निपटने के लिए पटना में बड़ी तैयारी चल रही है। पटना जिले के कोविड अस्पतालों में कुल बेडों की संख्या 745 है, जिनमें शनिवार की रात तक 132 संक्रमित भर्ती रहे। सरकारी अस्पतालों में कुल 417 बेड हैं जिनमें 110 संक्रमित भर्ती हैं। वहीं, निजी अस्पतालों में 328 बेड हैं जिनमें 22 संक्रमित भर्ती हैं। DM डॉ. चंद्रशेखर सिंह का कहना है कि पटना AIIMS में 89 बेड हैं और सभी फुल हैं। PMCH में 100 बेड में 36 सेवा में है, इसी में 18 वेंटीलेटर हैं। अस्पताल में रविवार को कुल 22 मरीज भर्ती थे।

PMCH में 100 बेड के लिए हो रहा काम

पटना मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड को 100 बेड करने की तैयारी चल रही है। मौजूदा समय में 30 बेड था और मरीजों की संख्या भी काफी कम थी। ऐसे में संसाधन के साथ व्यवस्था भी कम कर दी गई थी। संक्रमण का ग्राफ बढ़ते ही मरीजों की संख्या PMCH में बढ़ गई है। ऐसे में संस्थान फिर कोविड वार्ड को अपडेट करने में जुट गया है।

PMCH में अब बढ़े मरीज तो संकट

पटना मेडिकल कॉलेज में रविवार को 24 मरीज भर्ती थे। मरीजों की संख्या बढ़ती तो बेड कम पड़ जाते। ऐसे में युद्ध स्तर पर तैयारी शुरू कर दी गई है और सोमवार तक बेडों की संख्या बढ़ाकर 100 करने के लिए काम किया जा रहा है। कोविड वार्ड के नोडल अधिकारी डॉ. अरुण अजय का कहना है कि बेडों की संख्या बढ़ाने को लेकर तैयारी काफी तेजी से चल रही है। व्यवस्था ऐसी बनाई जा रही है कि सोमवार तक बेडों की संख्या 100 पहुंचा दी जाए।

नालंदा मेडिकल कॉलेज में भी बढ़े मरीज

NMCH में 22 मरीज भर्ती हैं और अभी 78 बेड खाली हैं। लेकिन जिस तरह से मरीजों की संख्या बढ़ रही है उससे आने वाले दिनों में बेड की कमी की समस्या आ सकती है। ऐसे में संस्थान में प्रशासनिक स्तर पर मंथन चल रहा है। वर्ष 2020 में NMCH को कोराेना का डेडिकेटेड अस्पताल घोषित कर दिया गया था और इससे लोगों को काफी राहत भी मिली थी। इस बार भी दूसरी लहर में संक्रमण का ग्राफ बढ़ा तो बेडों की संख्या के साथ वार्ड भी बढ़ाए जा सकते हैं। इसे लेकर संस्थान के कोविड वार्ड में तैयारी चल रही है। अधीक्षक डॉ. विनोद सिंह का कहना है कि अभी तो बेड की कोई कमी नहीं है लेकिन संक्रमण का ग्राफ बढ़ा तो बेडों की संख्या बढ़ा दी जाएगी।

होटल पाटलिपुत्र अशोक में 128 बेड की व्यवस्था

होटल पाटलिपुत्र अशोक में 128 बेड की व्यवस्था की गई है। यहां जांच के साथ मरीजों के इलाज की व्यवस्था की गई है। यहां बाहर से आने वाले मरीजों को क्वारंटाइन करने की व्यवस्था की गई है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि मरीजों की संख्या बढ़ी तो यहां व्यवस्था और बढ़ाई जा सकती है। इसके अलावा अन्य प्राइवेट सेंटर को अस्पताल बनाने की तैयारी है। मरीजों की संख्या बढ़ते ही यहां अस्थाई कोविड हॉस्पिटल बनाया जाएगा।

loading...
loading...

Check Also

IIT के वैज्ञानिकों ने बताया, कोरोना की दूसरी लहर का पीक कब तक आएगा ?

नई दिल्ली भारत में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है। रेकॉर्ड संख्या में ...