Tuesday , September 22 2020
Breaking News
Home / क्राइम / पुलिस ने कब्ज़ाई जमीन तो बोला फौजी- पान सिंह तोमर बनने को मत करो मजबूर, वायरल हुआ वीडियो

पुलिस ने कब्ज़ाई जमीन तो बोला फौजी- पान सिंह तोमर बनने को मत करो मजबूर, वायरल हुआ वीडियो

अलवर. भिवाड़ी पुलिस अधीक्षक ने शुक्रवार को ततारपुर थानाधिकारी अजीत सिंह बड़सरा को भू-माफियाओं को लाभ पहुंचाने के मामले में दोषी पाए जाने पर निलंबित कर दिया। निलंबन के दौरान उनका मुख्यालय भिवाड़ी पुलिस लाइन किया गया है।

जानकारी के अनुसार ततारपुर थानाधिकारी अजीत सिंह बड़सरा की कार्यशैली के संबंध में कुछ दिन पूर्व सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो वायरल हुआ। इस पर भिवाड़ी पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी ने मामले की वास्तविकता की पड़ताल के लिए किशनगढ़बास डीएसपी ताराचंद को जांच सौंपी। डीएसपी ने अपनी जांच में ततारपुर थानाधिकारी बड़सरा को दोषी मानते हुए पुलिस अधीक्षक को रिपोर्ट पेश की। इसके बाद पुलिस अधीक्षक जोशी ने शुक्रवार को ततारपुर थानाधिकारी अजीत सिंह बड़सरा को निलम्बित कर दिया।

उधर, भिवाड़ी पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी का कहना है कि जमीन के एक मामले में पीडि़त पक्ष की शिकायत पर कार्रवाई नहीं करने और आरोपियों को लाभ पहुंचाने के मामले में ततारपुर थानाधिकारी अजीत सिंह बड़सरा को निलंबित किया गया है।

यह था मामला

ततारपुर थाना क्षेत्र गांव टेहडक़ी में दो पक्षों ने आपसी सहमति से जमीनों का तबादला किया था। करीब 40 साल से दोनों पक्ष तबादले के अनुसार जमीन पर काबिज थे और काश्त कर रहे थे। एक पक्ष की जमीन हाइवे के पास स्थित होने व जमीन की कीमत ज्यादा हो गई। इस कारण दूसरे पक्ष ने लालचवश कीमती जमीन का कुछ हिस्सा भू-माफियाओं को बेच दिया। जिस पर खड़ी फसल को भू-माफियाओं ने थानाधिकारी से मिलीभगत करके नष्ट कर दिया और जमीन पर कब्जा करने का प्रयास किया गया।

इस संबंध में एक पक्ष ने ततारपुर थानाधिकारी बड़सरा को लिखित रिपोर्ट दी, लेकिन इसके बावजूद थानाधिकारी ने रिपोर्ट पर कोई कार्रवाई नहीं की। थानाधिकारी बड़सरा के कोरोना पॉजिटिव होने पर 16 से 28 जुलाई तक क्वॉरंटीन रहे। इस अवधि में विजय चंदेल उप निरीक्षक कार्यवाहक थाना प्रभारी रहे। इस दौरान कार्यवाहक थाना प्रभारी ने यथास्थिति बनाए रखने व न्यायालय के आदेश की पालना करवाई।

बड़सरा के पुन: कार्यभार संभालने पर लेखराज गुर्जर की ओर से इस जमीन पर कब्जा पुख्ता करने के लिए ट्रैक्टर ट्रॉली से ईंट-पत्थर डलवा दिए। जिसकी सूचना थानाधिकारी को दी गई, लेकिन इस बाद भी थानाधिकारी बड़सरा न तो मौके पर गए और न ही आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई की। बड़सरा ने आपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों से मिलकर कार्य किया। जांच में डीएसपी किशनगढ़बास ने प्रथम दृष्टया गंभीर आरोप सामने आने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए पुलिस अधीक्षक को रिपोर्ट पेश की।

युवक ने कहा- पान सिंह तोमर बनने के लिए मजबूर मत करो

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें टेहडक़ी निवासी युवक सतपाल सिंह बता रहा है कि वह और उसके भाई सेना में तैनात हैं। उनके घर पर नहीं होने का पुलिस फायदा उठाकर बुजुर्गों को परेशान कर रही है। 30 मिनट के वीडियो में सतपाल सिंह पुलिस व भूमाफियाओं के मिलीभगत की कार्यशैली बता रहा है।

युवक कह रहा है कि पुलिस ही विकास दुबे जैसे लोगों को पनपा रही हैं। मैं सैनिक हूं, हिम्मत हारने वाला नहीं हूं। मुझे पान सिंह तोमर बनने के लिए मजबूर किया जा रहा है। लेकिन मैं कानून हाथ में नहीं लेना चाहता। अगर राजस्थान सरकार आदेश पारित कर दे कि हम सैनिक परिवार की मदद नहीं कर सकते तो मैं खुद अपनी सुरक्षा कर लूंगा। सैनिक हूं, कायर नहीं हूं।

Check Also

ढूंढ-ढूंढकर ढेर कर रही है सेना, जान बचाने के लिए जमीन के नीचे दुबके आतंकी

कश्मीर घाटी में आतंक दम तोड़ रहा है. सेना ने आतंकवादियों की कमर तोड़ दी ...