Friday , November 27 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / प्रचार के आखिरी दिन ‘ब्रह्मास्त्र’ चलाए नीतीश कुमार, जानें क्यों की ‘राजनीति से संन्यास’ की बात ?

प्रचार के आखिरी दिन ‘ब्रह्मास्त्र’ चलाए नीतीश कुमार, जानें क्यों की ‘राजनीति से संन्यास’ की बात ?

पटना
बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए चुनाव प्रचार के अंतिम दिन अपने अंतिम सभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह कह कर चौंका दिया यह उनका आखिरी चुनाव है। आखिर इसके पीछे की वजह क्या है। क्योंकि कुछ दिन पहले ही नीतीश कुमार ने राजनीति के संन्यास लेने की सवाल पर कहा था कि जब तक जनता चाहेगी तब तक वो राजनीति में रहेंगे। तो क्या इसका अर्थ यह निकाला जाए कि नीतीश कुमार को यह आभास हो चुका है कि वह चुनाव हार रहे हैं। या, फिर सीमांचल के क्षेत्र में नीतीश कुमार ने इमोशनल कार्ड खेला है।

दरअसल पूर्णिया के धमदाहा में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एनडीए के पक्ष में वोट मांगते हुए यह कहा कि यह उनका अंतिम चुनाव है इसलिए अंत भला तो सब भला। उन्होंने जनता से अपील की कि वह NDA के पक्ष में मतदान करें और उन्हें फिर से काम करने का मौका दें। मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद बिहार के राजनीतिक गलियारों के साथ-साथ देश में भी नीतीश के संन्यास लेने की बात पर चर्चा शुरू हो चुकी है। नीतीश की इस भावुक अपील के बाद बिहार में पूछा जाने लगा कि क्‍या नीतीश को एक आखिरी मौका मिलेगा। इसके अलावा नीतीश की इस अपील को तीसरे चरण के लिए ब्रह्मास्‍त्र के तौर पर देखा जा रहा है।

नीतीश के ब्रह्मास्‍त्र का क्या है मतलब, क्या है आम लोगों में चर्चा
बिहार चुनाव में रैलियों-भाषण बाजी और जनसभाओं का दौर थम गया है। लेकिन चुनाव प्रचार के अंतिम दिन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जो संन्यास का ब्रह्मास्‍त्र छोड़ा है, उसका शोर अब पूरे देश में सुनाई देने लगा है। नीतीश कुमार ने कहा कि, यह मेरा आखिरी चुनाव है। नीतीश कुमार के इस बयान के बाद विपक्ष ने कई तरह की बातें बोलना भी शुरू कर दिया है। विपक्ष ने नीतीश कुमार के इस बयान को चुनाव में हार को देखते हुए घुटने टेकने वाला बताया है तो, आम लोगो में यह चर्चा है कि नीतीश के बाद जदयू की कमान कौन संभालेगा। आम लोगों के बीच चर्चा यह भी है कि नीतीश कुमार के बाद उनकी पार्टी जेडीयू का बीजेपी में विलय हो जाएगा। हालांकि सत्ता पक्ष की ओर से नीतीश के इस बयान पर यह कहा जा रहा है कि यह नीतीश कुमार ही हैं जो सार्वजनिक मंच से अपने रिटायरमेंट की बात कह सकते हैं।

क्या बिहार चुनाव के बाद नीतीश कुमार दिल्ली का करेंगे रुख
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने रिटायरमेंट की घोषणा करते हुए सत्ता के साथ-साथ विपक्षी दलों को भी चौंका दिया है। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या नीतीश कुमार को विधानसभा में हार का आभास हो चुका इसलिए उन्होंने अपने रिटायरमेंट की बात कही है। इसके अलावा चर्चा यह भी हो रही है कि अपने ऊपर लगातार हो रहे हमले से नीतीश कुमार बेहद दुखी हैं और अब वह बिहार की राजनीति नहीं करना चाहते। इसलिए वह विधानसभा चुनाव के बाद केंद्र सरकार में मंत्री का पद संभाल सकते हैं और उसके बाद नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री रहते ही वह उपराष्ट्रपति भी बन सकते हैं। राजनीतिक सूत्र यह भी बताते हैं कि अगर बिहार में एनडीए की सरकार बनती भी है तो नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद की शपथ जरूर लेंगे लेकिन, 6 महीने बाद वह खुद ही बीजेपी के हाथ सत्ता सौंपकर दिल्ली कूच कर जाएंगे। सूत्र ने यह भी बताया कि नीतीश कुमार के बाद बीजेपी की ओर से केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय बिहार के नए मुख्यमंत्री बन सकते हैं।

तीसरे चरण के चुनाव में एनडीए की साख दांव पर
7 नवंबर को होने वाले बिहार विधान सभा चुनाव का तीसरा चरण एनडीए के लिए काफी महत्वपूर्ण है। दरअसल तीसरे चरण की 78 सीटों में से 45 पर वर्तमान एनडीए का कब्जा है, जिनमें से जेडीयू के पास सबसे ज्यादा 25 सीटें हैं और बीजेपी के पास 20 सीटें हैं। वहीं, दूसरी ओर अभी के महागठबंधन में शामिल आरजेडी के पास 18 और कांग्रेस के पास 10 सीटें है। इसके अलावा 2015 में पांच सीटें अन्य को मिली थी। इस चरण में नीतीश की एनडीए सरकार के 12 मंत्रियों की साख भी दांव पर लगी है। यही वजह है कि बिहार चुनाव के आखिरी चरण के चुनाव में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले एनडीए की साख दांव पर लगी है। बता दें कि 2015 के चुनाव में नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव के महागठबंधन ने इस इलाके में जबरदस्त जीत हासिल की थी, लेकिन इस बार समीकरण बदल चुकें हैं। ऐसे में चुनौती एनडीए और महागठबंधन दोनों के लिए इसलिए भी है कि इसी इलाके में पप्पू यादव और असदुद्दीन ओवैसी ने भी अपने गठबंधन के उम्मीदवारों के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे है।

loading...
loading...

Check Also

स्तनपान कराती मां को चुभी कोई चीज, खोला बेटे का मुंह तो रह गई हैरान !

आयरलैंड में एक बच्चे के साथ ऐसा कुछ हुआ कि साइंस भी हैरान रह गई! ...