Sunday , January 24 2021
Breaking News
Home / क्राइम / बदायूं कांड : वारदात की रात सबके सामने खुलने वाला था ये राज, इसीलिए महंत ने किया महापाप!

बदायूं कांड : वारदात की रात सबके सामने खुलने वाला था ये राज, इसीलिए महंत ने किया महापाप!

बंदायूं में एक महिला से गैंगरेप और ह्त्या ने पुरे देश को हिला कर रख दिया. इस मामले में तमाम तरह की बातें सामने आई. पर इस ह्त्या के पीछे का राज अब खुल चुका है. इस ह्त्या का कारण है. पुजारी की काली करतूत और उसकी अय्याशी. जी हाँ पुजारी के काले करतूत को छिपाने की कीमत एक महिला की ज़िन्दगी थी. उसके काले सच को छुपाने के लिए एक महिला को अपनी जान गंवानी पड़ी. ये पुजारी औरतों का शौक़ीन था. कहा जा रहा है कि इसके संबंध कई महिलाओं से थे. और इस राज का खुलासा होता उससे पहले ही एक महिला की मौत हो गई.

दरअसल बंदायू गैंग रेप और ह्त्या के मामले में विपक्ष ने खूब हो हल्ला मचाया, इस मामले में तमाम तरह की बातें सामने आई कोई इसे हाथरस से जोड़ कर देखने लगा. कोई प्रशासन की कमियां गिनवाने बैठ गया, तो कोई महिलाओं के इज़्ज़त की रक्षा कौन करेगा के सवाल उठाने लगा. विपक्ष इस मामले में पूरी तरह से हमलावर था. अभी तक इस मामले में जो बातें सामने आई वो ये थी कि उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में के महिला मंदिर गई थी इस दौरान मंदिर पर मौजूद महंत सत्यनारायण, चेला वेदराम और ड्राइवर जसपाल ने गैंगरेप की जघन्य वारदात को अंजाम दिया. दरिंदों ने मृतका के प्राइवेट पार्ट में रॉड डाल दी, जिससे उसका आंतरिक हिस्सा तक फट गया. आंगनबाड़ी सहायिका के शरीर के अन्य हिस्सों में चोट के निशान मिले. पर अब जो बात सामने आई है वो बिलकुल हैरान करने वाली है.

इस मौत के पीछे थी पुजारी की काली करतूत और अय्याशी का सच, जो गांव वालों के सामने आ जाती तो महंत की इज़्ज़त चुटकी भर में मिटटी में मिल जाती. इस मामले में खुलासा हुआ है कि घटना की रात पुजारी की पहले से संपर्क में रही महिला से कहासुनी हुई थी. इसी कहासुनी और डर में आंगनबाड़ी सहायिका मौत के मुंह में चली गई. एक रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस अफसरों ने दावा किया है कि महिला के प्राइवेट पार्ट में कुएं में गिरने की वजह से चोट आई है. सभी पहलुओं की जांच की जा रही है. पुलिस ने जो बयान दिया है वो हैरान करने वाला है क्यूंकि पहले इस मामले में कहा जा रहा था कि महिला के प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली गई थी.

बता दें कि बदायूं के उघैती इलाके में आंगनबाड़ी सहायिका की हत्या और गैंगरेप के मामले में पुलिस ने आरोपी महंत सत्यनारायण को गिरफ्तार कर लिया था. आईजी रेंज राजेश पांडेय, एसपी बदायूं संकल्प शर्मा समेत कई पुलिस अधिकारियों ने अलग-अलग और एक साथ घंटों महंत से पूछताछ की. हालांकि अधिकारियों ने अभी इस मामले में पूरा खुलासा नहीं किया है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि आरोपी ने पूछताछ में बताया कि इन दिनों गांव की दो महिलाएं उसके संपर्क में थीं. और इस बात ने अब हड़कंप मचा दिया है.

घटना में जो बात सामने आई है वो ये है कि मृतक महिला उसके यहां इलाज कराने और दुआ मांगने आई थी. इसी दौरान महंत उसके सम्पर्क में आया और इसके बाद महिला धर्मस्थल में आने-जाने लगी, यह बात पहले से संपर्क में रही महिला को बिलकुल भी पसंद नहीं आई. कई बार इस बात को लेकर दोनों में कहासुनी हुई. घटना से 15 दिन पहले आंगनबाड़ी सहायिका को महंत के घर में देखा गया था. इससे पहले से सम्पर्क में रही महिला काफी नाराज हो गई. उसे महंत से झगड़ा किया और महंत को दोबारा महिला के साथ दिखाई देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी.

घटना की शाम को आंगनबाड़ी सहायिका महंत के पास आई थी. इसी दौरान बेटे के जरिये उसके पहले से संपर्क में रही महिला को सूचना मिली कि दोनों साथ हैं. तब महिला ने शाम 7:05 बजे महंत को फोन कर पूछा कि वह कहां है. महंत ने बहाना बनाया कि वह तंबाकू लेने आया है. पर उस महिला को पीछे से दूसरी महिला की आवाज फोन पर सुनाई दी. जिसे सुनने के बाद उसका गुस्सा सातवां आसमान पर पहुँच गया. वो बौखला उठी. आनन् फानन में उसने महंत को धमकी दी कि वह अभी उनके घर आकर उन्हें बेनकाब करेगी और उसकी असलियत समाज के सामने ले आएगी. इस बात से महंत और आंगनबाड़ी सहायिका दोनों घबरा गए. इसी घबराहट में महिला कुएं में गिरी और काल का ग्रास बन गई.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि धर्म स्थल से जुड़ी काफी जमीन है, जिसमें खेती-बाड़ी होती है. महंत ने बताया कि इस खेती बाड़ी की देखभाल के लिए महिला और उसके पति को रखा गया था. खेती और फसल को जानवरों से बचाने के लिए उसमें तार की बाड़ लगवा दी थी, जिसमें वह करंट छोड़ देते थे. महिला के पति की करंट से मौत हो गई. इसके कुछ दिन बाद महिला ने महंत को धमकाया कि उसे अपने साथ नहीं रखेंगे तो वह उन्हें जेल भिजवा देगी. हत्या और रेप के आरोप में फंसा देगी. इसके बाद महंत और महिला अक्सर साथ दिखने लगे थे.

जानकारी के लिए बता दें कि आंगनबाड़ी सहायिका और महंत तब एक दुसरे के सम्पर्क में आये थे जब आंगनबाड़ी सहायिका के पति बीमार थे. कुछ दिन बाद आंगनबाड़ी सहायिका की भी हालत बिगड़ने लगी. जिस कारण वो धर्म स्थल में झाड़-फूंक कराने के लिए आई थी. इसी दौरान महंत से उसका कांटेक्ट हुआ. आंवला में महंत के परिवार में शादी थी. महंत आंगनबाड़ी सहायिका को अपने साथ ले गए थे. वहां उनके अलग घर में रहने की व्यवस्था की गई थी. वहीं से महंत और महिला के संबंधों में नज़दीकियां बढ़ने लगी.

इस मामले पर सीएम योगी ने कहा था कि बदायूं की घटना अत्यंत निंदनीय है. अभियुक्तों के विरुद्ध कठोरतम कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इस घटना के दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा. इस नए खुलासे के बाद ये मामला अब और पेचीदा होते हुए नज़र आ रहा है. अब देखना होगा कि इस मामले में और कौन कौन से राज खुलकर सामने आते हैं.

loading...
loading...

Check Also

छिपकली-चूहे हों या मच्छर-कॉकरोच, ये है सबको भगाने के आसान तरीके

मौसम बदलने के साथ ही इन सभी कीट, कीड़े मकोड़ों का आतंक सभी घरों में ...